For Quick Alerts
    ALLOW NOTIFICATIONS  
    For Daily Alerts

    INTERVIEW: कभी अजय देवगन के सामने बने थे बैकग्राउंड डांसर, आज काजोल की फिल्म के बने हैं हीरो

    |

    Vishal Jethwa: टेलीविजन में सालों यादगार काम करने के बाद, अभिनेता विशाल जेठवा ने साल 2019 में 'मर्दानी 2' से फिल्मों में शानदार एंट्री ली थी। रानी मुखर्जी अभिनीत इस फिल्म में उन्होंने काफी प्रभावशाली किरदार निभाया था, जिसके लिए ना उन्हें सिर्फ तारीफें मिलीं, बल्कि कई अवार्ड भी बटोरे। इसके बाद विशाल को डिज्नी + हॉटस्टार की वेब सीरीज 'ह्यूमन' में देखा गया।

    विशाल जेठवा अब अपनी अगली फिल्म 'सलाम वेंकी' को लेकर उत्साहित हैं, जिसमें वो टाइटल भूमिका निभा रहे हैं। रेवती के निर्देशन में बनी इस फिल्म में काजोल और विशाल जेठवा मुख्य किरदारों में नजर आएंगे। ये इमोशनल ड्रामा श्रीकांत मूर्ति की किताब 'द लास्ट हुर्राह' पर आधारित है।

    सलाम वेंकी 9 दिसंबर को सिनेमाघरों में दस्तक देगी। फिल्म की रिलीज से पहले, विशाल जेठवा ने फिल्मीबीट के साथ बातचीत की है, जहां उन्होंने रानी मुखर्जी और काजोल के साथ स्क्रीन शेयर करने के अनुभव को साझा किया। साथ ही बताया कि कैसे उन्होंने बतौर बैकग्राउंड डांसर अपने करियर की शुरुआत की थी।

    INTERVIEW: रोहित शेट्टी से बोलिए मुझे गोलमाल दें, मैं कॉमेडी फिल्म करना चाहती हूं- काजोलINTERVIEW: रोहित शेट्टी से बोलिए मुझे गोलमाल दें, मैं कॉमेडी फिल्म करना चाहती हूं- काजोल

    यहां पढ़ें इंटरव्यू से कुछ प्रमुख अंश-

    Q. आप अपने बारे में कुछ बताएं? एंटरटेनमेंट इंडस्ट्री में आना कब और कैसे हुआ?

    Q. आप अपने बारे में कुछ बताएं? एंटरटेनमेंट इंडस्ट्री में आना कब और कैसे हुआ?

    A. मैं मुंबई में ही पला बढ़ा हूं। मेरे करियर की साल 2009 में हुई बतौर बैकग्राउंड डांसर, लेकिन मुझे धीरे धीरे समझ में आया कि डांसिंग मेरा काम नहीं है। लेकिन एक्टिंग शब्द से मैं बहुत प्रभावित होता था। फिर मैंने एक्टिंग क्लास ज्वॉइन कर लिया। धीरे धीरे मेरी हॉबी कब मेरे प्रोफेशन में बदल गई, मुझे पता ही नहीं चला। मेरा पहला बड़ा शो था, सोनी टीवी पर महाराणा प्रताप, जिसमें मैंने अकबर का रोल किया था। उसी के बाद लोग मुझे जानने लगे और आगे काम भी मिलता गया। शुरुआत में छोटे मोटे रोल मिले, कभी एक दिन की शूटिंग, कभी 3 दिन की। फिर मिली मर्दानी 2, जो मेरे करियर का टर्विंग प्वॉइंट थी।

    Q. बतौर बैकग्राउंड डांसर किस फिल्म या शो में दिखे थे?

    A. सारेगामापा लिटिल चैंप्स एक शो आता है ज़ी टीवी पर, उसमें 2009 में अजय देवगन, सलमान खान और असिन अपनी फिल्म लंदन ड्रीम्स का प्रमोशन करने आए थे। उस शो के फिनाले में जो सिंगर्स थे, उनके पीछे मैंने डांस किया था। और अभी कुछ दिनों पहले मैं सारेगामापा लिटिल चैंप्स में एक बार फिर गया था, लेकिन इस बार मैं अपनी फिल्म प्रमोट करने पहुंचा था। तो मेरे लिए ये जर्नी बहुत ही खास रही है।

    Q. सलाम वेंकी से जुड़ना कैसे हुआ?

    Q. सलाम वेंकी से जुड़ना कैसे हुआ?

    A. सलाम वेंकी के लिए मुझे कॉल आया था और सिर्फ इतना ही बताया गया कि इस फिल्म में काजोल हैं और रेवती इसे डायरेक्ट कर रही हैं। मैंने सोचा अब इससे ज्यादा जानना क्या है मुझे! खैर, मुझे ये जानना जरूरी था कि फिल्म में मेरा किरदार कैसा है क्योंकि मर्दानी 2 के बाद लोग मुझसे कुछ अच्छा करने की ही अपेक्षाएं रख रहे हैं। मर्दानी 2 के बाद ह्यूमन में भी मेरे काम को पसंद किया गया। जब लोग आपके काम को लगातार सराहने लगते हैं तो बतौर कलाकार आपकी जिम्मेदारी भी बढ़ जाती है। फिर जब मैं नरेशन के लिए गया, तो वहां राइटर समीर अरोड़ा सर ने मुझे पूरी फिल्म की स्क्रिप्ट सुनाई। खैर, आधी स्क्रिप्ट के बाद ही मैं समझ गया था कि मुझे ये फिल्म करनी है। मैं आगे चलकर बताना चाहूंगा लोगों को मैं भी सलाम वेंकी का हिस्सा था। मुझे फिल्म की कहानी बहुत दिलचस्प लगी है। रियल लाइफ में भी मैं अपनी मां बहुत जुड़ा हुआ हूं इसीलिए मुझे इस कहानी ने बहुत आकर्षित किया।

    Q. इससे पहले आपने रानी मुखर्जी से साथ काम किया था, अब आप काजोल के साथ स्क्रीन शेयर कर रहे हैं। क्या सीखने को मिला?

    A. हां, रानी मैम, काजोल मैम, शेफाली मैम और रेवती मैम, सबसे साथ मैंने काम किया और मुझे लगता है कि लेडी- लक है मेरे साथ हमेशा ही। ना सिर्फ ऑनस्क्रीन, बल्कि ऑफस्क्रीन भी मेरी जिंदगी में मैं अपनी मां और बहनल से बहुत कनेक्टेड हूं। मेरे पापा अब इस दुनिया में नहीं हैं। तो फीमेल सपोर्ट हमेशा ही मेरी लाइफ में बहुत ज्यादा रहा है और मुझे इस बात पर गर्व है। काजोल मैम के साथ काम करने के बारे में बोलूं तो बहुत ही शानदार अनुभव था। मुझे उनसे बहुत कुछ सीखने को मिला। काजोल मैम से तो अभी भी डर लगता है, लेकिन वो अपनी तरफ से हमेशा कोशिश करती हैं कि आपके सामने जो आर्टिस्ट हैं वो आपके साथ बिल्कुल कंफर्टबेल रहें। जब आप मां और बेटे का रोल अदा कर रहे हो फिल्म में, तो आपमें वो सहजता दिखनी चाहिए। इस फिल्म के एक सीन में काजोल मैम को मेरे पैर पकड़ कर एक्सरसाइज कराना था, मुझे तो बहुत अजीब लग रहा था उस सीन में। भले ही मैं जानता हूं कि मैं एक रोल कर रहा हूं, लेकिन कहीं ना कहीं हमारे दिमाग में ये तो है ही कि वो काजोल हैं। मेरी उतनी उम्र नहीं है, जितना उन्हें अभिनय का अनुभव है। 30 सालों से वो लगातार सफलतापूर्वक काम कर रही हैं।

    Q. काजोल से पहली मुलाकात कैसी रही थी?

    Q. काजोल से पहली मुलाकात कैसी रही थी?

    A. काजोल मैम से मेरी पहली मुलाकात सीधे सेट पर हुई थी। मैंने मैम के पूरे स्टॉफ को कहकर रखा था कि मेरा इंट्रो अच्छे से करवा देना प्लीज क्योंकि मुझे तो बहुत डर लग रहा है। आज मुझे भले 10-12 साल हो गए इस इंडस्ट्री में काम करते करते.. लेकिन अभी भी मुझे किसी बड़े एक्टर से मिलने में डर लगता है। मुझे समझ नहीं आता कि वो कैसी प्रतिक्रिया देंगे। मैंने काजोल मैम से भी कहा थी कि मुझे दो- तीन दिन लगेंगे आपके साथ कंफर्टेबल होने में, लेकिन बता दूं वो 2-3 दिन अभी तक चल रहे हैं। वैसे मैं कहना चाहूंगा कि रानी मैम हों या काजोल मैम, ये सभी इतने मंझे हुए कलाकार हैं कि एक्शन और कट होते ही वो तुरंत बदल जाते हैं। एक्शन बोलते ही वो ऑनस्क्रीन कलाकार बन जाते हैं और कट बोलते ही नॉर्मल लाइफ में आ जाते हैं। ये चीज मुझे भी सीखनी है।

    Q. फिल्म के अपने किरदार के बारे में कुछ शेयर करना चाहेंगे?

    A. इस किरदार का नाम है वेंकटेश और इसे एक बीमारी है जिसका नाम है DMD.. इस बीमारी में ऐसा होता है कि 16-17 साल से ज्यादा आपकी लाइफ नहीं होती है। लेकिन वेंकटेश के बहुत सारे ड्रीम्स थे। उसकी मां ने उसे जीना सिखाया था और उनको हमेशा ऐसा लगता था कि जब तक ये सपने देख रहा है तब तक ये मेरे साथ रहेगा। जब उसकी लाइफ में कोई उम्मीद नहीं बचेगी, तब ये जीना छोड़ देगा। वेंकटेश अपनी पॉजिटिव सोच और सपनों की वजह से 24 साल तक जीया।

    Q. किरदार की तैयारी के बारे में कुछ बताना चाहेंगे?

    Q. किरदार की तैयारी के बारे में कुछ बताना चाहेंगे?

    A. ये बीमारी बहुत rare है, हममें से किसी को भी इसके बारे में ज्यादा जानकारी थी, इसीलिए मैंने खुद को पूरी तरह से अपनी डायरेक्टर के हाथ में दे दिया था। उन्होंने इस पर बहुत रिचर्स किया है.. कि ये कैसे होती है, क्यों होती है, किसी उम्र में बॉडी पार्ट कितना काम करते हैं, आदि। मैं हर शॉट से पहले रेवती मैम के पास जाता था और उनसे पूछता कि इस सीन में कैसे परफॉर्म कर सकते हैं, इस मोमेंट पर कितना हाथ उठेगा, मेरे हाव भाव कैसे रहेंगे.. आदि। मैंने एक वीडियो भी देखा था, जिसमें एक DMD पेसेंट को इन्होंने रिकॉर्ड किया था कि उनके पूरे दिन की जर्नी कैसे होती है, जैसे.. वो कैसे उठते हैं, कैसे ब्रश करते हैं, उन्हें कितने लोगों का सपोर्ट चाहिए होता है, वो व्हीलचेयर पर कैसे बैठते हैं। रील लाइफ को उसे उतारने में हमारी कुछ सीमाएं थीं, लेकिन मेरी एक ही कोशिश रही है कि जो वो फील करते होंगे, बस उसे कुछ हद तक पकड़ पाऊं, वो दिखा पाऊं। मुझे सिर्फ बॉडी लैंग्वेज पर काम नहीं करना था, बल्कि वो कैसा महसूस करते होंगे वो भी जानना था। मुझे लगता है कि इसी वजह से काम थोड़ा अच्छा हो पाया है।

    Q. मृत्यु को अपनाना इतना मुश्किल होता है, इस किरदार से जुड़ना कितना मुश्किल रहा?

    A. मुझे पर्सनली ऐसा लगता है कि यदि आप अपनी रिएलिटी को यदि accept कर लेते हैं दिल से, तो आपको कॉफिडेंस मिलता है उससे। आपकी कमजोरी भी आपकी मजबूती बन जाती है। जैसे मेरी इंग्लिंश खराब है, मुझे पता है। मैं पहले बहुत डरता था, लेकिन मैंने इसे स्वीकार कर लिया है कि मेरी इंग्लिश टूटी- फूटी है। फिल्म की बात करें तो मृत्यु को अपनाना किसी के लिए भी बहुत ही मुश्किल है, इसीलिए तो ऐसे किरदार पर फिल्म बन रही है। वो एक अनसंग हीरो है क्योंकि वो हमें जीना सीखा के जाता है। वेंकटेश के लिए तो ये मुश्किल था ही, लेकिन मुझे लगता है उससे भी ज्यादा मुश्किल उसकी मां के लिए था। मैंने इस फिल्म से यही सीखा कि सच्चाई को स्वीकार करना आना चाहिए। साथ ही ये भी सीखा कि हमें हर पल को पूरी तरह से जीना चाहिए.. जो अभी आपके पास जिंदगी में हैं, उसकी वैल्यू करो, खुश रहो।

    Q.पहली फिल्म में निगेटिव रोल करने के बाद घर पर कैसा रिएक्शन रहा था?

    Q.पहली फिल्म में निगेटिव रोल करने के बाद घर पर कैसा रिएक्शन रहा था?

    A. पॉजिटिव- निगेटिव जैसी कोई बात नहीं है। हमारे घर पर सबसे खुशी की बात होती है कि भई काम मिला। च्वॉइस तो वो करते हैं जिनके पास बहुत ऑप्शन होते हैं। यहां तो जो आती है, यदि वो अच्छी लग जाती है तो मैं कर लेता हूं। लेकिन हां, अब धीरे धीरे ऐसा हो रहा है कि मुझे भी चुनने का मौका मिल रहा है क्योंकि लोगों को मेरा काम पसंद आ रहा है।

    Q. मानते हैं कि ये फिल्म आपकी इमेज तोड़ने वाला काम करेगी?

    A. मर्दानी के बाद लोगों को मेरे किरदार से बहुत नफरत हो गई थी। लेकिन सलाम वेंकी के बाद लोगों को मुझसे प्यार हो जाएगा। इसीलिए कहीं ना कहीं ये मेरे लिए इमेज तोड़ने का काम करेगी। इस फिल्म के राइटर ने मुझे बताया था कि जब इस किरदार के लिए आपका नाम सामने आया तो किसी को शक नहीं था कि आप ये नहीं कर पाएंगे। सभी तुरंत तैयार हो गए। मेरा मानना है कि मेकर्स समझते हैं कि कोई एक्टर सिर्फ एक्टर होता है.. 'निगेटिव कैरेक्टर वाला' एक्टर या 'पॉजिटिव कैरेक्टर वाला' एक्टर नहीं होता है।

    Q. सफलता के साथ खुद में कितना बदलाव पाते हैं?

    Q. सफलता के साथ खुद में कितना बदलाव पाते हैं?

    A. लोगों का मुझे देखने का नजरिया बदला है। मैं तो जैसा था, वैसा ही हूं। लेकिन हां, मेरा कॉफिडेंस बढ़ा है, मुझे बोलना आ गया है, थोड़े पैसे भी आ गए हैं।

    Q. आगे किस तरह का किरदार निभाना चाहते हैं। मेनस्ट्रीम हीरो बनने की ख्वाहिश है?

    A. इस फिल्म में भी मैं लीड रोल ही हूं। पोस्टर में भी मैं दिख रहा हूं। हां, वैसा मेनस्ट्रीम हीरो नहीं हूं जो 6 पैक एब्स के साथ दिखते हैं। बतौर एक्टर वो भी करना चाहता हूं। मैं चाहता हूं कि हर तरह के रोल करने का मुझे मौका मिले, एक्सपेरिमेंट करने का मौका मिले। लेकिन फिलहाल मैं कुछ ऐसी सोच नहीं रखता हूं कि मुझे हीरो बनना है। मैं ऑलरेडी अपने लाइफ में, अपनी नजर में हीरो बन गया हूं.. क्योंकि मैंने एक बैकग्राउंड डांसर अपनी जर्नी की शुरुआत की थी और आज मैं इतने अच्छे कलाकारों के साथ अपने टाइटल रोल कर रहा हूं, तो मेरी नजर में तो मैं बहुत बड़ा हीरो हूं। अब तो धीरे धीरे हीरो की डेफिनेशन भी बदल चुकी है। पहले एक्शन करने वाले एक्टर ही हीरो होते थे, फिर शाहरुख खान आए और उन्होंने प्यार करके भी हीरो बनना सिखाया।

    Q. पर्सनली आपके पसंदीदा कलाकार कौन हैं?

    Q. पर्सनली आपके पसंदीदा कलाकार कौन हैं?

    A. मुझे अक्षय कुमार बहुत पसंद हैं। वो इतने शानदार परफॉर्मर हैं और हर तरह का रोल करते हैं। रियल लाइफ में हमेशा दूसरों के लिए काफी कुछ करते हैं। बहुत अनुशासित भी हैं। तो मुझे उनकी बहुत सारी बातें पसंद हैं।

    Q. आने वाली फिल्मों के बारे में कुछ बताएं?

    A. मेरी तीन फिल्में आने वाली हैं, लेकिन फिलहाल मैं इस पर ज्यादा बात नहीं कर पाउंगा।

    English summary
    As film Salaam Venky is all to set release in theatres, actor Vishal Jethwa had an conversation with Filmibeat, where he talked about his career and working experience with Kajol and Rani Mukerji.
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X