जीवनी
स्नेहा खानवलकर एक भारतीय संगीत निर्देशिका हैं।  

पृष्ठभूमि 
स्नेह का जनम मध्यप्रदेश के ग्वालियर में एक मराठी परिवार में हुआ था। उनका पूरा बचपन इंदौर में बीता। उनकी माँ ग्वालियर के राजघराने से ताल्लुकात रखतीं थी।  उनकी माँ भारतीय संगीत में पारंगत थी, जिस कारण नानी स्नेह ने भी छोटी उम्र में संगीत सीखना शुरू कर दिया। वर्ष 2001 में उनका परिवार मुंबई शिफ्ट हो गया।  यंहा आकर उन्हो में दाखिला लिया।  लेकिन उन्होंने संगीत को अपना करियर बनाना ज्यादा बेहतर समझा। क्योँकिवाह संगीत को बचपन से सीखती चली आ रही थीं।  

करियर 
वर्ष 2004 में उन्होंने इंटरनेशनल फिल्म होप में काम किया।  उसके बाद उन्होंने रूचि नारयण की फिल्म काल में अपना पहला संगीत निर्देशन किया।  इसके बाद राम गोपाल वर्मा की सरकार राज का भी संगीत निर्देशन किया।  

साल 2008 में उन्हें हिंदी सिनेमा में पहचान फिल्म ओए लकी-लकी ओए फिल्म से मिली।  इस फिल्म के संगीत निर्देशन के लिए उत्तर भारत की सैर की और रागिनी संगीत सीखा।  इसके बाद उन्होंने एक हरयाणवी संगीत भी बनाया।   

 कश्यप की हिट फिल्म गैंग ऑफ़ वासेपुर 1 और 2 की संगीत निर्देशिका भी रह चुकी हैं।  उशे इस फिल्म में बेहतरीन संगीत निर्देशन के लिए फिल्म फेयर अवार्ड्स में बेस्ट डायरेक्टर के लिए नामांकित भी किया गया था।  

Buy Movie Tickets
 

रहें फिल्म इंडस्ट्री की हर खबर से अपडेट और पाएं मूवी रिव्यूज - Filmibeat Hindi