For Quick Alerts
    ALLOW NOTIFICATIONS  
    For Daily Alerts

    INTERVIEW: "अक्षय कुमार मेरे लिए प्रेरणा हैं, लेकिन मेरा सफर अलग है"- कार्तिक आर्यन

    |

    बैक टू बैक सफल फिल्मों के साथ स्टारडम का लुफ्त उठाते अभिनेता कार्तिक आर्यन अपनी आगामी फिल्म 'पति पत्नी और वो' की रिलीज को लेकर बेहद उत्साहित हैं। फिल्म 6 दिसंबर को रिलीज होने वाली है। मुदस्सर अजीज़ के निर्देशन में बनी इस फिल्म में कार्तिक के साथ भूमि पेडनेकर और अनन्या पांडे मुख्य किरदारों में हैं। ऐसे में फिल्मीबीट ने कार्तिक आर्यन से मुलाकात की, जहां उन्होंने अपनी फिल्में, स्टारडम, विवाद और फैन फॉलोइंग पर खुलकर बातें रखीं।

    अपनी फिल्मों की सफलता पर कार्तिक ने कहा, "7-8 सालों के संघर्ष के बाद मुझे यह सफलता मिली है, मैं बहुत एन्जॉय कर रहा हूं। मैं अब बस इसी तरह काम करते रहना चाहता हूं, रुकना नहीं चाहता।" वहीं, पिछले दिनों भूल भुलैया 2 की घोषणा के साथ कार्तिक को अक्षय कुमार के साथ जोड़कर देखा जाने लगा। इस खबरों पर कार्तिक ने कहा कि, "मैं किसी भी फिल्म में अक्षय सर की जगह नहीं ले रहा हूं। वह मेरे लिए प्रेरणा हैं। उनकी जर्नी हम सबको बहुत प्रभावित करती है। लेकिन मेरा सफर अलग है और मैं अपनी फिल्मों से पहचान बनाना चाहता हूं।"

    यहां पढ़ें इंटरव्यू से कुछ प्रमुख अंश-

    स्टारडम को एन्जॉय कर रहे हैं?

    स्टारडम को एन्जॉय कर रहे हैं?

    बहुत खुश हूं मैं। पिछली फिल्में अच्छी चली हैं, आने वाली फ़िल्मों का इंतज़ार किया जा रहा है। पति पत्नी और वो के ट्रेलर को भी पसंद किया गया है। लोग ट्रेलर से ही कह रहे हैं कि ये भी हिट है। मैं ये रिस्पांस पाकर, इस तरह की फिल्मों का हिस्सा बनकर बहुत ही खुश हूं। मैं हमेशा से ये करना चाहता था, 7-8 साल लग गए यहाँ तक पहुँचने में। मैं चाहता था कि एक फ़िल्म का प्रोमोशन करता रहूँ, दूसरी की शूटिंग, तीसरी की तैयारी। मनीष मल्होत्रा के लिए रैंप वॉक करूं, ब्राण्ड एंडोर्स करूं.. अब पिछले एक दो सालों से वक़्त बदला है। अब मैं रुकना नहीं चाहता हूं।

    आगामी फिल्मों (भूल भुलैया 2, दोस्ताना 2, आज कल) को देखा जाए तो.. आप सीक्वल किंग बन चुके हैं?

    आगामी फिल्मों (भूल भुलैया 2, दोस्ताना 2, आज कल) को देखा जाए तो.. आप सीक्वल किंग बन चुके हैं?

    हां, अब इस पर मैं क्या ही बोलूं। जो भी अच्छी स्क्रिप्ट मेरे पास आई, वो सभी पार्ट टू हैं। लेकिन मैंने इसीलिए नहीं साइन किया क्योंकि वो रीमेक या सीक्वल है, बल्कि उन फ़िल्मों की कहानी मुझे पसंद आई। जब किसी फ़िल्म का कंटेंट मुझे पसंद आ रहा है तो मैं क्यों न करूं। मेरा प्लान ऐसा नहीं था कि मैं सारी सीक्वल ही करूं, लेकिन ये बस होता चला गया। मैं तो मज़ाक में बोलता भी हूं कि हर दूसरी फिल्म मेरी है। खैर, जब ये फिल्में रिलीज़ होंगी तो ये मायने नहीं रखेगा कि फ़िल्म सीक्वल है या रीमेक है, बल्कि ये मायने रखेगा की लोग फ़िल्म से कितना जुड़ पाते हैं।

    चूंकि आप भूल भुलैया 2 का हिस्सा बने हैं, लोग आपको अक्षय कुमार से भी जोड़कर देख रहे हैं? इस बारे में क्या सोचते हैं?

    चूंकि आप भूल भुलैया 2 का हिस्सा बने हैं, लोग आपको अक्षय कुमार से भी जोड़कर देख रहे हैं? इस बारे में क्या सोचते हैं?

    अक्षय सर मेरे लिए एक प्रेरणा हैं, उनकी जर्नी हम सबको बहुत प्रभावित करती है। लेकिन उनसे किसी भी प्रकार की तुलना करना गलत है। मेरा सफर अलग है। मैं जो भी फिल्में कर रहा हूं, उसके जरिये मैं अपनी पहचान बनाना चाहता हूं। मैं चाहता हूं लोग मुझे उसी से पहचानें। अक्षय सर से तुलना मैं सोच भी नहीं सकता।

    1978 में आई 'पति पत्नी और वो' में पति का किरदार संजीव कुमार ने निभाया था। किरदार की तैयारी करने में वहां से कोई मदद ली?

    1978 में आई 'पति पत्नी और वो' में पति का किरदार संजीव कुमार ने निभाया था। किरदार की तैयारी करने में वहां से कोई मदद ली?

    मैंने पुरानी वाली पति पत्नी और वो देखी ही नहीं है। हालांकि मैं संजीव कुमार सर का बहुत बड़ा फैन रहा हूं। उनके अभिनय का कायल हूं। जब मेरे मम्मी पापा को पता चला था कि मैं ये फ़िल्म करने वाला हूं तो वो दोनों भी बहुत उत्साहित थे। वो इस फ़िल्म को बहुत पसंद करते हैं। पहले मैंने फ़िल्म देखी नहीं थी, और साइन करने के बाद में मैंने जानबूझ कर नहीं देखी क्योंकि मैं अपने दिमाग में कोई एक छवि नहीं बनाना चाहता था।

    आपकी ज्यादातर फिल्में इसी शैली की होती हैं, जहां थोड़ी कॉमेडी, थोड़ा मैसेज होता है? क्या इसे आप अपना सेफ ज़ोन मानते हैं?

    आपकी ज्यादातर फिल्में इसी शैली की होती हैं, जहां थोड़ी कॉमेडी, थोड़ा मैसेज होता है? क्या इसे आप अपना सेफ ज़ोन मानते हैं?

    सेफ ज़ोन तो नहीं कहूंगा। मैंने अपनी जर्नी प्यार का पंचनामा से शुरु की थी, जो एक रिस्की प्रोजेक्ट था। या सोनू के टीटू की स्वीटी को ही ले लें, उससे मुझे पहली बार टैग मिला था bromantic हीरो का। ये सारे रिस्की प्रोजेक्ट्स थे, जो काम कर गए। मैं ये मानता हूं कि ये फिल्में करने में मुझे मज़ा बहुत आता है। सेट पर लोग जब हँसते हैं तो खुशी होती है कि मेरी जोक पर लोग हँसे। लेकिन हां, मैं आगे चलकर एक्शन फिल्म जरूर करना चाहूंगा।

    संघर्ष के दिनों में जिन लोगों ने मुंह मोड़ा था, लगता है कि अब अपने काम से आपने उन्हें जवाब दिया है?

    संघर्ष के दिनों में जिन लोगों ने मुंह मोड़ा था, लगता है कि अब अपने काम से आपने उन्हें जवाब दिया है?

    जवाब देने का तो पता नहीं, लेकिन मैं ये लम्हा एन्जॉय कर रहा हूं। पहले पार्टियों में या कहीं लोग नज़र बचाकर निकल जाया करते थे, उस वक़्त मैं सोचता था कि एक समय आएगा जब आप नज़र चुरा नहीं पाओगे और खुद मेरे पास आओगे। और अब वह समय आ गया है। लेकिन मैं किसी की गलती नहीं कहूंगा क्योंकि उस वक़्त तक मैंने खुद को उतना प्रूव भी नहीं किया था कि लोग मुझपर अपना पैसा लगाएं। यह एक बिज़नेस है। यहाँ एक फेस वैल्यू होता है। मैं मानता हूं कि सोनू के टीटू की स्वीटी ने मेरी ज़िंदगी बदल दी। और लुका छुपी ने एक मोहर लगा दिया कि हां मैं एक कमर्शियल हीरो हूं। इन दो फिल्मों के बाद ही मेरे पास अचानक कई फ़िल्मों के ऑफर आये। मेरी आने वाली फ़िल्मों से भी मुझे बहुत उम्मीदें हैं।

    आपकी फीमेल फैन फॉलोइंग इतनी तगड़ी है, देखकर लगता है कि आप इसे एन्जॉय भी कर रहे हैं?

    आपकी फीमेल फैन फॉलोइंग इतनी तगड़ी है, देखकर लगता है कि आप इसे एन्जॉय भी कर रहे हैं?

    (हंसते हुए) मैं तो बहुत ही एन्जॉय कर रहा हूं। कौन नहीं करेगा। मैं तो चाहता हूं कि और अटेंशन मिले, ये तो कम है। फिलहाल तो मैं अकेले भी अपनी फोटो डालता हूं तो लोग पूरी छानबीन करते हैं कि इसके पीछे की कहानी क्या होगी। मैं तो किसी लड़के के साथ भी कॉफी पीने जाने से डरता हूँ कि लोग कहेंगें की दोस्ताना 2 का प्रमोशन कर रहा है। लेकिन बात दूँ कि मैं अपनी पर्सनल लाइफ अपने प्रोफ़ेशनल लाइफ से काफी अलग रखता हूं।

    पति पत्नी और वो में एक्सट्रा मैरिटल अफेयर दिखाया गया है, जिसका समाज में गलत संदेश भी जा सकता है। इस बारे में आप क्या कहेंगे?

    पति पत्नी और वो में एक्सट्रा मैरिटल अफेयर दिखाया गया है, जिसका समाज में गलत संदेश भी जा सकता है। इस बारे में आप क्या कहेंगे?

    ये उतनी भारी भरकम फिल्म है ही नहीं। ये फ़िल्म पूरी तरह से एंटरटेनमेंट के लिए बनाई गई है। कॉमेडी के साथ एक मैसेज देने की कोशिश की गई है। जब आप फ़िल्म करते हैं तो एक ज़ोन पकड़ना पड़ता है कि गंभीर कंटेंट वाली है, या सिर्फ एंटरटेनमेंट के लिहाज से बनाई गई है। दर्शक हमारी इतनी स्मार्ट है कि उन्हें अंदाज़ा होता है कि फिल्ममेकर क्या बेच रहा है, क्या नहीं बेच रहा है। बाकी इस फिल्म को आप देंखेगे तो समझ जाएंगे कि इसमें कुछ निगेटिव लाइट में नहीं दिखाया गया है।

    INTERVIEW: "लोगों ने जोधा अकबर की तुलना मुगल-ए-आज़म से की थी, लेकिन क्या मेरी फिल्म वैसी थी?"

    English summary
    Actor Kartik Aaryan is ready with his upcoming film Pati Patni Aur Woh. Before film release, he had a chat with media, where he talked on his films, stardom and fan following.
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X