सरदार उधम कहानी

    सरदार उधम एक बॉलीवुड ड्रामा फिल्म है, जिसका निर्देशन शूजित सिरकार द्वारा किया गया है। इस फिल्म में विक्की कौशल मुख्य भूमिका में है। ये फिल्म एक स्वतंत्रता संग्रामी के ऊपर आधारित है। 

    कहानी
    फिल्म की कहानी उधम सिंह के ऊपर फिल्माई गई है, जिन्होंने जलिया वाले बाग की हुई हिंसा का हिसाब लंदन जाकर किया।
    फिल्म की शुरुआत 1931 के पंजाब से शुरु होती है, जहां जेल में बंद उधम सिंह को रिहा किया जाता है। पुलिस की उनपर कड़ी निगरानी रहती हैं, लेकिन वो किसी तरह चकमा देकर वहां से निकल जाते हैं और लंदन पहुंचने के लिए संपर्क जुगाड़ने लगते हैं। अलग अलग देशों से होते हुए वह 1934 में लंदन पहुंचते हैं। और वहां मौजूद क्रांतिकारी भारतीयों से संपर्क साधते हैं। उनकी मदद से उधम सिंह अपने लिए पिस्तौल का इंतजाम करते हैं। 6 सालों तक वह लंदन में अलग अलग नौकरी करते हैं। इस बीच उन्हें पता चलता है कि 13 मार्च 1940 को लंदन के कैक्सटन हॉल में ईस्ट इंडिया एसोसिएशन और रायल सेन्ट्रल एशियन सोसायटी का संयुक्त अधिवेशन होने जा रहा है, जहां माइकल ओ'डायर भी आमंत्रित है। उधम सिंह अपनी किताब में बंदूक छिपा कर यहां पहुंचते हैं और माइकल ओ'डायर पर छह की छह गोलियां बरसा देते हैं। तुरंत ही वहां मौजूद पुलिस उन्हें पकड़ लेती है। उन पर मुकदमा चलाया जाता है और फांसी की सजा सुनाई जाती है। हाथ में भगत सिंह की तस्वीर पकड़े उधम सिंह फांसी पर चढ़ जाते हैं।

    यह फिल्म 16 अक्टूबर 2021 को ऑनलाइन प्लेटफाम अमेजन प्राइम पर रिलीज हुई है। 

     
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X