For Quick Alerts
    ALLOW NOTIFICATIONS  
    For Daily Alerts

    डायरेक्टर राम गोपाल वर्मा की इस बात कभी नहीं भूले मनोज बाजपेयी

    |

    बिहार के पश्चिम चंपारण के एक छोटे से गांव में पैदा हुए मनोज बाजपेयी ने बचपन से ही जीवन में संघर्ष किया हुआ है। मनोज बाजपेयी ने बचपन से ही एक सफल एक्टर बनने का सपना देखा था और इसी वजह से वह दिल्ली के नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा में एडमिशन भी लेने पहुंचे थे। लेकिन इसे उनकी बदकिस्मती ही कह लिजिए कि मनोज बाजपेयी को 3 बार अस्वीकृत कर दिया गया था। इससे वह इतने अधिक निराश हो गये थे कि उन्होंने आत्महत्या करने के बारे में सोचा था। पिछले 3 दशकों से फिल्म इंडस्ट्री में सक्रिय रहे मनोज बाजपेयी को अपने करियर के शुरुआती दिनों में काफी संघर्ष करना पड़ा था। इसी दौरान फिल्म डायरेक्टर रामगोपाल वर्मा ने कुछ ऐसा किया था, जिसे मनोज बाजपेयी कभी नहीं भूल पाये।

    शुरुआती दिनों में मांगना पड़ता था काम :

    शुरुआती दिनों में मांगना पड़ता था काम :

    आज के दौर में मनोज बाजपेयी की गिनती बॉलीवुड के दिग्गज एक्टर्स में होती है लेकिन करियर के शुरुआती दौर में मनोज बाजपेयी को फिल्म डायरेक्टरों से काम मांगना पड़ता था। शुरुआती दिनों में मनोज एक किराए के मकान में रहते थे। हिंदी फिल्मों में ज्यादा काम नहीं मिलने के कारण वह काफी परेशान भी थे। उन्हें समझ में नहीं आ रहा था कि क्या किया जाए। इसी दौरान एक दिन उनकी मुलाकात फिल्म डायरेक्टर रामगोपाल वर्मा से हुई।

    रामगोपाल वर्मा ने मनोज से पूछी यह बात :

    रामगोपाल वर्मा ने मनोज से पूछी यह बात :

    दिग्गज डायरेक्टर को अपने सामने देखकर मनोज बाजपेयी ने भी इस मौके को अपने हाथ से जाने नहीं दिया। उनसे एक रोल में मौका देने का अनुरोध कर डाला। रामगोपाल वर्मा ने उस समय मनोज बाजपेयी से पूछा था, "क्या आपने पहले कोई काम किया है या नहीं?" इसके जवाब में मनोज बाजपेयी ने कहा था,"काम तो किया था लेकिन उस किरदार में उनके हिस्से में कोई डायलॉग नहीं आया था।" इसके बावजूद रामगोपाल वर्मा ने मनोज बाजपेयी को अपनी फिल्म 'दौड़' में काम करने का मौका दिया था। इसके लिए मनोज को 30000 रुपये मिले थे। मनोज का कहना था, "उन रुपयो से मैंने अपने पूरे एक साल का घर का किराया भरा था।" रामगोपाल वर्मा की इस बात को मनोज कभी नहीं भूलते हैं।

    रामगोपाल वर्मा की फिल्म से ही मिली लोकप्रियता :

    रामगोपाल वर्मा की फिल्म से ही मिली लोकप्रियता :

    रामगोपाल वर्मा के निर्देशन में बनी फिल्म 'सत्या' में मनोज बाजपेयी को भीकू म्हात्रे का सपोर्टिंग कैरेक्टर करने का मौका मिला। ना सिर्फ यह फिल्म सफल हुई बल्कि भीकू म्हात्रे के किरदार में मनोज बाजपेयी को भी काफी लोकप्रियता मिली। मनोज बाजपेयी जल्द ही वेब सीरीज 'फैमिली मैन 3' में नजर आने वाले हैं।

    English summary
    Manoj Bajpayee had dreamed of becoming a successful actor since childhood. In the early stages of his career, Manoj Bajpayee had to ask for work from film directors. During this, one day he met film director Ram Gopal Varma. Manoj never forgets this thing of Ram Gopal Varma.
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X