For Quick Alerts
    ALLOW NOTIFICATIONS  
    For Daily Alerts

    4 Years: दृश्यम - अजय देवगन ने सबको बताया था कि कब खाई थी 4 पाव भाजी

    By Staff
    |

    अजय देवगन स्टारर दृश्यम ने बॉक्स ऑफिस पर चार साल पूरे कर लिए हैं। इस फिल्म ने रिलीज़ के साथ ही अपने बेहतरीन वर्ड ऑफ माउथ के साथ लोगों के दिल में जगह बना ली थी। आज भी पूछा जाए कि 2 अक्टूबर को क्या हुआ था तो हर कोई यही जवाब देगा 2 अक्टूबर को विजय सालगांवकर अपने परिवार के साथ स्वामी चिन्मयानन्द का सत्संग करने पणजी गया था।

    वहां पर पूरे परिवार ने चार पाव भाजी खाई थी फिर वो शाम को एक होटल में रूके थे और अगले दिन 3 अक्टूबर को वापस आए थे। पूरी फिल्म में सस्पेंस बनाने के लिए ये लाइन करीब 20 - 25 बार दोहराई गई थी और यही फिल्म का हाईलाइट थी।

    क्यों थी फिल्म स्टार

    क्यों थी फिल्म स्टार

    कुछ फिल्में ऐसी होती हैं जो खुद ही स्टार होती हैं और धीरे धीरे ही सही दृश्यम ने साबित किया कि वो ऐसी फिल्म है और सुपरस्टार के कुछ नखरों को साइड कर दिया!

    आईटम सॉन्ग

    आईटम सॉन्ग

    आज कल सबसे भड़ा भ्रम हो गया है कि फिल्म हिट कराने के लिए एक आईटम नंबर, पार्टी सॉन्ग, लुंगी डांस ज़रूरी है - WRONG!

    रोमांस

    रोमांस

    कहानी सीरियस हो, ड्रामा हो, थ्रलर हो, सस्पेंस हो, रोमांस के बिना आगे बढ़ ही नहीं पाती....ऐसा नहीं होता!

    सुपरस्टार एंट्री

    सुपरस्टार एंट्री

    किसी फिल्म में अगर कोई सुपरस्टार है तो ज़रूरी नहीं कि उसकी एंट्री भी सुपरस्टार की तरह नाचते गाते हो!

    धुंआधार प्रमोशन

    धुंआधार प्रमोशन

    ज़रूरी नहीं कि फिल्म के प्रमोशन के लिए आप हर लिमिट पार कर जाएं....दृश्यम का प्रमोशन कॉमेडी नाइट्स जैसे शो तक ही सीमित रहा!

    हमेशा अच्छा आदमी

    हमेशा अच्छा आदमी

    ठीक है आप सुपरस्टार होंगे लेकिन ज़रूरी नहीं कि भगवान के दूत बन जाएं....नॉर्मल रहना अच्छा होता है!

    हीरोइन का छोटा रोल

    हीरोइन का छोटा रोल

    अगर फिल्म में सुपरस्टार हो तो हीरोइन के लिए कुछ बचता ही नहीं....दृश्यम में तबू से ज़्यादा किसी की तारीफ नहीं हुई।

    दृश्यम ने तोड़े सुपरस्टार नखरे!

    दृश्यम ने तोड़े सुपरस्टार नखरे!

    फिल्म में एक सुपरस्टार का कैमियो तो बनता ही है....चाहे वो अबराम ही क्यों ना हो...ऐसा ज़रूरी नहीं है!

    टीवी पर एंट्री

    टीवी पर एंट्री

    अब फिल्म को टीवी के किसी डेली सोप की कहानी से जोड़कर उनकी उलझने सुलझाओ ऐसा हर समय अच्छा नहीं लगता....लॉजिक नाम की चीज़ होती है।

    100 करोड़

    100 करोड़

    फिल्म ने करोड़ों कमाए तो ही फिल्म सुपरहिट है....ऐसा ज़रूरी नहीं...जैसे बेबी एक अच्छी फिल्म थी...अगली बहुत ही अच्छी फिल्म थी...कुछ फिल्में कमाई से परे होती हैं!

    साउथ रीमेक

    साउथ रीमेक

    ज़रूरी नहीं कि हर साउथ रीमेक बचकाना या बेतुका हो, उसे बस संजीदगी से बनाने की ज़रूरत होती है।

    दृश्यम एक बेहतरीन सस्पेंस ड्रामा थी। फिल्म में अजय देवगन और श्रेया सरण ने एक 18 साल की बच्ची के माता पिता का किरदार निभाया था जिसका रेप होने से बचाने की कोशिश में उसकी मां के हाथों लड़के की मौत हो जाती है। वो लड़का होता है गोआ की डीजीपी तबू का।

    इसके बाद अपने बेटे को ढूंढने के लिए ज़मीन आसमान एक करती एक पुलिस ऑफिसर (तबू) और उस मरे हुए लड़के की मौत के इल्ज़ाम से अपने परिवार को बचाने के लिए ज़मीन आसमान एक करता एक आम आदमी (अजय देवगन) दर्शकों को फिल्म में बांध लेते हैं। यही कारण है कि फिल्म दर्शकों को बेहद पसंद आई थी और आज भी टाआरपी चार्ट पर ऊपर ही रहती है।

    English summary
    Ajay Devgn and Tabu starrer Drishyam completed 4 years of it's release. The film although ignored at all the award functions, secured a place in audience's hearts.
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X