जीवनी
सनी देओल एक भारतीय फिल्म अभिनेता हैं।  उन्होंने हिंदी सिनेमा में कई बेहतरीन फ़िल्में की हैं।  वह हिंदी  घातक, दामिनी और गदर जैसी फिल्मों के लिए जाने जाते हैं।  सनी देओल के अब तक के फ़िल्मी करियरी में दो फिल्मफेयर और दो राष्ट्रीय पुरुस्कार मिल चुके हैं।  

पृष्ठभूमि 
सनी देओल का जन्म 19 अक्टूबर 1956 को अभिनेता धर्मेन्द्र के घर में हुआ था।  इनकी माँ का नाम प्रकाश कौर हैं। इनकी सौतेली माँ हेमा-मालिनी भी हिंदी सिनेमा की सफल अभिनेत्री रह चुकी हैं, फ़िलहाल वह अब भाजपा की नेता हैं।   इनके एक भाई, दो बहनें और दो सौतेली बहनें हैं।  बॉबी देओल जोकि एक फिल्म अभिनेता हैं। इनकी सगी बहनें अजिता और विजयता कैलिफ़ोर्निया में रहती हैं।  इनकी सौतेली बहनें- ईशा देओल- आहना देओल।  इनके एक चचेरे भाई हैं-अभय देओल जोकि हिंदी फिल्मों के सफल अभिनेता हैं।  

शादी 
सनी देओल की शादी पूजा देओल से हुई है।  इनके दो बेटें हैं- करण और राजवीर देओल।  

करियर 
सनी देओल एक फ़िल्मी परिवार से ताल्लुकात रखतें हैं, उनके पिता बीते जमाने के मशहूर अभिनेता और हिंदी सिनेमा  मैन के नाम से मशहूर थे।  उनकी इस प्रसिद्धिको उनके बेटे सन्नी देओल ने आगे बढ़ाया।  सनी देओल ने अपने करियर शुरुआत साल 1984 में फिल्म बेताब से की थी।  इस फिल्म में उनके अपोजिट  अभिनेत्री अमृता सिंह नजर आयीं थी।  फिल्म ने बॉक्स-ऑफिस पर काफी अच्छी कमाई की।  साथ ही इस फिल्म ने सनी को उनका पहला फिल्म -फेयर अवार्ड दिलाया। साल 1985 में  में वह फिल्म अर्जुन में एक बेरोजगार युवक के किरदार में नजर आएं, इस फिल्म में उनका अभिनय दर्शकों और आलोचकों को खूब पसंद आया. यह फिल्म उस साल की हिट फिल्मों में से एक फिल्म थीं। इसके बाद उन्होंने हिंदी सिनेमा में कई बैक-टू-बैंक हिट फ़िल्में दीं।  जिसमे यतीम, चालबाज और सल्तनत जैसी फ़िल्में शामिल थी। 

90 के दशक में सनी ने कई सुपर ब्लॉकबस्टर हिट फिल्मों में काम किया। इस दशक में उन्होंने राज कुमार संतोषी निर्देशित फिल्म घायल की।  जिसने उन्हें फिल्म फेयर अवार्ड के साथ-साथ राष्ट्रीय पुरुस्कार भी दिलाया।  उन्हंोने  हिट फ़िल्में की जिनमे डर-घटक,ज़िद्दी, बॉर्डर जैसी फ़िल्में शामिल थी।  

साल 2001 में उन्होंने उन्होंने फर्ज फिल्म की।  इस फिल्म में उनके अपोजिट प्रीति जिंटा नजर आयीं थी।  इस फिल्म ने बॉक्स-ऑफिस पर काफी अच्छी कमाई की थी, साथ ही आलोचक भी शनी की बेहतरीन एक्टिंग के  दीवाने हो गए थे।  इसके बाद वह फिल्म ग़दर एक प्रेमकथा में नजर आए।  इस फिल्म में उनके अपोजिट अभिनेत्री अमीषा पटेल नजर आयीं थीं।  यह फिल्म हिंदुस्तान-पाकिस्तान के रिश्तों पर आधारित थी। उस दौरान इस कई जगह इस फिल्म का विरोध भी हुआ, लेकिन उसके बावजूद इस फिल्म ने बॉक्स-ऑफिस पर रिकॉर्ड तोड़ कमाई की।  फिल्म की हर चीज़ उस दौरान सुपरहिट थे, चाहे गाने हो या फिर सनी के दमदार डायलॉग।  इसके बाद वह एक और बेहतरीन फिल्म इंडियन में नजर आये इस फिल्म इस फिल्म में उन्होंने एक देशभक्त पुलिस ऑफिसर की भूमिका अदा की थी।  फिर वह फिल्म माँ तुझे सलाम में नजर आये।  दोनों ही फिल्मों में वह देशभक्त की भूमिका में नजर आये।  

साल 2003 में वह फिल्म हीरो-द स्पाई में प्रीती जिंटा और प्रियंका चोपड़ा के अपोजिट नजर आये।  फिल्म में उनका किरदार एक डिटेक्टिव का था।  उनके दमदार अभिनय के कारण सिनमाघरों के बहार काफी भीड़ जुटी , और उनकी फिल्म सुपरहिट साबित हुई।  यह फिल्म उस साल की सबसे सफल तीसरी फिल्म थी। 

इसके बाद वह फिल्म अपने और यमला पगला दीवाना में अपने पिता धर्मेन्द और बॉबी देओल संग नजर आये।  हालंकि दोनों ही फिल्मों ने बॉक्सऑफिस पर ठीक-ठाक कमाई की थी।  इसके बाद उन्होंने कई फ़िल्में की जो दर्शकों को रिझानेँ में कामयाब नहीं हो सकीं।  

जल्द ही सनी देओल अब हिंदी सिनेमा में फिल्म मोहल्ला अस्सी, और भैय्याजी सुपरहिट फिल्मों से वापसी करने जा रहें हैं। 

प्रसिद्ध फ़िल्में 
यमला पगला दीवाना-2 ,यमला पगला दीवाना,राईट या राँग,बिग ब्रदर,अपने,फूल एन फाइनल,तीसरी-आँख,नकशा,काफ़िला,जो बोले सो निहाल,रोक सको तो रोक लो, कैसे कहूँ कि प्यार है,खेल,माँ तुझे सलाम,जानी दुश्मन,फ़र्ज़,ग़दर,ये रास्ते हैं प्यार के,इण्डियन,चैम्पियन,और प्यार हो गया,हिम्मत,घातक,बेताब,जिद्दी,दामिनी। 

Buy Movie Tickets
स्पॉटलाइट में फिल्में