For Quick Alerts
    ALLOW NOTIFICATIONS  
    For Daily Alerts

    शुक्र है कोई तो है जिसने सेंसर बोर्ड की तारीफ की!

    |

    [बॉलीवुड समाचार] बड़ी हैरानी की बात है कि ऐसे समय में जबकि सेंसर बोर्ड की हर तरफ किसी न किसी कारण से आलोचना हो रही है, एक शख्स ऐसा भी है जो सेंसर बोर्ड के काम से संतुष्ट है। वो भी तब जब इस डायरेक्टर के सेंसर बोर्ड के साथ अनुभव पहली फिल्मों के लिए अच्छे ना रहे हों।

    फिल्म मार्गरीटा विद अ स्ट्रॉ की निर्देशक शोनाली बोस को यकीन था कि उनकी फिल्म को सेंसर बोर्ड आसानी से पास नहीं करेगा, लेकिन ऐसा नहीं हुआ। फिल्म में नग्नता को लेकर कुछ लोगों को आशंका थी कि सेंसर इन दृश्यों पर आपत्ति करेगा।
    ALSO READ: ना कुत्ता, ना कमीना...इस फिल्म से सेंसर बोर्ड ने सब हटाया!

    अपनी पहली फिल्म के बारे में बताते हुए उन्होंने कहा उस दौरान अनुपम खेर बोर्ड के अध्यक्ष थे और अमु के कई ऐसे दृश्यों पर सदस्यों को आपत्ति थी जिसमें पर्दे पर सिर्फ चेहरा नजर आ रहा था। लेकिन वर्तमान बोर्ड के द्वारा बगैर किसी हंगामे के फिल्म पास करने से शोलानी खुश हैं।

    मार्गरीटा विद अ स्ट्रा व्हीलचेयर पर रहने वाली युवती लैला की कहानी है। जो शारीरिक रूप से सामान्य न होने के बावजूद जिंदगी के हर रंग को देखना और जीना चाहती है। फिल्म में कल्कि केकला ने लैला की भूमिका निभाई है।
    जनता का REACTION - बॉलीवुड का B बोले तो बॉम्बे, मुंबई की धड़कन है 'Bombay'

    English summary
    Margarita with a straw director Shonali Bose is happy with censor board and is glad that the Kalki Koechlin starrer was passed without cuts.
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X