For Quick Alerts
    ALLOW NOTIFICATIONS  
    For Daily Alerts

    "बिना मेहनत के लोग 400 करोड़ कमाते हैं...घटिया सी फिल्म 300 करोड़ कमा लेती है!"

    |

    बॉलीवुड में दो तरह के लोग हैं, एक जो केवल बॉक्स ऑफिस नंबर के लिए ही जीते हैं और दूसरे जिन्हें बॉक्स ऑफिस से उतनी ही नफरत है। केके मेनन दूसरी कैटेगरी में आते हैं। हाल ही में अपनी रिलीज़ फिल्म द गाज़ी अटैक के लिए उन्हें काफी तारीफें मिल रही हैं।

    और केके मेनन ने इस मौके पर अच्छी फिल्मों के कम बॉक्स ऑफिस पर बात की। उन्होंने बताया कि लोग कितना भी कह ले कि अच्छी फिल्में सब कुछ बदल देंगी पर ऐसा कुछ होता नहीं है। लोग उन्हें देखते नहीं है और वो भुला दी जाती हैं।

    इसका कारण है बॉक्स ऑफिस। घटिया से घटिया फिल्म भी 100 करोड़ , 300 करोड़ कमा रही है। ऐसे में जो नहीं कमा रही उसे कोई देखना नहीं चाहता और वो घाटा उठाती है।
    [किसी और को अपनी रिलीज़ डेट देकर दिखाएं सलमान - आमिर!]

    वहीं जो 300 करोड़ कमाती है वो किसी लायक फिल्म नहीं होती और फिर लोग कहते हैं कि अच्छी फिल्में नहीं बनती हैं। वास्तव में इन क्लब्स ने आदत बिगाड़ दी है। सबको मसाला पता है और हर फिल्म में वही डालकर 400 करोड़ कमा लेना है।
    [#BoldBayaan: "अपनी औकात से ज़्यादा फीस लेते हैं खान हों या बच्चन!"]

    फिर आराम करना है और अगले साल की 400 करोड़ वाली फिल्म पर फोकस करना है। ये अब धंधा बन चुका है। वैसे केके मेनन की बात वाकई सच है। देखिए उन फिल्मों की लिस्ट जो 100 करोड़ क्लब के लायक नहीं थीं -

    English summary
    Kay Kay Menon talks about disappointing box office numbers and 300 crore club.
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X