»   » बेटियां ना कभी बोझ थीं और ना ही कभी रहेंगी: प्रियंका चोपड़ा

बेटियां ना कभी बोझ थीं और ना ही कभी रहेंगी: प्रियंका चोपड़ा

Posted By:
Subscribe to Filmibeat Hindi
भारत को अपने दम पर कई बार गौरवान्वित होने का मौका देने वाली अभिनेत्री प्रियंका चोपड़ा ने एक बार फिर से कहा है कि बेटियां कभी भी बोझ नहीं होती हैं और जो लोग ऐसा सोचते हैं वो गलत हैं, ऐसे लोगों की मानसिकता में बदलाव लाना बहुत जरूरी है। प्रियंका ने यह बातें टंपा बे में इंटरनेशनल इंडियन फिल्म एकेडमी (आइफा) वीकेंड एंड अवार्ड्स के गर्ल राइजिग प्रोजेक्ट सत्र में लड़कियों की शिक्षा के महत्व पर कहीं।

Video: 'एग्जॉटिक' के बाद बोली पीसी 'आई कांट मेक यू लव मी'

पूर्व विश्वसुंदरी पीसी ने कहा कि मैं भाग्यवश मैं ऐसे परिवार से आती हूं जहां लड़का-लड़की में भेद नहीं किया जाता। लेकिन बदलाव लाने के लिए लोगों की मानसिकता को बदला जरूरी है। बच्चियां भार नहीं होतीं, और मैं कहना चाहूंगी कि अगर आप एक लड़की को शिक्षित करते हैं तो एक परिवार को शिक्षित करते हैं। इसलिए जरूरत है कि लोगों की मानसिकता को चेंज करने का प्रयास किया जाये। इससे पहले गर्ल राइजिग प्रोजेक्ट सत्र में इस विषय पर आधारित एक लघु फिल्म प्रदर्शित की गई।

अभिनेत्री शबाना आजमी ने भी इस सत्र में हिस्सा लिया और महिला के खिलाफ होने वाली हिंसा के मुद्दे पर चर्चा की। उन्होंने कहा, "मैं विवादित मुद्दे महिलाओं के खिलाफ हिंसा को उठाना चाहूंगी। अगर एक लड़की की शादी होती है और अगर वह खुश नहीं है, उसे उसके मन को मना कर रिश्ते को सुधारने के लिए उसके परिवार के पास दोबारा चले जाने की सलाह दी जाती है। मैं कहना चाहती हूं कि महिलाओं के खिलाफ हिंसा को बर्दाश्त नहीं किया जाना चाहिए।" मालूम हो कि शबाना आजमी काफी समय से इस तरह के अभियान से जुड़ी हुई हैं।

English summary
Actress Priyanka Chopra feels that the mindset of people in India needs to change and they should no longer think of a girl as a burden.
Please Wait while comments are loading...

रहें फिल्म इंडस्ट्री की हर खबर से अपडेट और पाएं मूवी रिव्यूज - Filmibeat Hindi