For Quick Alerts
    ALLOW NOTIFICATIONS  
    For Daily Alerts

    इरशाद कामिल की कलम समझा पाएगी रणबीर को 'कवि की कल्पना'?

    |

    इरशाद कामिल शब्दों के जादूगर हैं। उनके बोल सीधा आपको कल्पना की दुनिया में गोते लगाने को मजबूर करते हैं। जब वी मेट, रॉक्स्टार, सोचा ना था, लव आज कल जैसी फिल्मों में गीतों को कलमबद्ध कर चुके इरशाद कामिल का रणबीर कपूर और इम्तियाज़ अली की सफलता में बहुत बड़ा हाथ है। इन गीतों ने इन फिल्मों को सुपरहिट बनाया और लोगों ने इन गानों को अपने दिल में बसा लिया।

    रणबीर कपूर और इम्तियाज़ अली दिल्ली में इरशाद की किताब को लॉन्च करेंगे। हाल ही में मुंबई में 'एक महीना नज्‍मों का' नाम के कविता संग्रह को लॉन्‍च किया। इरशाद कामिल फिल्म रांझणा, हैप्पी न्यू ईयर जैसी फिल्मों में भी अपने लफ्जों का जादू बि‍खेर चुके हैं। बुक लॉन्च के मौके पर एक्ट्रेस सोनम कपूर ने एक कविता भी पढ़ी।

    रणबीर कपूर और दीपिका पादुकोण की आने वाली फिल्म तमाशा में भी इरशाद कामिल के गीतों की धूम मचने वाली है। लेकिन इस फिल्म में कविताएं भी बहुत हैं जिन्हें इरशाद कामिल ने लिखा है। रणबीर को उम्मीद है कि वह इम्तियाज अली और इरशाद कामिल के साथ रहते हुये कविता की कला को समझने लगेंगे।
    PICS: रॉय में जैकलीन के वैलेंटाइन बने रणबीर

    रणबीर ने हाल ही में एक इंटरव्यू में कहा कि कविता पर अपनी समझ को बेहतर करने के लिए वह गीतकार इरशाद और संगीतकार ए.आर.रहमान के साथ स्टूडियो में समय बिता रहे हैं। हम हमेशा ही इस बात पर बहस करते हैं कि महत्वपूर्ण क्या है- गीत के बोल या धुन लेकिन मेरा मानना है कि बोल के बिना तो गीत की आत्मा ही नहीं रहेगी।

    English summary
    Irshaad kaamil who is tha man behind all the lovely songs of Imtiaz Ali films will play a key role in Tamasha with his poems of course!
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X