For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

संजय दत्त की छुट्टियों को लेकर जनता का बढ़ता आक्रोश!

|

संजय दत्त को जेल से 14 दिन की छुट्टी मिली और वो पुणे की येरुवदा जेल से वापस अपने घर मुंबई में आ गये। बताया गया कि संजय दत्त को कोई बीमारी है और बीमारी के चलते ही संजय दत्त को छुट्टी मिली है। जेल के अधिकारियों ने संजय दत्त को 14 दिन की छुट्टी दी ताकि वो अपना इलाज करा सकें। लेकिन 14 दिन बाद भी संजय दत्त की बीमारी में कुछ सुधार नहीं हुआ और उन्होंने 14 दिन की और छुट्टियां मांगी। संजय दत्त की इस मांग को भी जेल के अधिकारियों ने स्वीकार कर लिया और उन्हें 14 दिन की और छुट्टी दे दी। लेकिन संजय दत्त की इन छुट्टियों को लेकर आम जनता में काफी आक्रोश बढता जा रहा है। क्योंकि इससे पहले कभी भी किसी मुजरिम को इस तरह से जेल से छुट्टियां मिलते नहीं सुना और ना ही इस तरह छुट्टियां बढाते देखा।

आम जनता ने सोशल नेटवर्किंग साइट्स पर और संजय दत्त की खबरों पर कमेंट करके अपना गुस्सा और नाराजगी जाहिर की है। वनइंडिया के पाठक वासुदेव राजू ने कहा है बहुत दुख होता है ये देखकर कि किस तरह से पावरफुल लोग अपने लिए कड़े से कड़े कानून के बीच में भी रास्ता निकाल लेते हैं। साथ ही हमारा कानून इन लोगों के सामने कितना कमजोर और झुका हुआ प्रतीत होता है। दिनेश सिंह ने लिखा है क्या पैरोल की सुविधा सभी को मिलती है। ये कानून की नजरों में सभी के बराबर होने की बात का सबूत है। आखिर जेल का प्रशासन संजय दत्त के प्रति इतना दयावान क्यों है। अगर इस तरह की सुविधाएं उपस्थित हैं तो इनका फायदा आम जेल के कैदियों को क्यों नहीं मिलता। और उनकी छुट्टियां भी क्या इतनी आसानी से इस तरह बढ़ाई जा सकती हैं।

कुल मिलाकर संजय दत्त की छुट्टियों को लेकर लोगों के अंदर एक आक्रोश उत्पन्न हो रहा है। जनता को लग रहा है कि संजय दत्त पैसों के बल पर ये सबकुछ कर रहे हैं। पहले तो उन्हें जेल में भी इतनी सारी सुविधाएं मिलरही हैं उसपर उन्हें इस तरह से जेल से छुट्टियां भी मिल रही हैं। ऐसे में सभी के अदंर एक ही सवाल है कि क्या ये सारी सुविधाएं आम कैदिों को भी मिलती हैं। अगर ये सब सुविधाएं मौजूद हैं तो अभी तक क्यों नजर नहीं आईं।

English summary
Sanjay Duts gets parole for 14 days more. According to the news Sanjay Dutt is suffering from some disease and that why on medical ground he is getting leaves. But public is getting furious on this and says if these facilities are available then why normal prisoners can not avail this.
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Filmibeat sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Filmibeat website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more