»   » "भीख मांगूं या डाका डालूं...इस साल अपनी फिल्म ज़रूर बनाउंगा...PROMISE!"

"भीख मांगूं या डाका डालूं...इस साल अपनी फिल्म ज़रूर बनाउंगा...PROMISE!"

Written By:
Subscribe to Filmibeat Hindi

किसी भी अच्छी कहानी के लिए प्रोड्यूसर मिलना कितना मुश्किल है, इसे रजत कपूर ने साफ साफ बताया है। उनकी आखिरी फिल्म आंखो देखी को क्रिटिक्स ने काफी पसंद किया। फिल्म को नेशनल अवार्ड भी मिला। लेकिन इसके बाद फिर सब टांय टांय फिस्स।

रजत कपूर ने बताया कि आंखो देखी के बाद से उनके पास तीन फिल्मों की स्क्रिप्ट तैयार है लेकिन अभी तक किसी भी फिल्म के लिए प्रोड्यूसर नहीं मिला है। और ये काफी ज़्यादा दुर्भाग्यपूर्ण है।

rajat-kapoor-opens-up-on-his-next-film-and-struggles

लेकिन अब रजत कपूर ने तय कर लिया है कि साम दाम दंड भेद कैसे भी, अपनी अगली फिल्म इस साल बनाकर ही रहेंगे। इसके लिए चोरी करनी पड़े, भीख मांगनी पड़े या फिर डाका डालना पड़े, वो कुछ भी करने को तैयार हैं।
[#AlsoRead: "बिना मेहनत के लोग 400 करोड़ कमाते हैं...घटिया सी फिल्म 300 करोड़ कमा लेती है!"] 

गौरतलब है कि रजत कपूर की फिल्म आंखो देखी का भी यही हाल था। भले ही फिल्म को नेशनल अवार्ड मिला था लेकिन फिल्म को प्रोड्यूसर तब मिला जब रजत ने अपनी फिल्म का हाल साफ साफ ट्विटर पर लिखा था।

गौरतलब है कि बॉलीवुड में शानदार एक्टर्स की पूरी खेप है जो डायरेक्शन में अपना अगला कदम रख तो लेती है लेकिन प्रोड्यूसर ना मिलने पर उन्हें खुद ही फिल्म प्रोड्यूस करनी पड़ती है।
[#BoldBayaan: "अपनी औकात से ज़्यादा फीस लेते हैं खान हों या बच्चन!"] 

वहीं कुछ एक्टर्स ऐसे भी हैं, जिन्हें प्रोड्यूसर मिल जाते हैं पर उनका फिल्म डायरेक्शन माशाल्लाह होता है -

अजय देवगन

अजय देवगन

अजय देवगन ने अपनी डायरेक्शन की पारी की शुरूआत यू मी और हम से की और वो इसमें बुरी तरह फेल हुए। शिवाय उनका डायरेक्शन कमबैक था और वो एकबार फिर फेल हो चुके हैं। अब वो सन्स ऑफ सरदार के साथ फिर वापसी करना चाहते हैं।

पंकज कपूर

पंकज कपूर

शाहिद कपूर के पिता पंकज कपूर एक सधे हुए कलाकार हैं। इसलिए जब सबने सुना कि वो डायरेक्शन में उतर रहे हैं तो हर किसी को लगा कि क्या शानदार फिल्म मिलने वाली है। पर मिली थी तो मौसम!

पूजा भट्ट

पूजा भट्ट

पूजा भट्ट शानदार एक्ट्रेस हैं और महेश भट्ट की बेटी। बस इतना ही काफी था उन्हें डायरेक्टर बनने के लिए। पाप से उन्होंने बॉलीवुड में डेब्यू किया और फिल्म अपने समय के हिसाब से काफी अलग थी।

सनी देओल

सनी देओल

सनी पाजी की अपनी ही फैन फॉलोइंग है और उसी के दम पर उन्होंने घायल रिटर्न्स से डायरेक्शन में कदम रखा है। अब वो अपनी अगली फिल्म से अपने बेटे करण देओल को लॉन्च कर रहे हैं।

राकेश रोशन

राकेश रोशन

राकेश रोशन का एक्टिंग करियर भले ही शानदार ना रहा हो पर डायरेक्टर वो एक नंबर हैं। खून भरी मांग से शुरूआत करने के बाद उन्होंने कहो ना प्यार है से ऋतिक रोशन को लॉन्च किया।

ऋषि कपूर

ऋषि कपूर

ऋषि कपूर ने भी अपने पिता राज कपूर की तरह डायरेक्शन में कदम रखते हुए आ अब लौट चले नाम की फिल्म बनाई। फिल्म लोगों को केवल इसलिए याद है क्योंकि इसमें ऐश्वर्या राय और अक्षय खन्ना थे।

आमिर खान

आमिर खान

आमिर खान ने ये काम भी परफेक्शन के साथ ही किया है। तारे ज़मीन पर बॉलीवुड की बेस्ट फिल्मों में से एक है। हालांकि डायरेक्टर अमोल गुप्ते का कहना है कि फिल्म उन्होंने डायरेक्ट की थी पर उन्हें क्रेडिट नहीं दिया गया।

जुगल हंसराज

जुगल हंसराज

मोहब्बतें से अपना डेब्यू करने वाले जुगल हंसराज एक्टिंग में ज़्यादा कुछ नहीं कर पाए। फिर उन्होंने रोडसाइड रोमियो और प्यार इंपॉसिबल नाम की दो फिल्में बनाईं लेकिन दोनों का ही कुछ नहीं हुआ।

दिव्या खोसला कुमार

दिव्या खोसला कुमार

अक्षय कुमार की फिल्म अब तुम्हारे हवाले वतन साथियों से अपना करियर शुरू करने वाली दिव्या खोसला ने टी सीरीज़ के मालिक भूषण कुमार से शादी कर ली। इसके बाद उन्होंने दो फिल्में बनाई - यारियां और सनम रे।

नसीरूद्दीन शाह

नसीरूद्दीन शाह

नसीरूद्दीन शाह जितने शानदार एक्टर हैं उतनी ही अच्छी कोशिश उनकी फिल्म यूं होता तो क्या होता में दिखी थी। हालांकि फिल्म चली नहीं।

 
English summary
Rajat Kapoor opens up on his next film and struggles.
Please Wait while comments are loading...

रहें फिल्म इंडस्ट्री की हर खबर से अपडेट और पाएं मूवी रिव्यूज - Filmibeat Hindi