For Quick Alerts
    ALLOW NOTIFICATIONS  
    For Daily Alerts

    OTT रिलीज से नाराज थियेटर्स- निर्माताओं ने दिया जवाब, "हमें हर दिन कई सौ करोड़ का नुकसान हो रहा है"

    |

    कोरोना महामारी से पूरी दुनिया जूझ रही है। महीनों से लोग घरों में लॉकडाउन हैं और फिलहाल स्थिति सुधरती भी नहीं दिख रही है। ऐसे में फिल्म निर्माता भी अब डिजिटल प्लैटफॉर्म की ओर रुख कर रहे हैं। बता दें, मार्च से ही देशभर के सभी सिनेमाघरों को बंद कर दिया गया है। लिहाजा, बॉलीवुड फिल्मों को धीरे धीरे डिजिटल रिलीज की घोषणा की जा रही है। ऐसे में आईनॉक्स थियेटर्स ने निर्माताओं पर गुस्सा जाहिर किया था।

    आईनॉक्स ने एक बयान जारी किया कि, 'INOX पिछले कई साल से वर्ल्ड क्लास थिएटर बनाने में अपने पैसे लगा रहा है। इसका मकसद केवल ये है कि लोगों तक अच्छा सिनेमा पहुंचे। इस मुश्किल की घड़ी में ये बेहद दुखद है कि हमारे पार्टनर पिछले कई साल से चले इस रिश्ते को नहीं निभा रहे हैं। वह भी तब जब हमें कंधे से कंधा मिलाकर खड़े रहने की जरूरत है।

    आगे लिखा- 'ऐसा पहली बार हो रहा है। हमारी पार्टनरशिप टूट रही है। हम और कंटेंट प्रोड्यूसर काफी वक्त से पार्टनर है। हम ये दोहराना चाहते हैं कि इससे रेवेन्यू को काफी झटका लगेगा। हम सभी निर्माताओं से विनती करते हैं कि वह थिएटर सिस्टम को नहीं छोड़े और डिजिटल प्लेटफॉर्म में फिल्में रिलीज न करें।'

    करोड़ों का नुकसान

    करोड़ों का नुकसान

    वहीं, अब निर्माताओं ने जवाब दिया है कि हमें हर दिन लाखों- करोड़ों का नुकसान उठाना पड़ रहा है।प्रोड्यूसर्स गिल्ड ऑफ इंडिया ने एक बयान जारी करते हुए कहा-सिनेमा कब खुलेंगे और चीजें नॉर्मल होंगे इसे लेकर कोई जानकारी नहीं है।

    प्रोड्यसर्स उठा रहे हैं पूरा नुकसान

    प्रोड्यसर्स उठा रहे हैं पूरा नुकसान

    फिल्मों की शूटिंग के लिए जो सेट बनाए गए थे उन्हें हटा दिया है क्योंकि शूटिंग फिर से कब शुरू होगी इसकी कोई जानकारी नहीं है। सेट और स्टूडियो का किराया, शूट शेड्यूल रद्द होने के चार्ज पूरी तरह से प्रोड्यूसर्स को झेलने पड़ रहे हैं और बीमा कंपनियों से भी किसी तरह की मदद नहीं मिल रही है।

    लॉकडाउन के बाद भी थियेटर में नहीं आएंगे लोग

    लॉकडाउन के बाद भी थियेटर में नहीं आएंगे लोग

    उन्होंने आगे लिखा- थियेटरों के फिर से खुलने के बाद भी सोशल डिस्टेंसिंग जरूरी होगी जिसके चलते सिनेमाघरों में भीड़ देखने को नहीं मिलेगी। ऑक्यूपेंसी कम रहेगी। जिन प्रोड्यूसर्स ने फिल्मों में बहुत सारा पैसा निवेश किया है उन्हें अपने निवेश को रिकवर करने के लिए दूसरा रास्ता देखना होगा। ऐसे में डिजिटल प्लेटफॉर्म पर फिल्म को रिलीज करने का फैसला सही है।

    अभी यह फैसला सही

    अभी यह फैसला सही

    प्रोड्यूसर्स गिल्ड ने लिखा- बेशक फिल्म रिलीज करने में मल्टीप्लेक्स ही हमारी प्राथमिकता में हैं और रहेंगे। लेकिन अभी जो हालात हैं, ऐसे में हमें यह फैसला लेना पड़ा है। आगे भी फिल्में रिलीज करने के लिए जरूरी है कि हम बिजनेस में बनें रहें।

    ये फिल्में हो रही हैं रिलीज

    ये फिल्में हो रही हैं रिलीज

    अमिताभ बच्चन और आयुष्मान खुराना स्टारर फिल्म गुलाबो सिताबो 12 जून को अमेज़न प्राइम वीडियो पर प्रीमियर किया जाएगा।

    वहीं, विद्या बालन स्टारर शकुंतला देवी भी अमेजन प्राइम पर रिलीज की जाएगी। फिलहाल रिलीज डेट तय नहीं किया गया है।

    नवाजुद्दीन सिद्दीकी की फिल्म "घूमकेतू" के रिलीज की घोषणा कर दी गई है। यह फिल्म 22 मई को ओटीटी प्लैटफॉर्म ज़ी 5 पर रिलीज किया जाएगा।

    बदल जाएगा शुक्रवार?

    बदल जाएगा शुक्रवार?

    भारत में हर शुक्रवार लोगों की रिलीज होने वाली फिल्मों का इंतजार रहता है। यह पारिवारिक फंक्शन की तरह है। जहां पूरा परिवार एक साथ सिनेमाघर जाते हैं, फिल्म देखते हैं, पॉपकॉर्न खाते हैं, साथ वक्त गुजारते हैं। यदि कोरोना का प्रभाव खत्म नहीं हुआ तो सिनेमाघर कल्चर खत्म हो जाएगा।

    हैप्पी बर्थडे: माधुरी दीक्षित की RARE तस्वीरें, बेइंतहा खूबसूरत, एक मुस्कुराहट पर फिदा लाखों दिल

    Read more about: bollywood बॉलीवुड
    English summary
    Inox Theatres slams filmmakers for releasing films on Digital Platforms, producers replied, production sector is suffering hundreds of crores of losses daily.
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X