जीवनी
शांतनु मोहित्रा एक भारतीय संगीत निर्देशक हैं। उन्होंने कई हिंदी फिल्मों का संगीत निर्देशन किया। 

पृष्ठभूमि
शांतनु मोहित्र का जन्म 22 जनवरी 1968 को उत्तरप्रदेश की राजधानी लखनऊ में हुआ था। शांतनु के पिता बंगाली संगीत परिवार से आते हैं।   हालंकि उनका बचपन राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में बिता , यंहा उन्होंने संगीत की शिक्षा अपने गुरु अर्बन फोक-सिंगर सुष्मित बोस से ली। 

पढ़ाई
शांतनु ने अपनी प्रारम्भिक पढ़ाई दिल्ली के पूसा रोड स्थित स्प्रिंग डेल स्कूल से की। शांतनु का रुझान संगीत में बचपन से ही था, इस कारण वह अपने स्कूल बैंड  में भी बतौर गायक और लीडर थे। शांतनु ने अपनी स्नातक की पढ़ाई दिल्ली यूनिवर्सिटी के देशबन्धु कॉलेज कालका जी से की है।  

करियर 
शांतनु मोहित्रा ने अपने करियर की शुरुआत क्लाइंट सर्विसिंग एजेंट के तौर पर एड एजेंसी से की थी। जंहा मोहित्रा ऐड की जिंगल्स को कंपोज़ करते थे।  जब एक बार ऐड कंपनी के क्रिएटिव हेड ने मोहित्रा से अंकल चिप्स ब्रांड के लिए आखिरी मिनट पर एक ऐड जिंगल तैयार करने को कहा।  तब उन्होंने जल्दी से यह जिंगल बनाया 'बोल मेरे चिप्स ई लव अंकल चिप्स' जो बच्चों के बीच काफी लोकप्रिय हुआ था। 

फ़िल्मी करियर
 फ़िल्मी दुनिया में किस्मत आजमाने के मोहित्रा 2002 में मुंबई शिफ्ट हो गए।  उन्होंने कई इंडी-पॉप एल्बम में अपना संगीत दिया, जिनमे प्रमुख थी, मन के सावन, मन के मंजीरे- महिलयोँ के सपने, और सपना देखा मेने। 

शांतनु मोहित्रा ने बॉलीवुड की कई फिल्म का संगीत निर्देशन किया लेकिन उन्हें पहचान फिल्म परनीति (2005)से मिली। आलोचकों से भी उन्हें अपने संगीत निर्देशन की तारीफ मिली।  उन्हें इसके लिए फिल्म फेयर बेस्ट म्यूजिक डायरेक्टर के लिए नोमीनेशन भी मिला।  इसी साल उन्हें नई संगीत प्रतिभा के लिए फिल्मफेयर आरडी बर्मन पुरस्कार से नवाजा गया। 
Buy Movie Tickets