»   » अजय देवगन-आमिर खान-बॉबी देओल ने मिलकर कर दिया ये बेहतरीन काम!

अजय देवगन-आमिर खान-बॉबी देओल ने मिलकर कर दिया ये बेहतरीन काम!

By: shivani verma
Subscribe to Filmibeat Hindi

बॉलीवुड में ऐसी कई फिल्में हैं जो आपको देशभक्ति की याद दिलाती हैं। जितने भी स्वतंत्रता सेनानी हैं उनके जीवन यात्रा को उनके संघर्षों को जानने के लिए हमारे सामने कई ऐसी फिल्में हैं जो उस समय की सच्चाइयां बयां करती हैं। आज शहीद दिवस है यानी इस दिन भगत सिंह अपने देश के लिए शहीद हुए थे। 

देश के युवा और शहीद भगत सिंह में बहुत ही गहरा कनेक्शन है। एक 23 साल का लड़का कब देश को अपनी ज़िम्मेदारी समझ कर इतना जुनून पैदा करता है कि सियासत और इतिहास दोनों बदल देता है।

bollywood-movies-base-on-the-legend-bhagat-singh

भगत सिंह पर बहुत सारी बॉलीवुड फिल्में बनी हैं जिसमें उनके जीवन को दिखाया गया। लेकिन भगत सिंह की सोच पर भी कई ऐसी फिल्में बनीं जो शायद एक सलाम की हकदार हैं।

इन फिल्मों ने ज़िंदा रखा है उस जुनून और आग को जो क्रांति और विद्रोह की हद तक जाने में भी गुरेज नहीं करती क्योंकि बात हो जाती है हक की। एक नज़र डालिए इन फिल्मों पर जिन्होंने क्रांति को फिर से जगाया और भगत सिंह की सोच को परदे पर उतनी ही संवेदना के साथ उतारा। देखें ये लिस्ट..

रंग दे बसंती

रंग दे बसंती

भगत सिंह की सोच को सबसे अच्छा सलाम देती है रंग दे बसंती। फिल्म में कुछ युवा अपने दोस्त की मौत का बदला लेते लेते कैसे हर एक चीज़ की कीमत समझते हैं और हर गलत चीज़ का विद्रोह करते हैं। इन सबमें उनका साथ देती है खुद भगत सिंह जैसे क्रांतिकारियों की ज़िंदगी।

द लीजेंड ऑफ भगत

द लीजेंड ऑफ भगत

सिंह अजय देवगन ने इस फिल्म में भगत सिंह को सबसे रुबरु करवाया जो सच में काबिले तारीफ फिल्म थी।

शहीद

शहीद

शहीद में मनोज कुमार थे जिन्होंने भगत सिंह को पर्दे पर जीवंत कर दिया।

23 मार्च शहीद

23 मार्च शहीद

इस फिल्म में बॉबी देओल ने शहीद भगत सिंह का किरदार निभाया था जिसमें भी भगत सिंह को शानदार तरीके से पर्द पर दिखाया गया था।

शहीद ए आज़म

शहीद ए आज़म

इस फिल्म में सोनू सूद ने भी भगत सिंह का किरदार बखूबी निभाया है> फिल्म में भगत सिंह और उनके साथी राजगुरु और सुखदेव की दोस्ती को दिखाया गया है।

शहीद ए आज़म भगत सिंह (1954)

शहीद ए आज़म भगत सिंह (1954)

ये फिल्म 1954 में आई थी।

फिर भी दिल है हिंदुस्तानी

फिर भी दिल है हिंदुस्तानी

हालांकि ये फिल्म भगत सिंह की ज़िंदगी पर आधारित नहीं है लेकिन इसमें आपको भगत सिंह के आदर्श ज़रूर देखने को मिलेंगे।। एक विद्रोह जो इस फिल्म के अंत में उबलता है वो दिखाता है कि इस देश का युवा आज भी भगत सिंह की कीमत और उसके जुनून को फॉलो करता है।

नायक

नायक

नायक एक जज़्बे और जुनून से भरी कहानी जो एक युवा को नायक बनना सिखाती है, पहला कदम उठाना सिखाती है और आने वाली नस्लों को एक सबक देना चाहती है। क्योंकि भगत जैसा नायक कोई दूसरा नहीं है।

English summary
bollywood movies base on The Legend Bhagat Singh.
Please Wait while comments are loading...