जीवनी
संजय लीला भंसाली भारतीय फिल्म निर्देशक, निर्माता, स्क्रीनराइटर और संगीत निर्माता हैं। वे फिल्म एंड टेलीविजन इंस्टीट्यूट आॅफ इंडिया के अल्युमिनाई रहे हैं। उनका बीच का नाम लीला अपनी मां को ट्रिब्यूट देने के लिए रखा। उन्होंने 1999 में एसएलबी फिल्मस नाम से प्रोडक्शन हाउस शुरू किया। उनकी फिल्मों की खास बात यह होती है कि उनकी फिल्मों के सेट बेहद शानदार और महंगे होते हैं। 2015 में उन्हें पद्मश्री पुरस्कार से भी सम्मानित किया जा चुका है। उन्हें कई बार फिल्मफेयर पुरस्कार से सम्मानित किया जा चुका है जिसमेें से फिल्म ‘हम दिल दे चुके सनम’, ‘देवदास’, ‘ब्लैक’ के लिए सर्वश्रेष्ठ निर्देशक का फिल्मफेयर पुरस्कार भी शामिल है। उन्हें कई अन्य पुरस्कारों से भी सम्मानित किया जा चुका है। 

करियर-
भंसाली ने अपनंे करियर की शुरूआत विधु विनोद चोपड़ा के साथ असिस्टेंट के रूप में की थी और वे फिल्म ‘परिंदा’, 1942ः ए लव स्टोरी और करीब के लिए भी काम कर चुके हैं। उन्होंने फिल्म करीब को निर्देशित करने से मना कर दिया और निर्देशक के रूप में अपने करियर की शुरूआत फिल्म ‘खामोशीः द म्यूजिकल’ से की। यह फिल्म कोई खास कमाई तो नहीं कर पाई लेकिन आलोचकों ने इसे काफी सराहा। 
उनकी दूसरी फिल्म ‘हम दिल दे चुके सनम’ प्रेम त्रिकोण पर आधारित थी जिसमें ऐश्वर्या राॅय, सलमान खान, अजय देवगन मुख्य भूमिका में थे। इस फिल्म ने भंसाली को फिल्म इंडस्ट्री में स्थापित करने का काम किया और इस फिल्म के जरिए उन्होंने अपने निर्देशन क्षमता की काबिलियत दिखाई। फिल्म काफी सफल हुई और इसने कई पुरस्कार भी जीते। उनकी अगली फिल्म ‘देवदास’ जिसमें शाहरूख खान, ऐश्वर्या राॅय और माधुरी दीक्षित मुख्य भूमिका में थे, 2002 की सबसे ज्यादा कमाई करने वाली फिल्म बनी। भारत की तरफ से यह फिल्म बेस्ट फाॅरेन लैंग्वेज फिल्म के अकेडमी अवार्ड के लिए गई। टाइम मैग्जीन ने इसे दशक की 10 बेहतरीन फिल्मों में आठवें स्थान पर रखा। इसके बाद आई अमिताभ बच्चन और रानी मुखर्जी की ‘ब्लैक’ टाइम के यूरोप संस्करण में 2005 की 10 बेहतरीन फिल्मों में पांचवे स्थान पर रही। इसके बाद आई फिल्म ‘सांवरिया’ कोई खास कमाल नहीं कर सकी। 

2006 में भंसाली ने छोटे पर्दे पर दस्तक दी और फराह खान और शिल्पा शेट्टी के साथ रियलटी टीवी शो झलक दिखला जा में जज की भूमिका में दिखाई दिए। वे अपने काम के लिए अंतर्राष्ट्रीय स्तर के आलोचकों से तारीफें बटोर चुके हैं।
वे इंडियन म्यूजिक टैलेंट शो एक्स फैक्टर के पहले सीजन में जज भी रह चुके हैं। 

प्रसिद्ध फिल्में-
खामोशीः द म्यूजिकल, हम दिल दे चुके सनम, देवदास, ब्लैक, सांवरिया, गुजारिश, गोलियों की रासलीला रामलीला।

टेलीविजन पर निर्माता के रूप में उन्होनंे सरस्वतीचंद्र को प्रोड्यूस किया तो वहीं 2008 में स्टेज ओपेरा पद्मावती के वे निर्देशक भी रहे। 

 
Buy Movie Tickets