जीवनी

यामी गौतम भारतीय अभिनेत्री हैं जिन्‍होंने कई भाषाओं- पंजाबी, तमिल, तेलुगु, मलयालम, कन्‍नड़, हिन्‍दी की फिल्‍मों में काम किया हैा उन्‍हें पढ़ना, घरों की आंतरिक सजावट करना, गाने सुनना काफी पसंद हैा वे कई भारतीय विज्ञापनों में काम कर चुकी हैं और डेली सोप्‍स में काम कर चुकी हैं जैसे चांद के पार चलो, राजकुमार आर्यन, ये प्‍यार ना होगा कम, मीठी छुरी नं 1। उन्‍हें कई पुरस्‍कार भी मिल चुके हैं।

पृष्‍ठभूमि-
यामी गौतम का जन्‍म हिमाचल प्रदेश के बिलासपुर में हुआ था और वे चंड़ीगढ़ में पली बढ़ी हैं। उनके पिता का नाम मुकेश गौतम है जो कि पंजाबी फिल्‍म निर्देशक हैं। उनकी एक बहन भी हैं जिनका नाम सुरीली गौतम है जिन्‍होंने बड़े पर्दे पर अपना डेब्‍यू पंजाबी फिल्‍म पॉवर कट से किया।

पढ़ाई-
स्‍कूली शिक्षा पूरी होने के बाद उन्‍होंने लॉ आनर्स में स्‍नातक करने के लिए कॉलेज ज्‍वाइन कर लिया। वे आई.ए.एस. ज्‍वाइन करना चाहती थीं लेकिन 20 साल की उम्र में उन्‍होंने फिल्‍मों में आने का मन बना लिया। वे लॉ ऑनर्स की पढ़ाई कर रहीं थी लेकिन अभिनय करने के लिए उन्‍होंने पढ़ाई बीच में छोड़ दी।

करियर-
गौतम जब 20 साल की थीं, फिल्‍मों में अपना करियर बनाने के लिए मुंबई आ गईं। उन्‍होंने टेलीविजन में 'चांद के पार चलो' के साथ अपना डेब्‍यू किया। उनका फिल्‍मी करियर कन्‍नड़ फिल्‍म 'उल्‍लासा उत्‍साहा' से शुरू हुआ था। यह फिल्‍म तो बॉक्‍स ऑफिस पर नहीं चल पाई लेकिन उनकी परफॉर्मेंस को सराहा गया। बॉलीवुड में उन‍की शुरूआत चर्चित फिल्‍म 'विकी डोनर' से हुई था जिसमें उनके हीरो आयुष्‍मान खुराना थे। फिल्‍म में उन्‍होंने एक बंगाली लड़की का किरदार निभाया। यह फिल्‍म तो कम बजट की थी लेकिन फिल्‍म काफी सफल हुई और आलोचकों ने भी इसे सराहा। इस फिल्‍म के लिए भी उन्‍हें काफी प्रशंसा मिली थी। वे 2012 की प्रिवेंशन के कवर पेज पर दिखाई दीं और फिर 2012 के ही फेमिना के अंक में भी वे कवर पेज पर दिखाई दीं।

टेलीविजन शोज जिनसे यामी ने पहचान बनाई-
चांद के पार चलो, राजकुमार आर्यन, ये प्‍यार ना होगा कम, मीठर छुरी नं 1, किचन चैंपियन सीजन 1
 
प्रसिद्ध फिल्‍में-

उल्‍लासा उत्‍साहा, विकी डोनर, हीरो, टोटल स्‍यापा, एक्‍शन जैक्‍सन, बदलापुर।

Buy Movie Tickets