»   » #Shock: अक्षय कुमार की इज़्जत बचाते बचाते...कौड़ी के भाव धुल गए!

#Shock: अक्षय कुमार की इज़्जत बचाते बचाते...कौड़ी के भाव धुल गए!

Written By:
Subscribe to Filmibeat Hindi

अक्षय कुमार को रूस्तम के लिए अवार्ड मिला है और इस मामले में उनकी काफी छीछालेदर हो चुकी है। खासतौर से इसलिए कि अवार्ड देने वाले लोगों के मुखिया थे प्रियदर्शन जिनके लिए अक्षय कुमार ने भूलभुलैया, गरम मसाला और हेरा फेरी जैसी फिल्में की हैं।

खैर, अक्षय ने हाल ही में एक बयान जारी किया कि ये अवार्ड उन्होंने पूरी इमानदारी से हासिल किया है। लेकिन प्रियदर्शन ने उनकी और छीछालेदर कर दी है। यूं कहिए कि अक्षय को उन्होंने कौड़ी के भाव बेच दिया है। 

priyadarshan-further-insults-akshay-kumar-s-national-award-win

हुआ यूं कि अक्षय को अवार्ड मिलते ही प्रियदर्शन के 36 साल के करियर पर सवाल उठाया गया कि रूस्तम जैसी फिल्म में उन्हें ऐसा क्या दिख गया।

बस इस बात पर प्रियदर्शन थोड़ा घबरा गए और घबरा कर उन्होंने कुछ और अजीबोगरीब बातें कह डाली -

  • पहली बात ये कि आमिर खान की दंगल अच्छी फिल्म थी लेकिन वो तो अवार्ड लेने आते ही नहीं है तो उन्हें अवार्ड कयों दिया जाए। इससे अच्छा उसे मिले जो कम से कम अवार्ड को सच में डिज़र्व करता हो।
    ["मेरी फिल्म भी अच्छी है पर मैं कोई अक्षय कुमार थोड़ी हूं!"]
     
  • इतनी फिल्में आईं लेकिन किसी में भी इतना दम नही था कि ऐश्वर्या राय की सरबजीत को  टक्कर दे पाए। अगर साउथ की एक्ट्रेस को ये अवार्ड नहीं मिलता तो ऐश्वर्या को ही मिलता।
     
  • अक्षय को ये अवार्ड रूस्तम और एयरलिफ्ट दोनों के लिए मिला है। लेकिन ऐसा आधिकारिक रूप से नहीं कहा जा सकता है इसलिए रूस्तम का नाम ले लिया गया।
    ["मुझे पता था कि इस साल का हर अवार्ड मेरी फिल्म को मिलेगा!"]
     
  •  इस बार कई फिल्में HomoSexuality पर बनी लेकिन किसी में कोई सामाजिक मुद्दा नहीं था। लेकिन रीजनल फिल्मों ने इतने अच्छे शानदार सामाजिक मुद्दे उठाए कि पूछिए ही मत।

 हालांकि अवार्ड को लेकर बॉलीवुड के सितारे क्या क्या कह चुके हैं , ये भी जान ही लीजिए -

तापसी पन्नू

तापसी पन्नू

तापसी का कहना है कि वो नहीं जानती कि वो क्या ऐसा करेंगी जिससे उन्हें कोई अवार्ड मिल पाए। तापसी का कहना है कि उन्हें नहीं पता कि आजकल अवार्ड शो में अवार्ड देने का मापदंड क्या होता है। किस पैमाने पर किसी को अवार्ड दिया जाता है उन्हें समझ नहीं आता। इसलिए उन्होंने अवार्ड की उम्मीद छोड़ दी है।

फराह खान

फराह खान

फराह का कहना है कि चलो अच्छा है हमारे अवार्ड शो में ऑस्कर जैसा कुछ नहीं होता है। हम तो उसी को अवार्ड दे देते हैं जो ऑडियंस में बचा रह जाता है। ऑस्कर में लोग खड़े होकर विजेताओं के लिए तालियां बजाते हैं। हमारे यहां लोग खड़े होते हैं पीछे खिसकने के लिए क्योंकि उनके आगे कुर्सियों की लाइन बढ़ती जाती है।

अरशद वारसी

अरशद वारसी

वहीं असली जॉली एलएलबी अरशद वारसी, जो इस फिल्म के लिए नेशनल पुरस्कार पा चुके हैं, उनका मानना था कि हमारे यहां अवार्ड किसे देना है, ये पहले ही तय हो जाता है, किस कैटेगरी में देना है ये बाद में तय होता है। इसलिए ऑस्कर जैसी गलती हम लोग नहीं कर सकते!

सुशांत सिंह राजपूत

सुशांत सिंह राजपूत

एक महीने पहले ट्रॉफी के साथ ये फोटो डालने वाले सुशांत ने कहा कि हम लोग बाकी लोगों से सदियों पीछे हैं। हम सिनेमा के नाम पर एवरेज चीज़ों को सम्मान देते हैं। उनका मतलब था अवार्ड से या जिन फिल्मों को अवार्ड मिला।

सीट से तय हो जाता है

सीट से तय हो जाता है

अक्षय कुमार ने कहा कि जब मेरी सीट की लिस्ट दी जाती है तो मैं देखता हूं कि मुझसे आगे जो इंसान बैठा है क्या वो नॉमिनेटेड है? अगर हां, तो अवार्ड उसका है। अब तो इनमें गेस करने जैसा भी कुछ नहीं रहा।

परफॉर्मेंस दो अवार्ड लो

परफॉर्मेंस दो अवार्ड लो

अक्षय कुमार ने एक बार और साफ कहा था कि कितने लोग उन्हें परफॉर्मेंस के लिए अप्रोच कर चुके हैं। जितने लोग अवार्ड शो में परफॉर्म कर रहे होते हैं उन्हें एक अवार्ड दे ही दिया जाता है।

अजय देवगन

अजय देवगन

अजय देवगन ने तो अवार्ड शो उसी ज़माने से बॉयकॉट कर दिए थे जब ज़ख्म और द लेजेंड ऑफ भगत सिंह के लिए उन्हें नेशनल अवार्ड मिला लेकिन किसी ने उन्हें पूछा तक नहीं।

आमिर खान

आमिर खान

आमिर खान ने भी अवार्ड शो बॉयकॉट कर दिए हैं। कारण थी उनकी फिल्म लगान को अवार्ड शो में जगह नहीं मिलना। और उनका कारण गलत भी नहीं था। आमिर तो अपनी प्रोड्यूस फिल्मों की क्लिप भी नहीं देते नॉमिनेशन के लिए।

अमिताभ बच्चन

अमिताभ बच्चन

अमिताभ बच्चन हर जगह मुस्कुरा कर अवार्ड लेते हैं और फिर बताते हैं कि लोगों को लगता है कि बॉलीवुड का कोई फैमिली शो चल रहा है जबकि हर स्टार 10 मिनट के लिए आता है, अपना अवार्ड लेता है और कैमरे को अपने 10 - 12 हंसते हुए शॉट्स देकर निकल जाता है।

रणवीर सिंह - सोनाक्षी सिन्हा

रणवीर सिंह - सोनाक्षी सिन्हा

रणवीर सिंह और सोनाक्षी सिन्हा ने यूं तो अवार्ड शो बॉयकॉट नहीं किए हैं पर उन्होंने अपनी फिल्म लुटेरा के लिए जमकर शिकायत की थी और साफ कहा था कि उनकी फिल्म के साथ नाइंसाफी की गई।

कंगना रनौत

कंगना रनौत

कंगना रनौत ने ज़्यादातर अवार्ड दीपिका पादुकोण से हारे थे जिसके बाद उन्होंने अवार्ड शो बॉयकॉट करने का मन बना लिया। उनका पॉइंट वाजिब था - क्वीन के आगे हैप्पी न्यू ईयर को अवार्ड देना!

प्रियंका चोपड़ा

प्रियंका चोपड़ा

प्रियंका चोपड़ा ने भी मैरी कॉम के लिए अवार्ड ना मिलने पर खुलकर नाराज़गी ज़ाहिर की थी। और ये अवार्ड गए थे हैप्पी न्यू ईयर के लिए दीपिका पादुकोण को।

आशुतोष गोवारिकर

आशुतोष गोवारिकर

आशुतोष गोवारिकर तो आईफा अवार्ड में इतने नाराज़ हो गए थे कि बेस्ट फिल्म जोधा अकबर की ट्रॉफी लेते वक्त उन्होंने माइक पर कहा कि प्रियंका मैं तुमसे बहुत प्यार करता हूं पर तुम्हें बेस्ट एक्ट्रेस कैसे मिल गया जब ऐश्वर्या राय जोधा अकबर के लिए नॉमिनेटेड थी, ये मैं नहीं समझ पाया!

सोनम कपूर

सोनम कपूर

सोनम कपूर को क्यों लगता है कि उन्हें एक्टिंग अवार्ड मिलना चाहिए ये तो अलग बात है लेकिन उन्होंने हाल ही में कहा था कि मेरे पास कोई अवार्ड नहीं है क्योंकि मेरे पापा उन्हें मेरे लिए खरीदने से मना कर देते हैं!

 
English summary
Priyadarshan further insults Akshay Kumar's National Award win.
Please Wait while comments are loading...