For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

Exclusive: यश राज के रोमांस की वजह से आज तक सिंगल हूं- वाणी कपूर

|

(सोनिका मिश्रा) किसी भी एक्ट्रेस के लिए ये बहुत बड़ी बात होती है कि उसे अपनी पहली ही फिल्म यश राज बैनर में मिले। शुद्ध देसी रोमांस से बॉलीवुड में अपने करियर की शुरुआत करने जा रही वाणी कपूर को भी ये मौका मिला कि वो अपनी शुरुआत यश राज फिल्म्स से करें और वाणी खुद को काफी लकी मानती हैं कि उन्हें यश राज से शुरुआत करने का मौका मिला है। वाणी कपूर ने वनइंडिया के साथ अपनी बातचीत के दौरान अपने ड्रीम ब्वॉय और साथ ही लिव इन रिलेशनशिप को लेकर अपनी राय जाहिर की। वाणी ने कहा कि वो लव मैरिज करना चाहती हैं और साथ ही शुद्ध देसी रोमांस जैसी फिल्मों के जरिये आज के यूथ के आइडिया ऑफ रोमांस को प्रेजेंट करना चाहती हैं। पेश हैं वाणी कपूर से बातचीत के कुछ अंश।

शुद्ध देसी रोमांस में आप अपने किरदार को किस तरह से डिफाइन करेंगी।

अभी फिल्म के बारे में तो कुछ नहीं बता सकती लेकिन इतना जरुर है कि इस किरदार को निभाने के लिए मुझे काफी स्ट्रगल करना पड़ा। क्योंकि ये किरादर काफी अलग था और साथ ही इस किरदार को समझने के लिए मुझे बहुत वक्त लगा। क्योंकि ये किरदार रियल वाणी से काफी अलग था और साथ ही जैसा मनीष मुझे दिखाना चाहते थे उस हिसाब से खुद को ढालना काफी मुश्किल था। मेरे सामने काफी चैलेंजेस थे।

यशराज की फिल्म से अपने करियर की शुरुआत करने में खुद को भाग्यवान (लकी) समझ रही हैं। क्या आपको लगता है कि यश राज की फिल्म से शुरुआत करने से आपका करियर को एक अच्छी ऊंचाई मिलेगी।

बिल्कुल यश राज की फिल्म से अपने करियर की शुरुआत करना एक बहुत ही अच्छी और साथ ही बेहतरीना बात है लेकिन मुझे लगता है कि जब तक आप खुद की मदद नहीं कर सकते तब तक कोई प्रोडक्शन हाउस या कोई निर्देशक आपकी मदद नहीं कर सकता। तो मेरे लिए ये प्रूफ करना कि मैं यश राज की फिल्म के लायक हूं काफी चैलेंजिग था। वैसे भी अभी तो ये मेरी शुरआत है तो मैं बहुत कुछ ज्यादा एक्सपेक्ट नहीं कर रही हूं मैं सिर्फ अपने काम पर ध्यान दे रही हूं और साथ ही अपना पूरा ध्यान अपने काम पर दे रही हूं।

अपने करियर की पहली ही फिल्म इतने बोल्ड टॉपिक पर करना कैसा लगा।

मुझे नहीं लगता कि ये कोई बहुत बोल्ड टॉपिक है या फिर इसके किरदार बहुत बोल्ड हैं क्योंकि लिव इन रिलेशनशिप आजकल बहुत कॉमन हो गये हैं और लोग इन्हें बहुत ही सिंपल तरीके से लेते हैं। मुझे नहीं लगता कि इसका छोटे या बड़े शहर से भी कुछ लेना देना है क्योंकि कई बार छोटे शहरों में मीडिया की इतनी पहुंच नहीं होती इसलिए लोगों को पता नहीं होता कि वहां क्या हो रहा है। कई बार इन्हीं छोटे छोटे शहरों के लोग बड़े शहरों के लोगों से भी आगे निकल जाते हैं।

लिव इन रिलेशनशिप को लेकर क्या सोच है आपकी।

अगर आप पास्ट देखें तो आपको लिव इन रिलेशनशिप, प्री मैरिटल सेक्स सबकुछ मिलेगा। हमारे प्राचीन गुफाओं जैसे खजुराहो की गुफाओं में भी आपको ये सबकुच दिखेगा तो मुझे लगता हे कि ये सब तो काफी कॉमन था प्राचीन काल से ही। हम सिर्फ इसे एक नये रूप में सामने ला रहे हैं। हम किसी को कुछ दिखाने या फिर कुछ साबित करने की कोशिश नहीं कर रहे हैं बल्कि हम सिर्फ सच्चाई को परदे पर ला रहे हैं। और ऐसे ही लोग होते हैं वास्तिकता में। अगर कोई किसी से प्यार करता है और उसके साथ लिव इन में रहना चाहता है तो ये उसकी च्वाइस है हम उसे सही या गलत नहीं ठहरा सकते। और उन्हें भी किसी को सही या गलत नहीं ठहराना चाहिए। लोग शायद इसे स्वीकार ना करे लेकिन इसमें कुछ गलत नहीं है।

तो आप कहना चाहती हैं कि शादी और लिव इन में से आप लिव इन को चुनेंगी।

मैं ये नहीं कह रही कि मैं शादी संस्था में विश्वास नहीं रखती लेकिन मैं लिव इन को भी गलत नहीं मानती। मैं भी चाहती हूं कि एक दिन शादी करके अपनी एक नयी जिंदगी शुरु करुं लेकिन मैं दोनों में विश्वास रखती हूं किसी को गलत नहीं मानती।

लव या अरेंज किस तरह की शादी करना चाहेंगी आप।

मैं लव मरिज करना चाहती हूं लेकिन उसके लिए किसी ऐसे इंसान को ढ़ूंढ़ना जरुरी है जिसके साथ मैं अपनी पूरा जिंदगी बिता सकूं। फिल्हाल तो मेरे पास कोई नही है तो अगर आपके पास कोई ऑप्शन हों तो प्लीज दीजिये। (हंसते हुए)

कैसा है वाणी का सपनों का राजकुमार।

मुझे मूछों वाले लड़के नहीं पसंद ज्यादा। लेकिन ये डिपेंड करेगा किस तरह के लड़के साथ मैं हूं। जैसे कि पहले मैं बैडली कूपर के सपने देखती थी लेकिन फिर मैंने खुद को समझाया कि कोई बैडली कूपर नहीं आने वाला तो मुझे सिंपल मॉडेस्ट लड़का चाहिए। वैसे मुझे लंबे लड़के काफी आकर्षित करते है। लेकिन अभी तक मेरे सपनों का राजकमार मेरे सपनों में ही है और रियैलिटी में मुझे वैसा कोई नहीं मिल रहा है। गुड लुक से ज्यादा मुझे एक अच्छी पर्सनैलिटी और चार्मिगं लड़का चाहिए। लेकिन उसे किसी चीज के लिए पैशिनेट होना चाहिए। सफल हो या ना हो वो चलेगा लेकिन अगर किसी चीज को लेकर वो पैशिनेट होना चाहिए।

आपके पेरेंट्स नहीं चाहते कि वो आपके लिए जीवन साथी चुनें।

मेरे पेरेंट्स ने कभी भी अपना डिसीजन हमारे ऊपर नहीं डाला। मेरी बहन ने एक ऐसे लड़के से शादी की है जो कि आधा डच है और आधा इंडियन। तो मेरे पेरेंट्स को किसी भी चीज को लेकर कोई प्रोब्लम नहीं है। अगर फैमिली अच्छी है और लड़का अच्छा है तो उन्हें कुछ ज्यादा एक्सपेक्टेशन नहीं है।

इतना कुछ चाहती हैं आप उससे खुद क्या देंगे उसे आप।

वो जो भी मुझे देगा मैं उसे सबकुछ वापस दूंगी। मैं उसे उसके जितना ही प्यार और केयर दूंगी।

वाणी कपूर के इंटरव्यू के कुछ अंश

डांसिंग को लेकर आप बेहद पैशिनेट हैं। शुद्ध देसी रोमांस में डांस करने का मौका मिला है।

डांसिंग को लेकर आप बेहद पैशिनेट हैं। शुद्ध देसी रोमांस में डांस करने का मौका मिला है।

मुझे डांसिग बेहद पसंद है और जब मैंने ऑडीशन दिया था तब मुझे डांस करने को कहा गया था। लेकिन शुद्ध देसी रोमांस में मेरा कोई भी डांसिग नंबर नहीं है। मुझे डांस करने में बहुत मजा आता है। मैं कोई प्रोफैशन डांसर नहीं हूं लेकिन ना ही मैंने डांस सीखा है लेकिन मुझे डांस करने में मजा आता है।

कुछ बताइये परिणिती और सुशांत के साथ सेट पर हुई कुछ नोंकझोक के बारे में।

कुछ बताइये परिणिती और सुशांत के साथ सेट पर हुई कुछ नोंकझोक के बारे में।

परिणिती और सुशांत काफी अच्छे और मजेदार हैं। मैं और सुशांत सेट पर अक्सर एक दूसरे की टांग खीचते थे। सुशांत सिंह काफी सुलझा हुआ इंसान है वो कभी भी झगड़ा या बहस नहीं करते तो उनके साथ फाइट होने का तो सवाल ही नहीं उठता। परिणिती भी काफी मजेदार और फ्रैंडली हैं।

किस तरह का रोमांस आपको पसंद है।

किस तरह का रोमांस आपको पसंद है।

मैं हमेशा से यश राज की रोमांटिक फिल्मों की दीवानी रही हूं। मैं शाहरुख खान और सलमान खान दोनों को ही पसंद करती हूं। शाहरुख खान का रोमांस तो पहले से ही हिट है लेकिन कुछ फिल्मों में सलमान खान का भी रोमांस बेहतरीन रहा है। यशराज का रोमांस आपको पूरी तरह से बर्बाद कर देता है क्योंकि फिर आप वैसा ही रोमांस अपनी रियल लाइफ में ढूंढते हैं और वैसा आपको मिलता नहीं। शायद इसीलिए अभी तक मैं सिंगल हूं।

तारा (शुद्ध देसी रोमांस में वाणी का किरदार) और वाणी में क्या बेसिक अंतर है।

तारा (शुद्ध देसी रोमांस में वाणी का किरदार) और वाणी में क्या बेसिक अंतर है।

तारा अपने दिमाग से काफी मैच्योर और सबकुछ सीधे कह देने वाली लड़की है लेकिन मैं रियल लाइफ में बहुत इमोशनल हूं। यही सबसे बड़ा अंतर है।

आप किसे ज्यादा महत्व देती हैं दिल को या दिमाग को।

आप किसे ज्यादा महत्व देती हैं दिल को या दिमाग को।

मैं अपने दिमाग और दिल दोनों की सुनती हूं लेकिन आजकल में अपने दिमाग की ज्यादा सुनती हूं क्योंकि जो लोग अपने दिल की सुनते हैं वो अक्सर लोगों के द्वारा बेवकूफ बनाए जाते हैं और लोग उनका फायदा उठाते हैं।

English summary
Vani Kapoor who is marking her debut with Yash Raj's Shuddh Desi Romance movie says she is a fan of Yash Raj Romance and the same romance she wants in her life. Vani Kapoor says she feels Live In Relationships are not wrong and it is the choice of people.

रहें फिल्म इंडस्ट्री की हर खबर से अपडेट और पाएं मूवी रिव्यूज - Filmibeat Hindi

Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Filmibeat sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Filmibeat website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more