»   » आमिर-ऋतिक के ही बस की बात...ऐसी फिल्में करना आसान नहीं!

आमिर-ऋतिक के ही बस की बात...ऐसी फिल्में करना आसान नहीं!

Written By: Shweta
Subscribe to Filmibeat Hindi

बॉलीवुड में इश्यू बेस्ड फिल्में बहुत बनती हैं, किसी सामीजिक मुद्दे पर फिल्म बनाना आसान होता है लेकिन फिल्म इस अंदाज के साथ बनाना की लोगों तक एक अच्छा संदेश पहुंच सके और फिल्म को क्रिटिक्स और लोग पसंद करें ये मुश्किल काम होता है।

ये बात बिल्कुल सही है की फिल्मों के जरिए बड़े स्तर पर एक बात पहुंचती है और लोगों के दिमाग पर गहरी छाप छोड़ती है। बॉलीवुड में कई ऐसी फिल्में बनी जो किसी ऐसी बीमारी पर बनी की फिल्म के आने के बाद नजरिया ही बदल गया।

[सलमान से लेकर करीना तक.. सब खेल चुके हैं 'डॉक्टर- डॉक्टर']

अब माई ब्रदर निखिल को ही ले लीजिए, फिल्म AIIDS पर बनी थी औरAIIDS को लेकर कैसी धारणा है सभी जानते हैं।इस फिल्म के बाद एक मानसिकता जरूर AIIDS के बारे में बदली।

आइये देखते हैं कुछ ऐसी ही फिल्में जिसमें किसी बीमारी को ध्यान रख कर फिल्म बनाई गई और फिल्म को काफी तारीफ मिली।

खामोशी 1969

खामोशी 1969

खामोशी मानिया पर एक फिल्म थी जिसके बारे में सभी अक्सर बाते करते हैं लेकिन ध्यान नहीं देते।

कोशिश 1972

कोशिश 1972

मूक और बधिक पर बनी यह फिल्म काफी इमोशनल भी थी और साथ ही कई मैसेज भी देनें में कामयाब हुई थी।

 माई बद्रर निखिल

माई बद्रर निखिल

Aiids पर बनी फिल्म माई ब्रदर निखिल भी एक ऐसी फिल्म थी जो काफी हद तक AIIDS के बारे में जागरूक करने में कामयाब रही।

तारे जमीन पर

तारे जमीन पर

डिस्लक्सिया पर बनी इस फिल्म को देख शायद ही किसी ने इससे खुद को जोड़कर नहीं देखा हो।इस फिल्म को बहुत ही ज्यादा तारीफ मिली और काफी अवार्ड भी मिले।

पा

पा

बच्चों की इस रेयर बीमारी प्रोजेरिया में अमिताभ बच्चन प्रोजेरिया पीड़ित थे जिसमें बच्चों का विकास 5 गुणा तेजी के साथ होता है।इस बीमारी के बारे में असल में काफी कम लोगों को पता था लेकिन फिल्म के बाद इसके कारण लोगों को पता चला और धारणा भी बदली।

गुजारिश

गुजारिश

इच्छा मृत्यु पर बनी फिल्म गुजारिश में ऋतिक रोशन की काफी तारीफ हुई थी और खासकर उनकी एक्टिंग की।किसी गंभीर बीमारी से पीड़ित इंसान कैसे की मनोस्थिति

English summary
Their are many bollywood movies which are based on different issue, likewise few very impressive movies are made on some serious diseases, have a look.
Please Wait while comments are loading...