For Quick Alerts
    ALLOW NOTIFICATIONS  
    For Daily Alerts

    16 दिसंबर - याद है आज एक हिंदी फिल्म को दुलहन की विदाई का वक्त बदलना है!

    |

    कुछ फिल्में ऐसी होती हैं जो आपके ज़ेहन में रह जाती हैं। भले ही वो बॉक्स ऑफिस पर ना चलें, सिनेमाघरों में दर्शक ना बटोर पाएं लेकिन फिर भी उस फिल्म में कुछ ना कुछ ऐसा होता है जो आपके साथ हमेशा रह जाता है। ऐसी ही एक फिल्म थी 16 दिसंबर। इसके डायरेक्टर थे मणि शंकर।

    और ये फिल्म हम सबको याद है केवल एक डायलॉग के कारण - दुलहन की विदाई का वक्त बदलना है। फिल्म की स्टारकास्ट भी कमाल की थी - मिलिंद सोमण, दीपानिता शर्मा, सुशांत सिंह, गुलशन ग्रोवर और डैनी डैंज़ॉन्गोपा और अदिति गोवित्रिकर।

    फिल्म रिलीज़ हुई थी 22 मार्च 2002 को। लेकिन फिल्म का आधार था 1971 में हुआ इंडिया - पाकिस्तान युद्ध जिसके बाद 16 दिसंबर को पाकिस्तान आर्मी ने भारत के सामने घुटने टेक दिए थे और बांग्लादेश को भी आज़ाद कर दिया था।

    तब से 16 दिसंबर, भारत में विजय दिवस के रूप में मनाया जाता है। और 16 दिसंबर फिल्म भी इसी विजय दिवस पर आधारित थी। फिल्म को क्रिटिक्स और इंटरनेशनल मीडिया से भी काफी तारीफें मिली थीं।

    एक आतंकी हमले की कहानी

    एक आतंकी हमले की कहानी

    16 दिसंबर कहानी थी एक आतंकी ग्रुप की जो पाकिस्तान के उन आर्मी ऑफिसर्स द्वारा चलाया जाता था जो भारत के सामने 1971 में घुटने टेकना नहीं चाहते थे लेकिन उन्हें टेकना पड़ा। इसके बाद इस आतंकी ग्रुप ने प्लान करके नई दिल्ली में एक बम ब्लास्ट प्लान किया।

    दुलहन की विदाई का वक्त बदलना है

    दुलहन की विदाई का वक्त बदलना है

    इस बम ब्लास्ट को रोकने का एक ही तरीका था - एक कोड जिसे आतंकवादी ग्रुप का लीडर गुलशन ग्रोवर ही बोल सकता था। कोड था - दुलहन की विदाई का वक्त बदलना है। किसी तरह अलग अलग लाइनों में ये सारे शब्द बुलवाने के बाद, भारत के ऑफिसर्स की टीम ये कोड बुलवा पाती है।

    तकनीकी फिल्म

    तकनीकी फिल्म

    16 दिसंबर, ऐसी पहली फिल्म थी जिसने कंप्यूटर, ग्राफिक्स और ढेर सारी तकनीकों का इस्तेमाल किया था। इस कारण, फिल्म में लोगों को काफी दिलचस्पी थी।

    भारत की मिशन इंपॉसिबल

    भारत की मिशन इंपॉसिबल

    16 दिसंबर को कई क्रिटिक्स ने भारत की मिशन इंपॉसिबल कह कर बुलाया था। वहीं फिल्म की समीक्षा के दौरान कई क्रिटिक्स ने इसे 5 में से 5 स्टार तक दे डाले थे। इनमें रेडिफ और फिल्मफेयर जैसी साइट्स शामिल थीं।

    सबसे ज़्यादा मुनाफे वाली फिल्में

    सबसे ज़्यादा मुनाफे वाली फिल्में

    16 दिसंबर जहां साल 2001 की सबसे ज़्यादा कमाने वाली फिल्मों में शामिल थी वहीं दूसरी तरफ, फिल्म ने काफी मुनाफा कमाया था और उस साल की सबसे सफल फिल्मों में शामिल थी।

    English summary
    Milind Soman's film 16 December was made on Indo - Pak War 1971. The dialogue from the film Dulhan Ki Vidaai Ka Waqt Badalna hai has gone down to history.
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X