For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

B'day Special: मुमताज़ - दारा सिंह के साथ की थी 16 Bgrade फिल्में, शम्मी कपूर ने किया था प्रपोज़

By Staff
|

बीते ज़माने की मशहूर अभिनेत्री मुमताज़ आज अपना 72वां जन्मदिन मना रही हैं। मुमताज़ का जन्म 31 जुलाई 1947 में हुआ था और उनका करियर शुरूआती दिनों में काफी संघर्ष भरा रहा है। मुमताज़ की मां और मौसी दोनों ही हिंदी फिल्मों में एक्सट्रा आर्टिस्ट थीं इसलिए मुमताज़ का बचपन फिल्मों के इर्द गिर्द ही घूमा। हालांकि उन्हें पता था कि संघर्ष करने के लिए उन्हें आसान रास्ता नहीं मिलेगा। इसलिए मुमताज़ को जो काम मिला वो करती गईं।

उन्होंने अपने करियर की शुरूआत एक चाइल्ड आर्टिस्ट के तौर पर की थी और इसके बाद वो कई फिल्मों में साइड रोल करने लगीं। हालांकि मुमताज़ को पता था कि वो हिंदी फिल्मों में केवल एक्स्ट्रा बनने नहीं आई हैं लेकिन उन्होंने अपने करियर में संघर्ष करना नहीं छोड़ा।

पहला मौका

पहला मौका

मुमताज़ को पहला मौका मिला दारा सिंह के अपोज़िट फिल्म करने का। उस समय कोई हीरोइन दारा सिंह की हीरोइन बनने को तैयार नहीं होती थी। लेकिन जैसे ही मौका मिला मुमताज़ ने बी ग्रेड फिल्म करना स्वीकार किया। इसके बाद वो दारा सिंह के साथ 16 फिल्मों में नज़र आईं और उन्हें स्टंटमैन की हीरोइन कहा जाने लगा।

वी शांताराम ने दिया मौका

वी शांताराम ने दिया मौका

वी शांताराम ने अपनी फिल्म बूंद जो बन गए मोती में मुमताज़ को मौका दिया क्योंकि वो अपनी बेटी राजश्री को सबक सिखाना चाहते थे। राजश्री फिल्म के सेट पर लेट पहुंचती थीं इसलिए शांताराम ने उन्हें रिप्लेस कर दिया। हालांकि फिल्म के हीरो एक स्टंट हीरोइन के साथ फिल्म नहीं करना चाहते थे लेकिन शांताराम ने जीतेंद्र से साफ कह दिया कि वो फिल्म की हीरोइन नहीं बदलेंगे।

शम्मी कपूर ने किया प्रपोज़

शम्मी कपूर ने किया प्रपोज़

शम्मी कपूर और मुमताज़ की जोड़ी जितनी पॉपुलर थी उतनी ही तेज़ी से फैली थी उनकी अफेयर की खबरें। शम्मी कपूर ने मुमताज़ को प्रपोज़ किया लेकिन साफ किया कि कपूर खानदान की बहुएं फिल्में नहीं करती हैं। मुमताज़ उस समय केवल 18 - 19 साल की थीं और उन्होंने अपना करियर चुना।

भीख मांगते थे एक्टर

भीख मांगते थे एक्टर

एक समय था जब मुमताज़ के साथ काम करने को कोई एक्टर तैयार नहीं होता था। लेकिन फिर शशि कपूर जैसे एक्टर उनके साथ काम करने की भीख मांगते दिखे थे। शशि कपूर ने सच्चा झूठा में मुमताज़ के साथ काम करने से मना किया था लेकिन फिर चोर मचाए शोर में काम करने के लिए मुमताज़ से काफी गुज़ारिश की।

ऐतिहासिक जोड़ी

ऐतिहासिक जोड़ी

मुमताज़ और राजेश खन्ना की जोड़ी हिंदी सिनेमा की बेस्ट जोड़ियों में से एक गिनी जाती है। हालांकि पहले वो शर्मिला टैगोर के साथ साइड रोल में राजेश खन्ना की फिल्मों में नज़र आती थीं लेकिन फिर वही शर्मिला टैगोर की सबसे बड़ी टक्कर बन कर उभरीं।

चुरा लेती थीं लाइमलाइट

चुरा लेती थीं लाइमलाइट

फिल्मों में हीरोइनों के बावजूद मुमताज़ केवल अपने गानों से फिल्म की पूरी लाइमलाइट चुरा लेती थीं। सायरा बानू से आदमी और इंसान में ज़िंदगी इत्तेफाक है, आशा पारेख से मेरे सनम में ये है रेशमी ज़ुल्फों का अंधेरा और शर्मिला टैगोर से सावन की घटा में ज़रा हौले हौले चलो मोरे साजना के साथ उन्होंने लाइमलाइट चुरा ली।

आज के रीमेक

आज के रीमेक

मुमताज़ ने अपने करियर में एक से एक सुपरहिट फिल्में दी हैं लेकिन उनके सुपरहिट गानों को आज भी लोग नहीं भूलते। इतना ही नहीं इन गानों की फील को बॉलीवुड में कई बार उतारा गया है। तो देखिए और बताइए कि अगर मुमताज़ को कोई बॉलीवुड में रिप्लेस करेगा तो कौन

छुप गए सारे नज़ारे

छुप गए सारे नज़ारे

छुप गए सारे नज़ारे की शैतानी और हॉटनेस दोनों ही कोई नहीं भूल सकता। वैसे इस रेन डांस को कड़ी टक्कर दी थी अक्षय कैट के गाने गले लग जा ना जा ने।

जय जय शिवशंकर

जय जय शिवशंकर

जय जय शिवशंकर शायद पुराने ज़माने का बेस्ट टल्ली नंबर होगा। मस्ती में झूमता....वैसे ही जैसे रणबीर दीपिका ने भांग पीकर बलम पिचकारी में तबाही मचाई थी!

बिंदिया चमकेगी

बिंदिया चमकेगी

जिस तरह मुमताज़ ने बिंदिया चमकेगी में राजेश खन्ना को खुल्ला चैलेंज किया था वैसे ही आलिया ने भी 2 स्टेट्स के इसकी उसकी में सीधी TERMS And Conditions रख दी थीं!

आज कल तेरे मेरे प्यार के चर्चे

आज कल तेरे मेरे प्यार के चर्चे

मुमताज़ और शम्मी कपूर के आज कल तेरे मेरे प्यार के चर्चे को कौन भूल सकता है। और बिल्कुल ऐसा ही बेहतरीन गाना था प्रियंका और शाहिद का जब से मेरे दिल को Ufffffffff!

गोरे रंग पे ना इतना गुमान कर

गोरे रंग पे ना इतना गुमान कर

जिस तरह से मुमताज़ के गोरे रंग के गुमान को राजेश खन्ना ने तोड़ने की भरपूर कोशिश की थी वैसे ही वरूण ने भी आलिया के राधा में उनका गुरूर तोड़ने की कोशिश तो की ही थी...लेकिन सब Fail ;)

ये रेशमी ज़ुल्फें

ये रेशमी ज़ुल्फें

ये शरबती आंखें...इन्हें देखकर जी रहे हैं...लेकिन इस गाने को पूरी तरह से नया करके उतारा गया आंखों में तेरी....और इससे बेहतरीन रोमांस शाहरूख दीपिका ने किसी गाने में नहीं किया <3

गौरतलब है कि हाल ही में मुमताज़ की मौत की खबरों ने सबको चौंका दिया था लेकिन ये सारी खबरें अफवाहें ही निकलीं। इसके बाद मुमताज़ ने खुद एक वीडियो के सहारे फैन्स को आश्वासन दिया था कि वो बिल्कुल ठीक हैं। बहुत ही कम लोग जानते हैं कि मुमताज़, एक्टर फरदीन खान की सास हैं।

उन्होंने 26 साल की उम्र में अपने करियर की सबसे ऊंचाई पर शादी की और करियर छोड़ दिया। इसके बाद काफी सालों बाद उन्होंने वापसी की लेकिन दर्शकों ने उन्हें नहीं स्वीकारा। मुमताज़ ने भी दर्शकों की इच्छा का सम्मान किया और दोबारा कभी फिल्मों का रूख नहीं किया।

English summary
Veteran actress Mumtaz is celebrating her 72nd birthday today and we bring you some rare facts of her life. Do you know, that Mumtaz is Fardeen Khan's mother in law for starters and was proposed by Shammi Kapoor!
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Filmibeat sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Filmibeat website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more