नो प्रॉब्लम कहानी

    नो प्रॉब्लम वर्ष 2010 में रिलीज हुई हिंदी कॉमेडी ड्रामा है, जिसका निर्देशन अनीस बज्मी ने और निर्माण अनिल कपूर ने किया है। फिल्म में संजय दत्त, अक्षय खन्ना, सुष्मिता सेन, परेश रावल, कंगना रावत, नीतू चंद्रा और सुनील शेट्टी मुख्य भूमिका में नजर आये। फिल्म 10 दिसंबर 2010 को सिनेमाघरों में रिलीज हुई।

    कहानी - कहनी लूट पर आदारित है। इसलिए यश (संजय दत्त) और राज (अक्षय खन्ना) उठाईगीर बने हैं। दोनों बचपन के दोस्त हैं। राज अपनी जिंदगी से परेशान है और ईमानदार बनना चाहता है जबकि यश हमेशा कुछ ना कुछ ऐसा कर देता है कि राज बदलते-बदलते रह जाता है। यश एक बैंक लूट लेता है और उसके चक्कर में लोगों के शक के घेरे में आ जाता हैं बैंक मैनेजर झंडूलाल (परेश रावल)। झंडू के ही घर में यश और राज ने पनाह ले रखी है। अर्जुन (अनिल कपूर) एक परेशानहाल पुलिसवाला है जो अपनी पत्नी काजल (सुष्मिता सेन) की स्पिलिट पर्सनैलिटी की समस्या से परेशान है। काजल कभी एक लविंग और केयरिंग पत्नी बन जाती है। तो कभी दूसरे ही पल वह अपने पति को मारने की योजना बनाने लगती है। संजना (कंगा रनाउत) काजल की छोटी बहन है। राज कंगना को अपना दिल दे बैठता है। इसी बीट एक इंटरनेशनल डायमंड सेंटर से काफी महंगे हीरे चोरी हो जाते हैं। केस सुलझाने का काम अर्जुन को मिलता है। इधर झंडुलाल अपने बैंक के चोरों को ढूंढ रहा है। संजना और राज की सगाई तय हो जाती है लेकिन ठाक सगाई से पहले झंडुलाल को यश और राज के बारे में पता चल जाता है और वह दोनों को धमकाता है कि अगर उन्होने बैंक के पैसे लौटाए बगैर शादी की तो वह दोनों का राज खोल देगा। यश और राज इस मुसीबत से छुटकारा पाने के लिए मंत्री की हत्या की योजना बनाते हैं। इसी बीच डायमंड चुराने वाले मार्को को दोनों पर शक हो जाता है और वह दोनों का पीछा करता है। यहां कन्फ्यूजन अपने चरम पर पहुंचता है। और हंसी के फव्वारे शुरू हो जाते हैं। खैर दोनों किसी तरह अपनी बेगुनाही साबित करते हैं और झुंडुलाल के पैसे लोटाते हैं।

     
     
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X