»   » 46 फतवों से नहीं डरीं गायिका आफरीन, कुछ ऐसा बोलीं कि हैरान रह गए सब

46 फतवों से नहीं डरीं गायिका आफरीन, कुछ ऐसा बोलीं कि हैरान रह गए सब

Written By: Utkarsh
Subscribe to Filmibeat Hindi

इंडियन आइडल फेम नाहिद आफरीन किसी फतवे से नहीं डरतीं। आफरीन ने अपने खिलाफ जारी किए गए 46 फतवों का जवाब दिया है। आफरीन ने कहा कि वे किसी फतवे से सिंगिंग नहीं छोड़ेंगी। वे मरते दम तक गाती रहेंगी।

बता दें कि असम में इंडियन आइडल फेम नाहिद आफरीन के खिलाफ फतवा जारी किया गया है। आफरीन के खिलाफ यह फतवा इसलिए जारी किया गया हैं ताकि उसे लोगों के सामने गाना गाने से रोका जा सके। आफरीन साल 2015 में म्यूजिकल रिएलिटी टीवी शो इंडियन आइडल जूनियर की फर्स्ट रनर अप रह चुकीं हैं।

आफरीन के खिलाफ एक साथ 46 फतवे जारी होने के बाद इस खबर मीडिया में सनसनी फैल गई और देखते ही देखते आफरीन के साथ फिल्मी जगत और कई पॉलिटिकल हस्तियां खड़ी हो गई। जिसके बाद आफरीन भी मजबूती से खड़ी दिखाई दीं। उन्होंने कहा है कि चाहे कितने भी फतवे जारी किए जाएं मैं गाना गाना नहीं छोडूंगी और मरते दम तक गाती रहूंगी। जानें इस फतवे के पीछे की पूरी कहानी-

बांटे गए पर्चे

बांटे गए पर्चे

आफरीन के खि‍लाफ 46 फतवे जारी किये गये हैं। मंगलवार को मध्य असम के होजई और नागांव जिलों में ऐसे कई पर्चे बांटे गये जिसमें असमिया भाषा में फतवा जारी करने वाले लोगों का नाम साफ नजर आ रहा है। आफरीन के खिलाफ ताबड़तोड़ 46 फतवे जारी कर उन्हें स्टेज पर गाने से मना किया गया है।

कहा शरिया के खिलाफ है गाना

कहा शरिया के खिलाफ है गाना

25 मार्च को असम के लंका इलाके के उदाली सोनई बीबी कॉलेज में 16 साल की नाहिद को परफॉर्म करना है, जिसे पूरी तरह से शरिया के खिलाफ बताया गया है। इस फतवे की माने तो म्यूजिकल नाइट जैसी चीजें पूरी तरह से शरिया के खिलाफ है। 16 साल की सिंगर नाहिद आफरीन, दसवीं कक्षा की छात्रा है जो बिस्वनाथ चारिअली इलाके में रहती है।

आफरीन ने फतवों पर दिया से जवाब

आफरीन ने फतवों पर दिया से जवाब

फतवों पर प्रतिक्रिया देते हुए आफरीन ने कहा कि 'शुरुआत में मैं यह जानकर अंदर से टूट गई थी, मुझे लगता है कि मेरा संगीत अल्लाह का गिफ्ट है। मैं इस तरह की धमकियों के आगे झुककर अपना संगीत नहीं छोड़ने की सोच भी नहीं सकती। उन्होंने कहा कि मैं मरते दम तक गाना नहीं छोडूंगी।

दी जाएगी सुरक्षा

दी जाएगी सुरक्षा

असम सरकार ने उन्हें पूरी सुरक्षा मुहैया कराने का आश्वासन दिया है। आफरीन का कहना है कि असम की जनता और विभिन्न संगठनों की ओर से मुझे सैकड़ों फोन कॉल्स और संदेश मिले हैं, जिनमें मेरा समर्थन किया गया है। मुख्यमंत्री ने मुझसे बात की और कहा कि इससे डरना नहीं है। उन्होंने उदाली में पूरी सुरक्षा मुहैया कराने की भी बात कही है।'

मुख्यमंत्री ने किया ट्विट

मुख्यमंत्री ने किया ट्विट

बता दें कि असम के मुख्यमंत्री सोनोवाल ने भी आफरीन का समर्थन करते हुए बुधवार को ट्वीट कर कहा था कि 'कलाकारों की आजादी लोकतंत्र का सार है. वहीं असम के कई संगठन और भारी संख्या में लोग नाहिद के समर्थन में खड़े हो गए. असम के मुख्यमंत्री सर्वानन्द सोनोवाल ने भी नाहिद को खतरे से जुड़ी खबरों के मद्देनजर उन्हें सुरक्षा का आश्वासन दिया

फतवे में लिखी हैं ये बातें

फतवे में लिखी हैं ये बातें

असम के 46 संगठनों/मौलवियों द्वारा आफरीन के खिलाफ फतवे जारी किए गए हैं। मध्य असम के लंका और होजाई इलाकों में इन संगठनों की ओर से पर्चे भी बांटे गए हैं, जिन पर इनके हस्ताक्षर हैं। इसमें लिखा है, 'जादू, नृत्य, नाटक, थियेटर आदि शरई कानून के तहत गलत हैं। संगीत समारोह जैसे कार्यक्रम भी शरई के खिलाफ हैं। इससे भावी पीढ़ी भ्रष्ट हो जाएगी।' नाहिद आफरीन 25 मार्च को उदाली में एक स्टेज शो करने वाली हैं। इन संगठनों ने फतवा जारी कर उन्हें इससे दूर रहने को कहा है।

फिल्म अकीरा से रखा है बॉलीवुड में कदम

फिल्म अकीरा से रखा है बॉलीवुड में कदम

वर्ष 2015 में इंडियन आयडल जूनियर की उपविजेता रही आफरीन ने वर्ष 2016 में 'अकीरा' फिल्म के जरिये बॉलीवुड में कदम रखा था। इसमें उन्होंने सोनाक्षी सिन्हा के लिए गीत गाए थे।

आईएसआईएस के खिलाफ गाया था गीत

आईएसआईएस के खिलाफ गाया था गीत

कयास लगाए जा रहे हैं कि ये फतवे आफरीन द्वारा हाल में आतंकियों खासकर प्रतिबंधित इस्लामिक स्टेट (आइएस) के खिलाफ गाए गए गीत की प्रतिक्रिया में जारी किए गए हैं। वहीं पुलिस ने भी इस बात की जांच शुरू कर दी है।

समर्थन में नेता और अभिनेता

समर्थन में नेता और अभिनेता

आफरीन के समर्थन में जहां एक तरफ केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद उतरे हैं, वहीं अभिनेता परेश रावल और म्यूजिक कंपोजर विशाल डडलानी भी खड़े हैं। वहीं लेखिका शोभा डे और क्रिकेटर रविंद्र जडेजा ने भी आफरीन को मजबूती से खड़े रहने की नसीहत दी है।

लेखिका तस्लीमा नसरीन भी खड़ीं साथ

लेखिका तस्लीमा नसरीन भी खड़ीं साथ

आफरीन के खिलाफ फतवे जारी किए जाने का बांग्लादेशी लेखिका तसलीमा नसरीन ने भी विरोध किया है। उन्होंने आफरीन के समर्थन में ट्वीट किया कि वे ऐसे कट्टरपंथियों के सामने नहीं झुकेगी और गाना जारी रखेगी।

फतवों से डरकर कैंसिल नहीं होगा कार्यक्रम

फतवों से डरकर कैंसिल नहीं होगा कार्यक्रम

इन फतवों के खिलाफ आफरीन के लिए शो आयोजित करने वाले आयोजक भी खड़े हैं। आफरीन की मां ने बताया कि म्यूजिकल नाइट के आयोजकों ने कहा है कि वे इन फतवों की वजह से कार्यक्रम कैंसल नहीं करेंगे।

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

    English summary
    singer nahid afrin not afraid of fatwa issued against her, said something brave

    रहें फिल्म इंडस्ट्री की हर खबर से अपडेट और पाएं मूवी रिव्यूज - Filmibeat Hindi

    X
    We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Filmibeat sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Filmibeat website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more