For Quick Alerts
    ALLOW NOTIFICATIONS  
    For Daily Alerts

    Happy B'day: फरहान ने ही भरी महफिल में रूलाया था मिल्खा सिंह को...

    |

    भाग मिल्खा भाग ये आखिरी शब्द थे उस तेरह वर्षीय लड़के के पिता के, जिन्होंने मरने के पहले बोले थे। उसके बाद उस लड़के ने ऐसी दौड़ लगाई कि दुनिया के कई देशों में सफलता के झंडे गाड़ दिए। भारत का नाम ऊंचा कर दिया। बात मिल्खा सिंह की हो रही है, जिनकी जिंदगी पर राकेश ओमप्रकाश मेहरा ने भाग मिल्खा भाग नामक फिल्म बनाई है। फरहान अख्तर ने इस फिल्म में उस दशक को उतारा जब देश में बहुत कुछ हो रहा था। पर इन सब बातों को दर्शाया गया एक लड़के से जिसने उस बहुत कुछ झेला। उस दौर की हर घटना ने उन पर गहरा असर छोड़ा। चाहे 47 का विभाजन हो या हिंदु मुस्लिम दंगे हर घटना ने मिल्खा सिंह को गहरी तरह से झकझोरा था। 20 नवंबर को मिल्खा सिंह अपना जन्मदिन मना रहे हैं पर हमें गर्व कि उनके जैसे हीरो को बॉलीवुड के इतिहास में जगह मिली। क्योंकि कुछ कहानियां समय को मात देने के लिए होती हैं और कभी न भूलने के लिए होती हैं। जानिए भाग मिल्खा भाग से जुड़ी ऐसी बातें जो शायद आप नहीं जानते -

    जब रो पड़े थे मिल्खा

    जब रो पड़े थे मिल्खा

    फरहान अख्तर ने भरी महफिल में मिल्खा सिंह को रूलाया था। इस फिल्म की स्पेशल स्क्रीनिंग पर मिल्खा सिंह ने अपनी पूरी ज़िंदगी को रिवाइंड कर लिया। फरहान और दिव्या दत्ता के सीन पर मिल्खा रो पड़े। बाद में उन्होंने कहा कि मैं आज मुद्दतों बाद रोया हूं। फिल्म देखकर फरहान की फैन लिस्ट में मिल्खा सिंह भी जुड़ गए। वो फरहान के अभिनय के कायल हो गए थे।

    1 रूपये का शगुन

    1 रूपये का शगुन

    फिल्म की कहानी मिल्खा सिंह ने एक रूपये में बेच दी थी। इसके बाद राकेश ओमप्रकाश मेहरा और प्रसून जोशी को फिल्म की कहानी लिखने में ढाई साल लग गए। वो चाहते थे कि एक हीरो फिर से ज़िंदा हो जाए, वापस कभी न मरने के लिए और ऐसा ही हुआ।

    सोनम की फीस थी 11 रूपये

    सोनम की फीस थी 11 रूपये

    फिल्म में अपने रोल के लिए सोनम कपूर ने 11 रूपये लिए थे। ये बात तो सब जानते हैं लेकिन इस छोटे से रोल के लिए सोनम ने बहुत मशक्कत। वो भी तब जब वो चौथी बार एक ग्रामीण किरदार निभा रही थीं। हालांकि निम्रत कौर फिलहाल मिल्खा सिंह की पत्नी है पर सोनम फिल्म में मिल्खा की पत्नी नहीं बनती हैं।

    मिल्खा के जूतों में दौड़े फरहान

    मिल्खा के जूतों में दौड़े फरहान

    फिल्म में रोम ओलंपिक की रेस शूट करते वक्त फरहान को मिल्खा सिॆंह ने अपने जूते दिए थे। फरहान अख्तर इन्हीं जूतों में रेस में दौड़ते हैं।

    युवराज के पिता

    युवराज के पिता

    फिल्म में मिल्खा के कोच की भूमिका युवराज सिंह के पिता ने निभाई है। योगराज सिंह पंजाबी इंडस्ट्री का जाना माना चेहरा हैं। युवराज उस दौरान अपनी बीमारी से उबर रहे थे। फिल्म के लिए उन्होंने कई क्लैप शॉट्स भी दिए।

    रेस चैलेंज

    रेस चैलेंज

    पहली बार मिलने पर मिल्खा सिंह ने फरहान अख्तर को रेस लगाने का चैलेंज दिया । अब रेस कौन जीता इसका खुलासा कभी नहीं हुआ।

    किसिंग चैलेंज

    किसिंग चैलेंज

    फिल्म में मिल्खा के किसिंग सीन पर चुटकी लेते हुए मिल्खा सिंह ने कहा था कि फरहान अख्तर बेहतरीन अभिनेता है। वो तो किस भी मेरी तरह करता है।

    अवॉर्ड्स की भरमार

    अवॉर्ड्स की भरमार

    भाग मिल्खा भाग ने उस साल कुल 43 अवॉर्ड्स झटके थे। इनमें दो नेशनल अवॉर्ड थे। इस साल कुछ बेहतरीन फिल्में आईं थीं जिनमें रांझणा और शाहिद ने मिल्खा को टक्कर दी थी। हालांकि फरहान अख्तर बेस्ट एक्टर का अवॉर्ड नहीं जीत पाए थे । यह उपलब्धि शाहिद के लिए राजकुमार राव के हिस्से में आई थी।

    भाग मिल्खा भाग

    भाग मिल्खा भाग

    फिल्म का नाम भाग मिल्खा भाग उन शब्दों से आया जो मिल्खा सिंह के पिता के आखिरी शब्द थे। मरने से पहले उन्होंने मिल्खा को ये शब्द बोले थे जिससे कि वो अपनी जान बचा पाएं।

    English summary
    Milkha Singh celebrates his birthday on 20 november. The Biopic was a class with Farhan Akhtar shining out.
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X