For Quick Alerts
    ALLOW NOTIFICATIONS  
    For Daily Alerts

    बच्चन-राज का झगड़ा.. गंगा में बह गया...और गंगा सबकी...

    |

    सुनकर अचरज हुआ ना.. लेकिन सच्चाई यही है कि आज पूरे पांच साल बाद अमिताभ बच्चन और मनसे प्रमुख राज ठाकरे का झगडा खत्म हो चुका है जिसे कि राज ठाकरे ने भरी सभा में लोगों के सामने स्वीकार भी किया है। महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना की चित्रपट सेना की 7वीं सालगिरह पर एक ही मंच पर बैठे अमिताभ बच्चन और राज ठाकरे ने सारी गलत बातों को विराम दे दिया।

    खुद राज ठाकरे ने कहा कि अमिताभ बच्चन पूरे देश के ब्रांड एंबेसडर हैं। जितना प्यार उनसे उत्तर भारत के करते हैं उतने ही महाराष्ट्र के लोग भी उन्हें चाहते हैं। अमित जी आए इसलिए मैं आभारी हूं। जो हुआ, सो हुआ। सब गंगा में बह गया और गंगा से हम भी प्यार करते हैं।

    राज ठाकरे के इस वक्तव्य के बाद तो सदी के महानायक अमिताभ बच्चन की बारी थी राज ठाकरे के कसीदे पढ़ने के, जो उन्होंने बखूबी निभाया भी। भाषा के धनी अमिताभ बच्चन ने कहा कि राज ठाकरे की तारीफ की, यहीं नहीं उन्होंने मंच से अपने भाषण की शुरूआत मराठी से ही की और कहा कि अभी वह मराठी सीख रहे हैं।

    गौरतलब है कि महाराष्ट्र नवनिर्माण चित्रपट सेना (एमएनसीएस) की सातवीं सालगिरह पर बच्चन को मुख्य अतिथि के तौर पर आमंत्रित किया था। गौरतलब है कि पांच साल पहले दोनों के बीच में झगड़ा तब हुआ था जब अमिताभ बच्चन यूपी के ब्रांड एम्बेस्डर बने थे और भोजपुरी फिल्मों में काम कर रहे थे। मनसे प्रमुख ने तब अमिताभ बच्चन की जमकर बुराई की थी।

    इस झगड़े में घी का काम किया था उस बात ने जब अमिताभ बच्चन की पत्नी जया बच्चन ने यह कहा कि वह उत्तर प्रदेश से हैं और महाराष्ट्र के लोगों को हिंदी में बोलने के लिए उन्हें माफ करना चाहिए। इसपर बच्चन ने अपनी पत्नी की तरफ से बिना शर्त माफी मांगी थी।

    English summary
    The Maharashtra Navnirman Sena (MNS) has bought peace with Amitabh Bachchan after slamming him for four years for being "anti-Marathi".
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X