For Quick Alerts
    ALLOW NOTIFICATIONS  
    For Daily Alerts

    दर्शकों का प्यार पॉसिबल करना चाहते हैं उदय चोपड़ा

    By Staff
    |

    उदय चोपडा एक ऐसा नाम हैं जिनकी कुछ फिल्मों ने दर्शकों को निराश किया तो कुछ फिल्मों ने उनसे आस बंधाए रखने की प्रेरणा दी। फिलहाल दर्शकों की इसी आस पर खरा उतरने के लिए उदय एक बार फिर रुपहले पर्दे पर अपनी फिल्म 'प्यार इंपॉसिबल" के ज़रिए दस्तक देने आ रहे हैं।

    प्रश्न - 'प्यार इंपॉसिबल" को लेकर कैसा लग रहा है हालांकि निर्माता, लेखक और नायक की तिगुनी भूमिका आप निभा रहे हैं ?

    उत्तर -(हंसते हुए) क्या कहूं ? जितना आप सोच भी नहीं सकती वह सब मैं अनुभव कर रहा हूं। अभिनय के क्षेत्र में मैंने बहुत कोशिश की खुद को साबित करने की मगर इस बार अभिनय से भी अधिक कुछ और पाने की कोशिश कर रहा हूं। आशा है मेरी वह कोशिश कामयाब हो जाए।

    प्रश्न - 'प्यार इंपॉसिबल" का ख्याल कैसे आया ?

    उत्तर - दरअसल आपको पता होगा या नहीं मैं नहीं जानता मगर जब मेरी धूम 2 रिलीज़ हुई थी उसके बाद मैंने यह घोषणा कर दी थी कि मैं वही फिल्में करूंगा जो मुझे अच्छी लगेंगी। उसके बाद कुछ नया करने की चाह में मैंने इस फिल्म की कहानी लिखनी शुरू की जो मेरे दिमाग के किसी कोने में बहुत पहले से थी। मैंने सोचा आज फिल्मों में जहां हर हीरो स्मार्ट और हैंडसम नज़र आना चाहता है क्यों ना मैं कुछ अलग तरह के किरदार में नज़र आऊं। इस आशा के साथ मैंने कहानी लिखनी शुरू कर दी। आप यकीन नहीं करेंगी इस फिल्म को सेट पर ले जाने से पहले मैंने इसकी नौ ड्राफ्ट लिखी।

    प्रश्न - इतनी सारी भूमिकाएं निभाने के बाद निर्देशन की भूमिका क्यों नहीं निभाई ?

    उत्तर - मुझे लगता है मैं पहले से ही बहुत सारी भूमिकाएं निभा रहा हूं। जहां तक जुगल हंसराज की बात है तो जब से मैंने इसकी कहानी लिखनी शुरू की तब से वह मेरे साथ है। दरअसल मैं चाहता था कि यह कहानी जुगल लिखे क्योंकि वह पहले भी एक कहानी लिख चुका है। मगर आखिरकार मुझे ही इसे लिखना पडा। मगर जुगल अक्सर आकर मेरी कहानी में कुछ ना कुछ करेक्शन कर दिया करता था सो जब यह कहानी आदित्य ने एप्रूव कर ली तो मैंने इसके निर्देशन की ज़िम्मेदारी जुगल पर डाल दी।

    प्रश्न - जुगल निर्देशित पहली फिल्म 'रोडसाइड रोमिओ" बहुत ज़्यादा हिट नहीं रही थी यह बात जानने के बावजूद आपने इस फिल्म की ज़िम्मेदारी उनके कंधों पर डाल दी ?

    उत्तर - देखिए ऐसी कोई बात नहीं है। 'रोडसाइड रोमिओ" एक एनिमेशन फिल्म है और भारतीय दर्शक एनिमेशन फिल्मों को उतने चाव से नहीं देखते जितनी वह अन्य फिल्मों को देखते हैं। जहां. तक जुगल के निर्देशन की बात है तो उनके काम में कोई कमी नहीं है। जिसने भी वह फिल्म देखी सभी ने उस फिल्म और जुगल की बहुत तारीफ की।

    प्रश्न - अपने किरदार को लिखते वक़्त क्या आपने सोच लिया था कि आप ही इसे निभाएंगे ?

    उत्तर - सोचा ज़रूर था मगर ठाना नहीं था कि मैं ही यह किरदार निभाऊंगा। अगर इस किरदार के लिए किसी बडे कलाकार को साइन करना पडता तो मैं ज़रूर करता मगर उसकी ज़रूरत ही नहीं पडी। मगर हां बैक ऑफ द माइंड मेरे दिल में यह ख्याल ज़रूर था कि काश मैं इसे निभाता। और यूं भी लिखते लिखते मुझे इस बात का यकीन हो गया कि मैं इसे बडी ही खूबसूरती से निभा सकता हूं।

    प्रश्न - प्रियंका के किरदार के बारे में क्या कहना चाहेंगे ?

    उत्तर - जब मैं यह फिल्म लिख रहा था मैंने तभी यह तय कर लिया था कि इस किरदार को प्रियंका से अच्छा और कोई नहीं निभा सकता।

    प्रश्न - प्रियंका के साथ काम करने का आपका अनुभव कैसा रहा ?

    उत्तर - प्रियंका से यूं तो कई बार पार्टियों में मुलाकात हुई है मगर फिल्म में उनके साथ काम करने में थोडा डर लग रहा था। प्रियंका बहुत बडी स्टार है और यही बात मुझे खाए जा रही थी मगर जैसे ही वह सेट पर आई और जिस तरह उन्होंने सबसे बात की मेरी सारी हिचकिचाहट दूर हो गई। प्रियंका की सबसे अच्छी बात यह थी कि वह शूटिंग में अभिनय के अलावा हर काम में हमारे साथ होती थी। मुझे याद है एक बार एक फोटो शूट के दौरान उन्होंने एक जूनियर आर्टिस्ट को अपने कपडे भी दिए थे। उनके इस अंदाज़ ने मुझे उनका दीवाना बना दिया।

    प्रश्न - क्या इस तरह का कोई वाकया आपके या आपके दोस्तों के साथ हुआ है ?

    उत्तर - देखिए ऐसा किसी एक के साथ नहीं हर किसी के साथ होता है कि उसे किसी ऐसे इंसान से प्यार हो जाए जो उससे एकदम अलग हो और उससे अपने प्यार का इज़हार कर पाने की उसमें हिम्मत ना हो। कॉलेज के दिनों में ऐसा सभी के साथ होता है। मगर इसका मतलब यह नहीं कि वह बुद्धू हैं।

    प्रश्न - इस फिल्म में आप एक नए अवतार में नज़र आ रहे है, उसके बारे में बताइए ?.

    उत्तर - इस फिल्म के लिए लुक सबसे ज़रूरी पार्ट था क्योंकि इसी के सहारे हमें दर्शकों को कंविंस करना था कि इस तरह के लडके से क्या कोई प्रियंका जैसी खूबसूरत लडकी प्यार कर सकती है। सो हमनें दोनों किरदारों का ऐसा लुक बनाया जिससे दोनों एक दुसरे के विरुद्ध नज़र आएं। विशेष रूप से मेरे किरदार के लुक के लिए हमनें 'ब्यूटी एंड द गीक" का सहारा लिया है।

    प्रश्न - 'प्यार इंपॉसिबल" के पोस्टर और उसकी कहानी हमें 'रब ने बना दी जोडी" की याद दिला रही है। आप क्या कहेंगे ?

    उत्तर - कुछ हद तक आपकी बात सही है मगर सच्चाई यह है कि यह फिल्म मैंने 'रब ने.." से भी पहले लिखी थी। वर्ष 2007 में जब आदित्य ने इस फिल्म को लिखना शुरू किया तब मेरी फिल्म की कहानी लिखकर तैयार थी। लेकिन फिर भी जब आप यह फिल्म देखेंगे तो आपको एक बार भी 'रब ने बना दी जोडी" की याद नहीं आएगी क्योंकि उसमें एक खूबसूरत लडकी और पढाकू लडके की कहानी नहीं है। 'रब ने.." दो ऐसे लोगों की कहानी है जो अलग पृष्ठभूमि के रहते हैं और उनकी शादी हो जाती है। उसमें लडकी बहुत खूबसूरत नहीं है मगर फिर भी पति उसका दिल जीतना चाहता है। मगर यहां का हाल कुछ और है।

    प्रश्न - आप तीन साल बाद रुपहले पर्दे पर आनेवाले हो तब भी आपको नहीं लगा कि आपको खूबसूरत नज़र आना है ?

    उत्तर - नहीं मैं बिल्कुल खूबसूरत नज़र नहीं आना चाहता, जिससे लोग एक बार फिर यह ना कहे कि देखो एक बार फिर कोशिश कर रहा है। मैं नहीं चाहता कि लोग मुझे एक कलाकार के तौर पर याद रखे। मैं सिर्फ अच्छी फिल्म बनाना चाहता हूं और इसी मंशा के साथ एक बार फिर आया हूं।

    प्रश्न - अगर आप कोशिश नहीं करना चाहते तो अपनी पहली फिल्म से लेकर अब तक खुद में कितना बदलाव पाते हैं ?

    उत्तर - तीन साल जो मैंने इस इंडस्ट्री से दूर रहा उसे शब्दों में बयां कर पाना मेरे लिए बहुत मुश्किल है। जब मैं इस इंडस्ट्री में आया था तब मैंने कुछ फिल्में की मगर उस मुकाम पर नहीं पहुंच पाया जहां मैं पहुंचना चाहता था। फिर जब मैंने खुद से कह दिया कि बॉस अब मैं कुछ नहीं करूंगा तब से मुझमें एक बदलाव आना शुरू हो गया। अब जब मैं वापस आया हूं तो मैं किसी को कुछ साबित नहीं करना चाहता। मैं एक अच्छी फिल्म बनाना चाहता था सो मैंने बनाया अगर यह फिल्म लोगों को नहीं पसंद आती है तो यह मेरी बद्किस्मती होगी। मगर अब मैं यह कोशिश नहीं करूंगा कि वह मुझे प्यार करें क्योंकि कोई किसी की राय बदल नहीं सकता। इंसान को हमेशा वह करना चाहिए जिसमें उसकी खुशी हो सो मैंने वही किया जिसमें मेरी खुशी है।

    प्रश्न - तो क्या आपको कोई अपेक्षाएं नहीं हैं ?

    उत्तर - अपेक्षाएं तो हैं मगर मैं उसे किसी के सामने व्यक्त नहीं करना चाहता। 'प्यार इंपॉसिबल" एक अच्छी फिल्म है, उसमें प्रियंका चोपडा भी है सो यह फिल्म अगर दर्शक देखते हैं तो मुझे खुशी होगी और इस बीच कहीं वह मुझे भी पसंद करते हैं तो मुझे दुगुनी खुशी होगी।

    प्रश्न - यह पूरी तरह से आपकी फिल्म है सो आपके पिता और भाई आदित्य का इस फिल्म को लेकर क्या कहना है ?

    उत्तर - मुझे खुशी है कि दोनों इस फिल्म से काफी खुश हैं। विशेष रूप से मेरे पिता को यह फिल्म बहुत पसंद आई। उन्होंने जब कहा कि मैंने उन्हें इस फिल्म के माध्यम से आश्चर्यचकित कर दिया मगर सच्चाई तो यह है कि उनकी बातों ने मुझे आश्चर्यचकित कर दिया।

    प्रश्न - पिछली फिल्म 'धूम" और 'धूम 2" के अलावा आप ने 'चरस" और 'सुपारी" में काफी गंभीर किरदार निभाया हैं। अब एक अव्यवस्थित लडके के रूप में आ रहे हैं तो क्या अपनी इमेज बदलना चाहते हैं ?

    उत्तर - काश ऐसा हो। दरअसल कलाकारों को हमेशा अपने किरदार के लिए दुसरों पर निर्भर रहना पडता है। हो सकता है इसके बाद मुझे वैसे किरदार भी मिले मगर मैं 'अली" के गेट अप से तब तक बाहर नहीं निकलना चाहता जब तक दर्शक मुझे और ना पसंद करने लगे क्योंकि उस किरदार में मुझे दर्शकों ने काफी पसंद किया।

    प्रश्न - 'अली" का किरदार थोडा कॉमिक किस्म का था जिसके लिए उसे सराहा गया। आपको नहीं लगता आपको आउट एंड आउट कॉमेडी में भी अपना हाथ आज़माना चाहिए ?

    उत्तर - हां यह सच है मगर यह भी सच है कि मुझे कॉमेडी से अधिक ड्रामा पसंद है। मैं नहीं चाहता कि मैं अपने लिए कोई कॉमेडी फिल्म लिखूं। अगर कोई मुझे लिखकर दे तो मैं उसे खुशी से कर लूंगा मगर जब मैं लिखूंगा तो वह ड्रामा ही होगा कॉमेडी नहीं। 'प्यार इंपॉसिबल" भी कॉमेडी नहीं है मगर परिस्थितियां कुछ इस तरह की हैं जिसके कारण लोग हंसने पर मजबूर हो जाते हैं।

    प्रश्न - क्या आप भी अपने बडे भाई आदित्य चोपडा की तरह 'दिलवाले दुल्हनिया ले जाएंगे" जैसी कोई फिल्म लिखकर इतिहास रचना चाहते हैं ?

    उत्तर - अरे बिल्कुल। यह भी कोई कहने की बात है। यह ख्वाहिश तो हर लेखक की होती है।

    प्रश्न - 'धूम 3" कब तक आने की गुंजाइश है ?

    उत्तर - अभी उसकी कहानी पर काम चल रहा है। इसे भी विक्टर ही लिख रहे हैं। अभी तक फिलहाल 'अली" और 'जय" के रूप में मेरा और अभिषेक का किरदार पक्का है।

    प्रश्न - आपकी रियल लाइफ में प्यार पॉसिबल कब होगा ?

    उत्तर - इस वक़्त तो मेरी लाइफ में मुझे हर चीज़ इंपॉसिबल लग रही है। जहां तक प्यार की बात है तो वह भी इंपॉसिबल है मगर यह मेरे नए साल का संकल्प है कि इस साल मैं अपने प्यार को पॉसिबल बनाने की पूरी कोशिश करूंगा। हालांकि पिछले साल से ही मेरी शादी की खबरें मीडिया में फैली हुई हैं।

    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X