»   » 'सेकुलर बॉलीवुड' के 15 सांप्रदायिक प्रश्न

'सेकुलर बॉलीवुड' के 15 सांप्रदायिक प्रश्न

Posted By:
Subscribe to Filmibeat Hindi

चुनावी सरगर्मियों के बीच में जहां नेता-अभिनेता अपने वोटरों को रिझाने की कोशिश में हैं वहीं कुछ फिल्मी हस्तियों ने देश की जनता से अपील की है वो आंख खोलकर देश के लिए ऐसे नेताओं को चुनें जो देश के विभाजन में नहीं बल्कि देश के विकास में यकीन रखता हो। जो देश को धर्म के आधार पर ना बांटे बल्कि सारे धर्मों को जोड़कर और सम्मान के साथ आगे बढ़े।

लोकसभा चुनावों की आधी पोलिंग हो चुकी है तो आधी बाकी है, बावजूद इसके पार्टियों का लोगों से अपील करना जारी है कि वो देश को विभाजनकारी और सांप्रदायिक ताकतों से दूर रखे ताकी देश का विभाजन ना हो। बॉलीवुड के कुछ चर्चित लोग भी इस मुहीम में शामिल हैं जो बीजेपी के पीएम कैंडीडेट नरेन्द्र मोदी के खिलाफ खुल कर खड़े हैं और उन्हें हिंदूवादी सोच का मालिक, कट्टरपंथी बताते हुए मुस्लिमों के खिलाफ बता रहे हैं।

'मोदी इफेक्ट से भाजपा को मिलेगी 270-280 सीटें'

दुख होता है जब बॉलीवुड के लोग इस तरह की सोच का परिचय देते हैं। किसी एक व्यक्ति विशेष के खिलाफ खड़े होते हैं वो भी धर्म के आधार पर, जबकि बॉलीवुड ही एक अकेला भारत का मंच हैं जहां ना तो कोई हिंदू-मुस्लिम हैं और ना ही सिख-ईसाई। आजकल की नई पीढ़ी के लिए ही फिल्मी हीरो ही उनके आदर्श होते हैं, ऐसे में किसी हीरो-हिरोईन की ओर से आये सांप्रदायिक प्रश्न क्या लोगों के सामने 'सेकुलर बॉलीवुड' की तस्वीर पेश नहीं करते हैं।

ऐसे में कुछ सवाल बॉलीवुड के लिए उठते हैं जिनमें से 15 सांप्रदायिक प्रश्न हम बॉलीवुड से पूछते हैं और उसका जवाब उन्हें देना होगा? नीचे की स्लाइडों पर क्लिक कीजिये और उत्तर दीजिये।

सवाल नंबर 1

सवाल नंबर 1

मैं मोदी के लिए वोट करने जा रहा हूं अब आप बताइये कि क्या मैं धर्मनिरपेक्ष हूं या सांप्रदायिक?

सवाल नंबर 2

सवाल नंबर 2

अगर मैं मोदी वो वोट करता हूं या करती हूं क्योंकि उन्होंने एक विकसित राज्य का उदाहरण लोगों के सामने पेश किया है, मैं उन्हें उनकी पार्टी के लिए वोट नहीं करती हूं या करता हूं तो बताइये कि मेरा एक वोट कैसे देश के लिए खतरा साबित हो सकता है?

सवाल नंबर 3

सवाल नंबर 3

मोदी को देश के काफी लोग प्यार करते हैं, कुछ लोग तो उनकी पूजा करते हैं लेकिन कुछ लोग ऐसे भी है जो अपनी कट्टर सोच की वजह से मोदी को धर्म विशेष के खिलाफ खड़ा कर रहे हैं तो ऐसे में सवाल खड़ा होता है कि क्या बॉलीवुड के लोग अपनी कट्टर सोच का परिचय नहीं दे रहे हैं क्या वो किसी एक धर्म विशेष के लिए दूसरे धर्म के खिलाफ नहीं खड़े हो रहे हैं।

सवाल नंबर 4

सवाल नंबर 4

धर्मनिरपेक्ष धर्म में शासन में कोई भूमिका नहीं होनी चाहिए, अगर यह लोग जो आज अपील कर रहे हैं वो पिछले 10 सालों से क्यों चुप थे जब सत्तारूढ़ पार्टी लगातार मुसलमानों को धर्म कार्ड के लिए प्रयोग कर रही थी।

सवाल नंबर 5

सवाल नंबर 5

क्या भारत के लिए सबसे बड़ा मु्द्दा धर्मनिरपेक्षता' का ही है। आज देश गरीबी,आतंकवाद, माओवादी, महंगाई जैसे ना जाने कितनी परेशानियों से जूझ रहा है लेकिन कुछ लोग केवल धर्म को आगे रखकर नफरत की राजनीति खेल रहे हैं।

सवाल नंबर 6

सवाल नंबर 6

क्या हिंदू और मोदी को कट्टर सोच के बताने वाले लोग मु्स्लिम की कट्टर सोच का अनुपालन नहीं कर रहे हैं?

सवाल नंबर 7

सवाल नंबर 7

क्या मोदी ही को धर्म के तराजू में तौलना चाहिए क्या बसपा, सपा और क्षेत्रीय पार्टी धर्म के नाम पर अपना वोट बैंक नहीं भरती?

सवाल नंबर 8

सवाल नंबर 8

देश के कुछ नामचीन फिल्मी हस्तियों और पत्रकारों ने कहा कि वो मोदी को पर्सनली पसंद नहीं करते क्योंकि वो सेकुलर हैं ऐसे में किसी की पर्सनल सोच को जनता की अपील कहना कहां तक उचित है?

सवाल नंबर 9

सवाल नंबर 9

आज बॉलीवुड और सिने हस्तियां सेकुलर के नाम पर मोदी के खिलाफ खड़ी हो गयी हैं। जब आंतक, माओवादी जैसे दूसरे सामाजिक गंभीर मसले देश में उठते हैं तो क्यों यह लोग चुप रहते हैं?

सवाल नंबर 10

सवाल नंबर 10

आज बॉलीवुड और सिने हस्तियां मोदी को कट्टर सोच की उपाधि दे रही हैं लेकिन जब मुजफ्फरनगर दंगे हुए थे और अबु आजमी जैसे लोग दंगों और रेप जैसे शब्दों की विवेचना कर रहे थे तो यह लोग कहां थे?

सवाल नंबर 11

सवाल नंबर 11

क्या पटकथा लेखकों को हिंन्दुत्व के मुद्दों पर अपनी राय प्रकट करना उचित है?

सवाल नंबर 12

सवाल नंबर 12

आज बॉलीवुड हस्तियों को लोग क्रिकेटरों से ज्यादा प्यार करते हैं ऐसे में इन लोगों का किसी को अपनी निजी राय के आधार पर कट्टरवादी कहना उचित है?

सवाल नंबर 13

सवाल नंबर 13

भूखमरी, रेप, महंगाई, विकास जैसे मुद्दों पर बॉलीवुड क्यों अपील नहीं करता है?

सवाल नंबर 14

सवाल नंबर 14

मोदी के खिलाफ बोलकर क्या बॉलीवुड कांग्रेस का साथ नहीं दे रहा है। अगर अगर ऐसा है तो वो भी तो फिर किसी के पक्षधर हुआ तो ऐसे में आप किसी से निष्पक्ष की उम्मीद कैसे कर सकते हैं?

सवाल नंबर 15

सवाल नंबर 15

केवल सेकुलर हैं इसलिए मोदी को वोट ना दें क्या यह उचित है?

English summary
Bollywood is India’s most secular institution. Mr. Anjum Rajabali and his ilk, in their obsession with Modi-hate have betrayed the film industry.
Please Wait while comments are loading...