छिछोरे कहानी

    छिछोरे एक बॉलीवुड एक्शन रोमांस ड्रामा है, जिसका निर्देशन नितेश तिवारी ने किया हैं। फिल्म में सुशांत सिंह राजपूतश्रद्धा कपूर, प्रतीक बब्बर, वरुण शर्मा और तुषार पांडे मुख्य भूमिका में नजर आएं हैं। यह फिल्म 6 सितम्‍बर 2019 को रिलीज हुई। फिल्म को साजिद नाडियाडवाला ने प्रोड्यूस किया है। 

    फिल्म का एक हिस्सा भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान बॉम्बे में शूट किया गया है। छिछोरे थीम गीत को 9 करोड़ की लागत से शूट किया गया है। इसे बोस्को-सीज़र ने कोरियोग्राफर किया है जो इस ट्रैक के लिए तीन साल बाद एक साथ आए हैं।

    पटकथा
    फिल्म की शुरुआत होती है अनिरुध (सुशांत सिंह राजपूत) और माया (श्रद्धा कपूर) से, जिनका बेटा इंजीनियरिंग की प्रवेश परीक्षा की वजह से मानसिक तनाव से गुजर रहा है। हर बच्चे की तरह उसे भी एक ही डर है, यदि वह स्पर्धा में सफल नहीं हुआ तो 'लूजर' कहलाएगा। लेकिन क्या जिंदगी एक स्पर्धा में जीतने से आगे कुछ नहीं? इसका जवाब फिल्म की कहानी में छिपा है और पूरी संवेदनशीलता के साथ बेहतरीन तरीके से पेश किया गया है।

    लूजर शब्द का सही मतलब समझाने के लिए अनिरुध अपने बेटे को अपनी कॉलेज लाइफ के किस्से सुनाता है। इन किस्सों में ही असली मज़ा है। यहां एक के बाद एक सभी किरदार सामने आते जाते हैं अनिरुध बन जाता है अन्नी और उसके साथी हैं सेक्सा, एसिड, मम्मी, डेरेक, बेवड़ा और माया। भारत के नंबर 1 इजीनियरिंग इंस्टिट्यूट में पढ़ रहे इन सातों की कॉलेज लाइफ आपको समय समय पर गुदगुदाती है। आपसी रिश्ते, दोस्ती, प्रतिस्पर्धा, जुनून और सकारात्मकता के साथ कहानी आगे बढ़ती है। शायद हर दर्शक इन कहानियों से अपनी कॉलेज की कहानियों को जोड़ पाएंगे।

    नहीं, फिल्म 3 इडियट्स की तरह 'काबिल बनो, सफलता झक मार कर पीछे आएगी' जैसा ज्ञान नहीं देती है। बल्कि हंसते हंसाते इस बात का अहसास दिलाती है कि हर बार जीतना जरूरी नहीं होता। फिल्म की एक सीन में अन्नी कहता है- सफलता मिलने के बाद का प्लान सभी सोचते हैं, लेकिन फेल होने के बाद क्या करना है ये कोई नहीं बताता। फिल्‍म बेहतरीन है आपको जरूर देखना चाहिए।
     
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X