For Quick Alerts
    ALLOW NOTIFICATIONS  
    For Daily Alerts

    पैरेंट्स खुद सेंसर बनें:आशा पारिख

    By Staff
    |

    सेंसर बोर्ड की पूर्व अध्यक्ष और बीते समय की प्रख्यात अभिनेत्री आशा पारिख कहती हैं कि अभिभावकों को भी सेंसर की तरह व्यवहार करना चाहिए। वह कहती हैं कि कोई सरकारी एजेंसी आपके लिए काम करेगी, यह सोचने की बजाए आपको खुद ऐसा करना चाहिए।

    गोवा में आयोजित 40वें भारतीय अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव (आईएफएफआई) में शामिल होने के लिए यहां पहुंची पारिख ने शनिवार को आईएएनएस से कहा, "एक सेंसर बोर्ड होना चाहिए। लेकिन अभिभावकों को घर पर भी सेंसर की भूमिका निभाना चाहिए। माता-पिता को खुद अपने बच्चों की उपस्थिति में 'ए' प्रमाणपत्र वाली फिल्म देखना छोड़ देना चाहिए ।"

    टेलीविजन धारावाहिक 'कोरा कागज' का निर्माण कर रहीं पारेख ने कुछ दिन पहले कहा था कि टेलीविजन उद्योग में सृजनात्मकता के अभाव के चलते अब उन्हे टेलीविजन कार्यक्रमों में अधिक दिलचस्पी नहीं है।

    उन्होंने कहा था, "आज, कई धारावाहिक हैं, लेकिन उनमें सृजनात्मकता कम है। मैं सहज महसूस नहीं करती हूं। निर्देशकों के लिए कोई जगह नहीं है।"

    इंडो-एशियन न्यूज सर्विस।

    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X