For Quick Alerts
    ALLOW NOTIFICATIONS  
    For Daily Alerts

    बेकार है अक्षय का 'पटियाला हाउस'

    By अंकुर शर्मा
    |
    Patiala House
    जी हां दोस्तो बॉलीवुड के खिलाड़ी अक्षय कुमार के लगता है कि दिन लौटने वाले नहीं है तभी तो पिछले साल उनका नाकामयाबी का सफर इस बार भी थमने का नाम नहीं ले रहा है। शुक्रवार तो प्रदर्शित उनकी फिल्म पटियाला हाउस भी लोगों को रोमांचित नहीं करती है। क्रिकेट का जूनून और जज्बातों की कहानी पटियाला हाउस में वो दर्द नहीं है जिसकी चुभन लोग महसूस करें।

    <strong>पढ़े : फिल्म समीक्षा : बेरंग-बेमजा है पटियाला हाउस</strong>पढ़े : फिल्म समीक्षा : बेरंग-बेमजा है पटियाला हाउस

    आपको इस फिल्म में अब तक की सभी हिन्दी फिल्मों के फ्लेवर दिखायी पड़ेगें। इसमें आपसी रिश्ते का ताना-बाना है तो खेल के प्रतिलोगों की दीवानगी भी है। लेकिन कहीं ना कहीं फिल्म लोगो को बांधने में असफल दिखायी पड़ती है जो कि एक निर्देशक की कमजोरी को उजागर करती है ना कि किसी एक्टर की। ऋषि कपूर ने जरूर कुछ दम-खम दिखाया है लेकिन आज वो जमाना नहीं है कि फिल्म उनके नाम पर चले।

    अक्षय कुमार को अब अपने रोल के बारे में समझना होगा और ये तय करना होगा कि उन्हें करना क्या है , वो एक बात तय कर लें कि वो कॉमेडी करेंगे या संजीदा रोल, क्योंकि वो उन में से नहीं है जिन पर हर रोल जंचे। अनुष्का के पास कुछ करने के लिए था ही नहीं इसलिए जो किया वो ठीक ही किया है। गाने ऐसे नहीं जिन्हे याद किया जाये। कुल मिला कर पटियाला हाउस निराश करती है।

    English summary
    Akshay Kumar 's Patiala House is weak film.
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X