For Quick Alerts
    ALLOW NOTIFICATIONS  
    For Daily Alerts

    'अक्षय कुमार को पता है मैं यहां तक कैसे पहुंचा हूं, मुझे पता है कि वो कैसे पहुंचे हैं'- सैफ अली खान

    |

    कुछ दिनों पहले सैफ अली खान ने एक इंटरव्यू के दौरान बयान दिया था कि वो भी नेपोटिज्म का शिकार रहे हैं। जिसे लेकर लोगों ने उन्हें जमकर ट्रोल किया था। अब सैफ ने अपने बयान को समझाते हुए कहा कि, मेरे कहने का मतलब इंडस्ट्री की राजनीति से था। सैफ ने कहा, मेरे लिए भी फिल्मी सफर आसान नहीं रहा है, कई फिल्मों से मुझे भी बाहर निकाला गया है।

    सुशांत सिंह राजपूत के निधन के फिल्म इंडस्ट्री में एक बार फिर नेपोटिज्म यानि की भाई-भतीजावाद की चर्चा शुरु हो चुकी है। जहां कुछ सितारों ने नेपोटिज्म से यह कहकर मुंह फेर लिया कि यह हर जगह होता है। वहीं, सैफ ने इस मुद्दे पर खुलकर अपनी बात रखी है।

    सैफ अली खान ने बताया है कि सालों पहले उन्हें भी उनकी फिल्म से निकाला जा चुका है। उन्होंने कहा कि मैं भी इस इंडस्ट्री में राजनीति का सामना कर चुका है। मुझे नहीं लगता कि मेरा सफर आसान रहा है। मैं कुछ फिल्मों में जैसे 'सुरक्षा' और 'एक था राजा' में थर्ड लीड अदा किया है। इन फिल्मों के बारे में कोई जानता भी नहीं है।

    मुझे पता था कि मैं क्या कर रहा हूं

    मुझे पता था कि मैं क्या कर रहा हूं

    सैफ ने आगे कहा, 'लेकिन मैंने कभी यह नहीं सोचा कि मैं यहां क्या कर रहा हूं। मुझे पता था कि मैं क्या कर रहा हूं। मैं पैसे कमाने और नौकरी करने की कोशिश कर रहा था। मुझे पता था ये कहीं नहीं जा रहा है, लेकिन मैंने काम नहीं छोड़ा..'

    फिल्मों के बीच पॉलिटिक्स

    फिल्मों के बीच पॉलिटिक्स

    सैफ ने कहा, 'यहां कुछ कहानियां ऐसी हैं जो आती और जाती हैं। आमतौर पर ऐसा होता है 'ओह, मुझे नहीं पता, यह फिल्म जो हमने आपको ऑफर की थी, अब आपके लिए नहीं है क्योंकि इसके पीछे कुछ पॉलिटिक्स है'। तो फिर आपको समझ आता है कि.. 'अच्छा, ठीक है वाह'। तो यह सब हुआ है।'

    फिल्में साइन करके मुझे निकाल दिया गया

    फिल्में साइन करके मुझे निकाल दिया गया

    सैफ ने आगे बताया, 'मैं अपने करियर में एक-दो बार ऐसी स्थिति में रहा हूं, जहां मुझे कुछ ऑफर किया गया। जिसके लिए मुझसे पेपर भी साइन करा लिए गए और अगले दिन मुझे फोन आया है कि यह हाथ से निकल गया है। मेरा रिएक्शन ऐसा होता था कि आपका मतलब क्या है?

    वे कहते थे कि हम इसमें आपकी मदद नहीं कर सकते क्योंकि यह हमारे हाथ से बाहर है। इसके लिए किसी और ने बात की और उसका हो गया है। हमें माफ करें।'

    दूसरी बार मैंने खुद ही बात की

    दूसरी बार मैंने खुद ही बात की

    अभिनेता ने कहा, यह कुछ ऐसा था जिसके बारे में कुछ नहीं कर सका। जब दूसरी बार उन्होंने ऐसा करने की कोशिश की तो, मैंने खुद ही फोन किए और कहा कि आप ऐसा नहीं कर सकते। इसके बाद वह ऑफर मिला। तब मेरे मैनेजर ने कहा था 'वाह'।

    अक्षय कुमार समझ सकते हैं कि मुझपर क्या गुजरी है

    अक्षय कुमार समझ सकते हैं कि मुझपर क्या गुजरी है

    सैफ ने कहा, जब कुछ गलत होता है, चाहे किसी के साथ भी हो, मुझे सही नहीं लगता। इसीलिए जब नेपोटिज्म वाले बयान पर लोगों ने मुझे ट्रोल किया था, तो मुझे अच्छा नहीं लगा था। लोगों के दिमाग में छवि है कि आप बड़े खानदान में पैदा हुए हो, आपके पास एक पैलेस है.. आपको क्या संघर्ष करना पड़ा! लेकिन हमें भी संघर्ष करना पड़ा था.. खासकर हमारे वक्त पर.. अक्षय कुमार समझ सकते हैं कि मुझपर क्या गुजरी है.. और मैं जानता हूं कि उन्हें कितना संघर्ष करना पड़ा है।

    सुशांत केस में ड्रग्स कनेक्शन आते ही- वायरल हुई करण जौहर की हाउस पार्टी की तस्वीरें, मचा था हंगामा

    English summary
    Saif Ali Khan shared experiences of his journey in bollywood and revealed that he has been thrown out of his own film in the past.
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X