»   » 'खूबसूरत' जैसी 'खूबसूरत' नहीं हैं सोनम कपूर

'खूबसूरत' जैसी 'खूबसूरत' नहीं हैं सोनम कपूर

Posted By:
Subscribe to Filmibeat Hindi

'खूबसूरत' गर्ल सोनम कपूर को आज फिल्मी दुनिया में आये सात साल से ज्यादा का वक्त हो चुका है। फिल्मी दुनिया के लगभग हर चर्चित सितारे के साथ काम कर चुकी सोनम की झोली में मात्र दो फिल्में ही ऐसी हैं जिन्हें वो हिट कह सकती हैं। बावजूद इसके मैडम के तेवर हमेशा की तरह सातवें आसमान में ही रहते हैं और इसीलिए एक बार फिर से अपनी तारीफ करते हुए मैडम ने कहा कि उन्हें रीपिट होना पसंद नहीं है।

'खूबसूरत' सोनम को रीपिट होना पसंद नहीं..

अपनी हालिया रिलीड फिल्म 'खूबसूरत' में सोनम ने फिल्म के एक गाने 'इंजन की सीटी' में उत्तेजक नृत्य किया है, फिल्म में उन्होंने एकदम बिंदास लड़की की भूमिका निभायी है।

खूबसूरत फिल्म समीक्षा

जिसके बारे में सोनम ने कहा कि मुझे नहीं लगता कि वास्तविक जिंदगी में आप मुझे 'इंजन की सीटी' पर नृत्य करते हुए देखेंगे क्योंकि मैं रीयल लाइफ में इतनी फ्रेंक कभी नहीं हो सकती। मुझे हर बार अलग अलग किरदार निभाना अच्छा लगता है।"

हर बार अलग अलग किरदार निभाना अच्छा लगता है

फिल्म के बारे में बताते हुए सोनम ने कहा, "मैंने कभी भी मिलि (खूबसूरत का उनका किरदार) जैसा किरदार नहीं निभाया था और मुझे नहीं पता कि फिर से मैं उस किरदार को निभाऊंगी। जैसे 'रांझना' की जोया जैसा किरदार मैंने एक ही बार निभाया।" सोनम ने कहा कि वह अपनी आने वाली फिल्मों में भी अलग अलग किरदारों में दिखाई देंगी।

'खूबसूरत' गर्ल सोनम कपूर के बारे में बातें करते हैं अब नीचे की स्लाइडों के जरिये...

 रीपिट होना पसंद नहीं

रीपिट होना पसंद नहीं

सोनम ने कहा, "फिल्म 'डॉली की डोली' और 'प्रेम रतन धन पायो' वाले किरदार अब तक मेरे द्वारा निभाए गए किरदारों से बेहद अलग हैं। मुझे एक ही चीज को बार बार दोहराना पसंद नहीं है। "

'प्रेम रतन धन पायो'

'प्रेम रतन धन पायो'

सोनम 'प्रेम रतन धन पायो' में अभिनेता सलमान खान के साथ दिखाई देंगी। जिसके लिए वो बहुत ज्यादा एक्साइटेड हैं।

सूरज बड़जात्या और सलमान खान

सूरज बड़जात्या और सलमान खान

सोनम ने कहा कि सूरज बड़जात्या और सलमान खान की जोड़ी के साथ काम करने का अनुभव काफी मजेदार है। उन्होंने कहा कि वो बता नहीं सकती कि 'प्रेम रतन धन पायो' के सेट पर मुझे कितनी शांति मिलती है।"

'सांवरिया' से 'खूबसूरत' तक

'सांवरिया' से 'खूबसूरत' तक

सोनम को यह भी लगता है कि अपनी पहली फिल्म 'सांवरिया' से लेकर हालिया फिल्म 'खूबसूरत' तक वह अभिनय में बेहतर होती गई हैं।

मंजिल से ज्यादा यात्रा मायने रखती है

मंजिल से ज्यादा यात्रा मायने रखती है

सोनम ने कहा, "मैं मंजिल से ज्यादा यात्रा को लेकर उत्साहित रहती हूं। मैं ऐसी ही हूं। मुझे हमेशा इस बात का रोमांच रहता है कि आगे क्या होने वाला है।"

English summary
Khoobsurat Girl Sonam Kapoor says she has tried to play myriad roles in her career because she doesn't like to repeat characters.
Please Wait while comments are loading...