For Quick Alerts
    ALLOW NOTIFICATIONS  
    For Daily Alerts

    मेरे प्यारे प्राइम मिनिस्टर ट्रेलर : अपनी मां के रेप के बाद पीएम को चिट्ठी लिखता है ये बच्चा

    |

    राकेश ओम प्रकाश मेहरा अपनी अगली फिल्म के साथ वापस आ चुके हैं। फिल्म का नाम है मेरे प्यारे प्राइम मिनिस्टर। इस फिल्म के ज़रिए, वो एक बार फिर वही मुद्दा उठाने जा रहे हैं जो कुछ साल पहले अक्षय कुमार ने टॉयलेट एक प्रेम कथा के साथ उठाया था। फिल्म कहानी है कनु और उसकी मां की।

    कनु, अपनी मां के रेप हो जाने के बाद प्रधानमंत्री को एक चिट्ठी लिखकर टॉयलेट बनवाने की मांग करता है क्योंकि उसकी मां के साथ ये हादसा, खुले में शौच जाने के दौरान होता है। इसी के साथ कनु, प्रधानमंत्री से ये सवाल भी पूछता है कि आपकी मां के साथ ऐसा होता तो आपको कैसा लगता है।

    ट्रेलर में नन्हा कनु और उसके दोस्त ही मुख्य भूमिका में दिखाई दे रहे हैं। कैसे वो मुंबई की बस्ती से निकलकर दिल्ली के 10 जनपथ पहुंचते हैं, ये ट्रेलर का हिस्सा है। उनकी चिट्ठी एक सरकारी अफसर कुबूल कर लेता है लेकिन क्या ये चिट्ठी फाईलों में दबकर रह जाती है या फिर प्रधानमंत्री तक पहुंच पाती है, ये जानने के लिए फिल्म देखनी पड़ेगी।

    फिल्म 15 मार्च को रिलीज़ हो रही है। देखिए फिल्म का ट्रेलर यहां। देखिए बेस्ट फिल्में जहां बच्चे थे मुख्य हीरो -

    आई एम कलाम

    आई एम कलाम

    निला मधाब पांडा की ये फिल्म एक गरीब बच्चे की कहानी थी जो बड़ा होकर राष्ट्रपति अब्दुल कलाम आज़ाद जैसा बनना चाहता है। फिल्म ने कुल 70 लाख की कमाई की थी। फिल्म की स्क्रीनिंग कान्स फिल्म फेस्टिवल में की गई थी।

    तारे ज़मीन पर

    तारे ज़मीन पर

    दर्शील सफारी की ये प्यारी सी फिल्म कोई नहीं भूल सकता। फिल्म एक बच्चे ईशान की कहानी थी जिसे लिखने पढ़ने में दिक्कत होती है, डाईस्लेक्सिया के कारण लेकिन माता पिता सोचते हैं कि वो शैतान और नालायक है, इसलिए नहीं पढ़ता।

    स्टैनली का डब्बा

    स्टैनली का डब्बा

    अमोल गुप्ते की ये फिल्म एक लड़के की कहानी थी जिसके माता पिता नहीं है और जो अपने चाचा के ढाबे पर काम करके गुज़ारा करता है। दिक्कत तब होती है जब स्कूल का एक भुक्कड़ टीचर उससे इसलिए चिढ़ जाता है कि बच्चे अपना डब्बा टीचर की बजाय स्टैनली से शेयर करते हैं।

    बम बम बोले

    बम बम बोले

    प्रियदर्शन की ये फिल्म चिल्ड्रेन ऑफ हेवेन का हिंदी रूपांतरण थी और बेहद प्यारी थी। फिल्म नहीं देखी है तो ज़रूर देखिएगा। इस फिल्म ने लगभग 1 करोड़ की कमाई की थी।

    चिल्लर पार्टी

    चिल्लर पार्टी

    फिल्म में मोहल्ले के कुछ बच्चे अपने एक गरीब दोस्त और उसके कुत्ते के हक के लिए लड़ते हैं और वहां के लोकल MLA की वाट लगा देते हैं।

    गट्टू

    गट्टू

    केडी सत्यम की ये फिल्म एक गरीब बच्चे की कहानी थी जिसे पतंग उड़ाने का बहुत शौक था। मुख्य भूमिका में थे मोहम्मद समाद और फिल्म ने लगभग 23 लाख की कमाई की थी।

    तहान

    तहान

    संतोष सीवान की ये फिल्म जम्मू कश्मीर में घट रही घटनाओं के बीच का एक ड्रामा था जहां एक बच्चे के पास एक हैंड ग्रेनेड है। फिल्म में मुख्य भूमिका निभाई थी पूरव भंडारे ने और फिल्म ने 25 लाख की कमाई की थी।

    धनक

    धनक

    भाई - बहन की एक प्यारी सी जोड़ी जो संघर्ष करती है। बहन अपने भाई की आंखे दिलवाना चाहती है और इसके लिए वो सारी कोशिशें करती हैं।

    द ब्लू अंब्रेला

    द ब्लू अंब्रेला

    रस्किन बॉन्ड की किताब पर बनी ये फिल्म शानदार थी। विशाल भारद्वाज ने इसे डायरेक्ट किया था और श्रेया शर्मा ने मुख्य रोल किया था। फिल्म ने लगभग 36 लाख की कमाई की थी।

    मकड़ी

    मकड़ी

    मकड़ी में श्वेता बासु प्रसाद ने मुख्य किरदार निभाया था। फिल्म दो जुड़वा बहनों की कहानी है जिनमें से एक गायब होती है तो दूसरी उसे ढूंढने के लिए कुछ भी कर जाती है।

    English summary
    Rakeysh Om Prakash Mehra is back with his next titled Mere Pyare Prime Minister. Based on social cause of lack of sanitation services in India, film releases on March 15 and has already struck a chord with the audience.
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X