For Quick Alerts
    ALLOW NOTIFICATIONS  
    For Daily Alerts

    17Years: 4 एक्ट्रेस भरी पड़ गईं सुपरस्टार एक्टर पर, Hit नहीं हुई फिल्म, फिर भी Dhamaka

    |

    बॉलीवुड में यूं तो कई फिल्में बनती हैं.. कई हिट होती हैं कई फ्लॉप। इनमें से कुछ ही ऐसी फिल्में होती हैं जो हिट-फ्लॉप से आगे बढ़कर ऑडिएंस के दिलों में उतर जाती हैं। ऐसी ही एक फिल्म आई थी लज्जा.. ये फिल्म 17 साल पहले यानी 2001 में आज के ही दिन रिलीज हुई थी। ये फिल्म उस दौर के ट्रेंड से एकदम अलग थी। या यूं कहें कि अपने समय से काफी आगे की फिल्म थी लज्जा।

    [6Years सलमान का एक्शन Dhamaka, शर्मीला और शर्टलेस अवतार, फिल्म हो गई ब्लॉकबस्टर]

    इस फिल्म में ऐसी औरतों की कहानी दिखाई गई थी जो मर्दों की इस दुनिया में न सिर्फ अपनी पहचान जानती हैं बल्कि उसे साबित भी करती हैं। दबाने की लाख कोशिशों के बावजूद कोई काली बनकर सामने आती है तो कोई दुष्टों का काल.. हालांकि महिलाओं पर केंद्रित फिल्में बॉलीवुड में पहले भी बनी हैं लेकिन इस फिल्म ने किसी भी मर्द को लीड रोल में रखा ही नहीं, वो भी उस दौर में जब एक्टर्स की फैन फॉलोइंग एक्ट्रेसेस से काफी आगे होती थी।

    लज्जा बॉलीवुड पर हिट तो नहीं हुई लेकिन जैसा कि हमने बताया ये फिल्म ऑडिएंस के दिलों को जीत ले गई। इस फिल्म में मनीषा कोइराला, माधुरी दीक्षित, रेखा, महिमा चौधरी नजर आई थीं। वहीं इनके अलावा फिल्म में अजय देवगन, जैकी श्रॉफ और अनिल कपूर जैसे स्टार्स भी थे। बहरहाल, आगे जानें बॉलीवुड की 10 बेस्ट ऐसी फिल्मों के बारे में जिन्होंने महिलाओं के एक अलग ही साइड को ऑडिएंस के सामने रखा।

    द डर्टी पिक्‍चर

    द डर्टी पिक्‍चर

    द डर्टी पिक्चर 2011 में बनी सिल्क स्मिता की जीवनी पर आधारित हिन्दी फिल्म है। इस फिल्म में मर्दों की डॉमिनेटिक इंडस्ट्री में अपनी अलग पहचान बनाने वाली मजबूत महिला की कहानी बताई गई थी।

    कहानी

    कहानी

    अपने पति के हत्यारों से बदला लेने आई एक कमजोर महिला की कहानी है जिसकी ताकत का अंदाजा किसी को नहीं होता। वो काली बनकर दुष्टों का नाश करती है।

    सात खून माफ

    सात खून माफ

    विशाल भारद्वाज की फिल्म ‘सात खून माफ' रस्किन बांड द्वारा लिखी कहानी ‘सुजैन्स सेवन हस्बैंड्स' पर आधारित थी. इस फिल्‍म में सुजैन (प्रियंका चोपड़ा) सात शादियां करती हैं और अपने आधा दर्जन पतियों को मौत के घाट उतार देती हैं।

    चांदनी बार

    चांदनी बार

    फिल्म चांदनी बार खुद को समाज के शरीफ लोग कहलाने वाले लोगों के चेहरे नकाब उतारने की कहानी है। यह एक बार डांसर्स की जिंदगी पर बनी फिल्म है जो सफेद पोश लोगों के चेहरे से नकाब हटाती है।

    मदर इंडिया

    मदर इंडिया

    मदर इंडिया कि गिनती आज भी देश की बेहरीन फिल्मों में कि जाती है। फिल्म में एक गरीब और बेसहारा महिला की किसी भी परिस्थिति में नहीं झुकती और अपने वचन को पूरा करने के लिए अपने ही बेटे पर गोली चला देती है।

    लिपिस्टिक अंडर माई बुरखा

    लिपिस्टिक अंडर माई बुरखा

    इस फिल्म में भी चार ऐसी महिलाओं की कहानी सुनाई गई है जो समाज में रह कर अपनी इच्छाओं को दबाती नहीं हैं। बल्कि एक आम इंसान की तरह उसे खुलकर जाहिर करती हैं।

    मॉम

    मॉम

    अपनी बेटी से हुई ज्यादतियों का बदला एक मां इस अंदाज में लेती है कि आपको मां काली का अवतार याद आ जाता है।

    इश्किया

    इश्किया

    ये एक ऐसी महिला की कहानी है जो खुद को शक्तिशाली समझने वाले दो पुरुषों को ही बेवकूफ बना देती है।

    ब्लैक

    ब्लैक

    साल 2005 में आई फिल्म ब्लैक में रानी मुखर्जी ने एक ऐसी लड़की की भूमिका निभाई थी, जिसे कुछ भी नहीं दिखाई देता था। इसमें रानी का अभिनय बेहद सशक्त था।

    क्वीन

    क्वीन

    ये एक ऐसी लड़की की कहानी है जो धीरे-धीरे ये समझने में कामयाब होती है कि उसे जिंदगी जीने के लिए किसी लड़के की जरूरत नहीं है।

    English summary
    Manisha Koirala film Lajja clocks 17 years know abuot 10 best women oriented films.
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X