»   » दादासाहब फाल्के पुरस्कार पाने वाले देश के 45वें व्यक्ति गुलजार

दादासाहब फाल्के पुरस्कार पाने वाले देश के 45वें व्यक्ति गुलजार

Posted By:
Subscribe to Filmibeat Hindi
एक बड़ी खबर सिने जगत से है..प्रख्यात गीतकार, शायर और लेखक गुलजार को 2013 के दादासाहेब पुरस्कार लिए चुना गया है। सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय ने यहां शनिवार को यह घोषणा की। बहुआयामी व्यक्तित्व के धनी गुलजार का पूरा नाम संपूरन सिंह कालरा है। वह गीतकार, निर्देशक, पटकथा लेखक, निर्माता और कवि हैं। गुलजार दादा साहेब फाल्के पुरस्कार पाने वाले 45वें व्यक्ति हैं।

भारत सरकार द्वारा यह पुरस्कार भारतीय सिनेमा की प्रगति और विकास में योगदान के लिए दिया जाता है।

पाकिस्तान में जन्में गुलजार का पूरा नाम संपूरन सिंह कालरा है

आपको बता दें कि सम्‍पूरन सिंह कालरा उस शख्स का नाम है जिनका जन्‍म 18 अगस्‍त 1936 को दीना नाम की उस जगह में हुआ जो कि आजकल पाकिस्‍तान में है। कौन जानता था कि ये शख्‍स गुलज़ार नाम से सबके दिलों में अपना घर बना लेगा।

राखी के लिए गुलजार का ..दिल आज भी बच्चा ही है...

आज गुलज़ार साहब 77 साल के हैं लेकिन आज भी इनके ज़ुबान से दिल तो बच्चा है जी.... निकलता है। कभी ये बीड़ी से जिगर को जलाते हैं तो कभी ... इश्क को कमीना बताते हैं.. कभी कहते हैं कि इश्क तो जीना मुश्किल कर देता है। आखिर कौन हैं ये गुलज़ार इनके कितने रूप हैं। कभी ये शायर हैं तो कभी निर्देशक तो कभी बच्चों के साथ बच्चे बन कर तारों की बातें करते हैं तो कभी ज़िंदगी के फलसफे को समझाते हैं।

मालूम हो कि गुलज़ार ने अभी तक 20 से अधिक फिल्‍मफेयर,कई राष्‍ट्रीय पुरुस्‍कार के और अंतर्राष्ट्रीय ग्रैमी अवार्ड अपने नाम कर चुकें हैं। साहित्य में बेहतरीन योगदान के चलते उन्हें पद्मभूषण और साहित्‍य अकादमी पुरस्‍कार से नवाजा जा चुका है। सिने जगत की इस अनुपम हस्ती को वनइंडिया परिवार भी उनके इस नायाब कामयाबी पर ढेर सारी बधाई देता है।

English summary
Veteran poet and film lyricist Gulzar has been chosen for the coveted Dadasaheb Phalke Award for 2013, the ministry of information and broadcasting announced here Saturday.
Please Wait while comments are loading...