For Quick Alerts
    ALLOW NOTIFICATIONS  
    For Daily Alerts

    चक दे इंडिया के 13 साल: सलमान ने अजीब डिमांड के बाद छोड़ी फिल्म, रिलीज़ से पहले निराश थे शाहरूख

    |

    चक दे इंडिया ने अपनी रिलीज़ के 13 साल पूरे कर लिए हैं और हम फिल्म से जुड़े कुछ दिलचस्प किस्से लेकर आए हैं। क्या आपको पता है कि चक दे इंडिया के पहले हीरो थे सलमान खान। लेकिन फिल्म के क्लाईमैक्स को लेकर सलमान खान और आदित्य चोपड़ा सहमत नहीं हुए जिसके बाद सलमान ने फिल्म छोड़ दी।

    दरअसल, सलमान खान चाहते थे कि फिल्म का फाईनल हॉकी मैच भारत और पाकिस्तान के बीच खेला जाए। अब ये डिमांड बेहद अजीब थी क्योंकि उस वक्त पाकिस्तान की महिला टीम हॉकी खेलती भी नहीं थी।

    लेकिन सलमान का कहना था कि चूंकि फिल्म के हीरो कबीर खान पर पाकिस्तान के साथ मैच फिक्सिंग का आरोप लगा है तो आखिरी मैच लड़कियों को पाकिस्तान के खिलाफ जीतना चाहिए। इससे फिल्म पूरी दिखेगी और भारत पाकिस्तान का एंगल काम करेगा।

    लेकिन चक दे इंडिया की टीम इस बात पर सहमत नहीं थी और सलमान खान ने फिल्म छोड़ दी। बाद में फिल्म को राष्ट्रीय पुरस्कार से नवाज़ा गया था।

    एक साल का इंतज़ार

    एक साल का इंतज़ार

    फिल्म जब शाहरूख खान के पास पहुंची तो उस वक्त वो करण जौहर की कभी अलविदा ना कहना में व्यस्त थे। आदित्य चोपड़ा ने इस फिल्म के लिए एक साल तक शाहरूख खान का इंतज़ार किया था। उसके बाद फिल्म शुरू हुई।

    केवल इसलिए की फिल्म

    केवल इसलिए की फिल्म

    शाहरूख खान ने ये फिल्म केवल इसलिए साइन की थी क्योंकि उनके पिता हॉकी खेलते थे और शाहरूख खान को थोड़ी हॉकी खेलने आती थी। हालांकि उनकी कास्टिंग के दौरान सबको लगा कि शाहरूख खान की रोमांटिक हीरो की छवि इस फिल्म को ले डूबेगी लेकिन ऐसा कुछ नहीं हुआ।

    जॉन अब्राहम भी थे लिस्ट

    जॉन अब्राहम भी थे लिस्ट

    फिल्म में लीड भूमिका के लिए जॉन अब्राहम के बारे में भी सोचा गया था। जॉन अब्राहम ने यशराज फिल्म्स के साथ धूम सीरीज़ की पहली फिल्म में विलेन की भूमिका निभाई थी और लोगों को काफी पसंद आए थे।

    लड़कियों की कास्टिंग

    लड़कियों की कास्टिंग

    फिल्म में 16 लड़कियों की कास्टिंग करनी थी जो कि बहुत बड़ा काम था और छह महीने तक चला था। फिल्म में ज़्यादातर लड़कियां सच में हॉकी प्लेयर थीं वहीं बाकी एक्टर्स को तभी कास्ट किया गया था जब उन्हें हॉकी खेलने आती थी।

    चार महीनों का कैंप

    चार महीनों का कैंप

    फिल्म में सभी लड़कियों को 4 महीने का अनिवार्य हॉकी कैंप करना पड़ा जहां उन्हें वास्तविक खिलाड़ियों जैसा बर्ताव करना पड़ा। ऐसा इसलिए किया गया कि फिल्म में हॉकी खेलते वक्त कुछ भी एक्टिंग ना लगे।

    बॉक्स ऑफिस पर फेल

    बॉक्स ऑफिस पर फेल

    चक दे इंडिया जब रिलीज़ हुई तो शुरूआती बॉक्स ऑफिस बेहद ठंडा था। शाहरूख खान फिल्म की टेस्ट स्क्रीनिंग के बाद ही निराश होकर लंदन चले गए थे क्योंकि वो नहीं चाहते थे कि इतनी अच्छी फिल्म के बारे में निगेटिव बातें सुनें।

    शानदार निकली फिल्म

    शानदार निकली फिल्म

    धीरे धीरे फिल्म के वर्ड ऑफ माउथ ने तेज़ी पकड़ी और फिल्म ने धुंआधार प्रदर्शन किया। चक दे इंडिया 2007 की सबसे ज़्यादा कमाने वाली तीसरी फिल्म बनी।

    देश पर पड़ा असर

    देश पर पड़ा असर

    इस फिल्म का देश की हॉकी पर इतना असर पड़ा कि फिल्म के बाद हॉकी स्टिक्स की बिक्री में 30 प्रतिशत उछाल आ गया था।

    शाहरूख का फिल्मफेयर

    शाहरूख का फिल्मफेयर

    इस फिल्म के लिए शाहरूख खान को उनका सातवां फिल्मफेयर अवार्ड मिला। जबकि शाहरूख खान के साथ इस कैटेगरी में तारे ज़मीन पर के लिए दर्शील सफारी, जब वी मेट के लिए शाहिद कपूर, नमस्ते लंदन के लिए अक्षय कुमार, गुरू के लिए अभिषेक बच्चन और ओम शांति ओम के लिए शाहरूख खान नॉमिनेट हुए थे।

    बेहद कठिन शूटिंग

    बेहद कठिन शूटिंग

    फिल्म की शूटिंग भारत और मेलबर्न में हुई थी और फिल्म के लिए 90 हॉकी प्लेयर्स और 9000 एक्स्ट्रा आर्टिस्ट्स की कास्टिंग की गई थी। फिल्म 2016 में नई दिल्ली में हुए इंडिपेंडेंस डे फेस्टिवल का हिस्सा भी बनी।

    English summary
    Chak De India completes 13 years of release. Salman Khan left the film after a stupid demand.
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X