ठग्स ऑफ हिंदोस्तान Dialogues

    • ढाई दिन की दोपहरी, शाम है रात अमवास की शीशम के पर होक सवार, आएगी सहमत गुनहगारों की।
    • हिंदुस्तानी है, हमारा दुश्मन है, नाम है आजाद, आजाद को पकड़ने के लिए कोई आजाद जैसा ठग चाहिए।
    • साहब बहुत कमीने को अंग्रेजी में क्या कहते हैं?
    • आजादी है गुनाह, तो कुबूल है सजा, अब तो होगा वाही, जो है मंजूरे खुदा।
    • ट्रेलर के अंत में अमिताभ और आमिर के बीच लड़ाई का डायलॉग।
      धोखा स्वभाव है मेरा... (आमिर खान)
      और भरोसा मेरा.. (अमिताभ बच्चन )
     
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X