»   » क्लासिकल संगीत के स्तंभ पंडित रविशंकर- देखें तस्वीरें

क्लासिकल संगीत के स्तंभ पंडित रविशंकर- देखें तस्वीरें

Subscribe to Filmibeat Hindi

बॉलीवुड के जाने माने सितार वादक और संगीतज्ञ पंडित रविशंकर का आज 12 दिसंबर को अमेरिका के सैन डियेगो शहर के ला जोल्ला अस्पताल में निधन हो गया। रवि शंकर फाउंडेशन के अनुसार रविशंकर पिछले साल से दिल की बीमारी से पीड़ित थी और 6 दिसंबर को उनकी हार्ट सर्जरी हुई थी। उनके निधन से बॉलीवुड सेलिब्रिटी से लेकर पॉलिटिकल सेलिब्रिटीस तक काफी दुखी हैं। प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह तक ने रविशंकर के निधन को लेकर ट्विटर पर शोक जताया है। आइये जानते हैं रविशंकर जी के सफर से जुड़ी कुछ बातें।

7 अप्रैल 1920 को जन्मे पंडित रविशंकर का असली नाम रोबिंद्रो शोनकर चौधरी है इनका जन्म वाराणसी में हुआ था रविशंकर जी को उनके बेहतरीन सितार वादन और संगीत के चलते पंडित उपनाम से भी बुलाया जाता था। बचपन से ही रविशंकर जी ने यूरोप और भारत के विभिन्न शहरों में अपने भाई के उदय शंकर के डांस ग्रुप के साथ परफॉर्मेंस दी। रविशंकर ने भारतीय शास्त्रीय संगीत की शिक्षा उस्ताद अल्लाऊद्दीन खाँ से प्राप्त की। अपने भाई उदय शंकर के डांस ग्रुप के साथ भारत और भारत से बाहर समय गुजारने वाले रविशंकर ने 1938 से 1944 तक सितार का अध्ययन किया और फिर स्वतंत्र तौर से काम करने लगे। उन्होंने को बतौर कंपोसर काम करना शुरु किया उन्होंने ऑल इंडिया रेडियो, नई दिल्ली में 1949 से 1956 तक काम किया। बाद में उनका विवाह भी उस्ताद अल्लाऊद्दीन खाँ की बेटी अन्नपूर्णा से हुआ।

रविशंकर जी ने सत्यजीत रे की फिल्मों में भी बतौर कंपोसर काम किया। 1956 से उन्होंने यूरोप और यूनाइटेड स्टेट्स में भारतीय क्लासिकल संगीत को नये मकाम तक पहुंचाया। 1960 तक उन्होने अपनी शिक्षा और परफॉर्मेंस के जरिये और वायलिनिस्ट येहुदी मेनुहिन और रॉक आर्टिस्ट जॉर्ज हैरिसन के साथ जुड़कर क्लासिकर संगीत की पॉपुलैरिटी को काफी हद तक बढ़ा दिया। रविशंकर ने पार्लियामेंट ऑफ इंडिया के कई चैम्बरों में भी नॉमिनेट हुए। रविशंकर जी को 1999 में भारत रत्न की उपाधि से नवाजा गया। साथ ही ग्रैमी अवॉर्ड से भी उन्हें सम्मानित किया गया। 2000 में उन्होंने अपनी बेटी अनुष्का के साथ भी कई परफॉर्मेंस दीं।

रविशंकर जी को 1957 में संपन्न हुए बर्लिन इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल के दौरान सिल्वर बीयर एकस्ट्राऑर्डिनरी प्राइज से नवाजा गया। फिर 1967, 1968 में उन्हें पद्म भूषण की उपाधि से और 1999 में भारत रत्न की उपाधि से सम्मानित किया गया। साल 2010 में उन्हें ऑस्ट्रेलिया के यूनिवर्सिटी ऑफ मेलबर्न के द्वारा ऑनरी डॉक्टर्स ऑफ लॉ से भी सम्मानित किया गया।

पंडित रविशंकर की जिंदगी की झलक तस्वीरों में

क्लासिकल संगीत के स्तंभ पंडित रविशंकर

क्लासिकल संगीत के स्तंभ पंडित रविशंकर

पंडित रविशंकर ने मुंबई में 4 दिसंबर 2004 में सम्पन्न हुए 28 वें गुनीदास संगीत सम्मेलन में भाग लिया।

क्लासिकल संगीत के स्तंभ पंडित रविशंकर

क्लासिकल संगीत के स्तंभ पंडित रविशंकर

पंडित रविशंकर और लीजेंडरी वोकलिस्ट पंडित भीमसेन जोशी की तस्वीरें।

क्लासिकल संगीत के स्तंभ पंडित रविशंकर

क्लासिकल संगीत के स्तंभ पंडित रविशंकर

रविंशकर जी ने लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड्स के 23वें एडीशन का लांच किया।

क्लासिकल संगीत के स्तंभ पंडित रविशंकर

क्लासिकल संगीत के स्तंभ पंडित रविशंकर

पंडित रविशंकर, नयी दिल्ली में 5 दिसंबर 2009 को सम्पन्न हुई क्लासिकल इवनिंग में परफॉर्म करते हुए।

क्लासिकल संगीत के स्तंभ पंडित रविशंकर

क्लासिकल संगीत के स्तंभ पंडित रविशंकर

10 फरवरी 2002 में प्रधानमंत्री अटल बिहारी बाजपेई के साथ पंडित रविशंकर म्यूसिक एलबम संवेदना के रिलीज के दौरान।

क्लासिकल संगीत के स्तंभ पंडित रविशंकर

क्लासिकल संगीत के स्तंभ पंडित रविशंकर

स्पिक मैके के 33वें साल के सेलिब्रेशन के दौरान पंडित रविशंकर अपनी पत्नी सुकन्या राजन के साथ।

क्लासिकल संगीत के स्तंभ पंडित रविशंकर

क्लासिकल संगीत के स्तंभ पंडित रविशंकर

नयी दिल्ली में 3दिसंबर ,2009 को हुई एक प्रेस कॉफ्रेंस के दौरान पंडित रविशंकर अपनी बेटी अनुष्का के साथ।

क्लासिकल संगीत के स्तंभ पंडित रविशंकर

क्लासिकल संगीत के स्तंभ पंडित रविशंकर

आशा भोंसले को लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड के 23वें एडीशन के लांच के दौरान सम्मानित करते हुए पंडित रविशंकर।

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

    English summary
    Pandit Ravishankar, Sitar Maestro has been died on 11th December 2012 in San Diego US. He often referred to by the title Pandit. He has been known as the best Contemporary Indian musician. Prime Minister has condoled the death of Pandit Ravishankar.

    रहें फिल्म इंडस्ट्री की हर खबर से अपडेट और पाएं मूवी रिव्यूज - Filmibeat Hindi

    X
    We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Filmibeat sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Filmibeat website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more