For Quick Alerts
    ALLOW NOTIFICATIONS  
    For Daily Alerts

    The Kashmir Files- विवेक अग्निहोत्री और अनुपम खेर ने IFFI जूरी हेड को बिना नाम लिए लगाई लताड़?

    |

    द कश्मीर फाइल्स एक बार फिर चर्चा में तब आई जब भारत के अंतर्राष्ट्रीय फिल्म समारोह (IFFI) में इस फिल्म की कड़ी आलोचना हुई और इसको सिर्फ एक अश्लील प्रोपेगेंडा बताया। जी हां, इस समारोह के प्रमुख जूरी नदाव लैपिड ने द कश्मीर फाइल्स को लेकर कई बातें कहीं और फिल्म को काफी बुरा भला कहा। हालांकि तब से फिल्ममेकर विवेक रंजन अग्निहोत्री ने चुप्पी साध रखी थी,

    लेकिन अब उन्होने बिना नाम लिए एक पोस्ट किया है जिसको IFFI और कश्मीर फाइल्स से जोड़कर देखा जा रहा है। उन्होने लिखा है, ''सच बहुत खतरनाक होता है, ये लोगों से झूठ बुलवा सकता है। #CreativeConsciousness.''

    'अश्लील प्रोपेगेंडा है द कश्मीर फाइल्स', IFFI जूरी के प्रमुख ने फिल्म पर उठाए सवाल!'अश्लील प्रोपेगेंडा है द कश्मीर फाइल्स', IFFI जूरी के प्रमुख ने फिल्म पर उठाए सवाल!

    उनके इस ट्वीट के सामने आते ही चर्चा तेज है और फैंस का कहना है कि बिना नाम लिए विवेक ने अपनी बात कह दी है। उनके अलावा इसपर अभिनेता अनुपम खेर का ट्वीट भी सामने आया है जो कि इस फिल्म के मुख्य अभिनेता के तौर पर नजर आए थे।

    अनुपम खेर ने लिखा

    अनुपम खेर ने लिखा

    अनुपम खेर ने लिखा, ''झूठ का क़द कितना भी ऊँचा क्यों ना हो.. सत्य के मुक़ाबले में हमेशा छोटा ही होता है..।'' इसके अलावा उन्होने एक ट्वीट को भी रिट्वीट किया है जिसमें लिखा है, ''कश्मीर फाइल्स की आलोचना के बाद नदाव लैपिड को एक खुला पत्र। यह हिब्रू में नहीं है क्योंकि मैं चाहता था कि हमारे भारतीय भाई-बहन इसे समझ सकें। इसलिए मैं लिखता हूं, तुम्हें शरम आनी चाहिए।''

    रिट्वीट किया था

    रिट्वीट किया था

    अनुपम खेर ने Naor Gilon के इस ट्वीट को रिट्वीट किया था जो कि चर्चा में है। हालांकि लोगों को इसपर अभिनेता मिथुन चक्रवर्ती के रिएक्शन का इंतजार हैं।

    द कश्मीर फाइल्स

    द कश्मीर फाइल्स

    द कश्मीर फाइल्स अपनी रिलीज के साथ ही विवादों में आ गई थी और अभी तक विवादों से इसका पीछा नहीं छूट रहा है।

    कश्मीरी पंडितों का कत्लेआम

    कश्मीरी पंडितों का कत्लेआम

    कश्मीर फाइल्स की बात करें तो इसमें कश्मीरी पंडितों के कत्लेआम को बताया गया है कि किस तरह से उनको रातों-रात अपने घरों को छोड़ना पड़ा था और घूनी जंग का सामना करना पड़ा था।

    एक पक्ष को ही दिखाने का आरोप

    एक पक्ष को ही दिखाने का आरोप

    लोगों ने इस फिल्म की आलोचना सिर्फ इसलिए की थी क्योंकि उनका मानना था कि फिल्म में एक पक्ष को ही दिखाया गया है जबकि दूसरा पक्ष पूरी तरह से नदारद था।

    English summary
    The Kashmir Files- Vivek Agnihotri and Anupam Kher bash IFFI jury head without naming him? Users also reacting on it.
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X