जीवनी
शंकर महादेवन एक भारतीय संगीतकार और गायक हैं। शंकर महादेवन एक ट्राईओ ग्रुप है। जिसने शंकर,एहसान ,लॉय हैं। मादेवन चार बार राष्ट्रीय पुरूस्कार, तीन बार बेस्ट मेल प्लेबैक सिंगर और बेस्ट म्यूजिक डायरेक्टर के लिए अवार्ड से सम्मानित किया जा चुका है। महादेवन एक ऑनलाइन म्यूजिक अकेडमी के जरिये दुनिया भर के छात्रों को संगीत की शिक्षा प्रदं करते हैं। 

पृष्ठभूमि 
शंकर महादेवन का तमिल अय्यर परिवार में जन्म 3 मार्च 1967 को चेंबूर मुंबई में हुआ था।  महादेवन को बचपन से ही संगीत का शौक था, उन्होंने बहुत छोटी सी उम्र से भारतीय संगीत और कर्नाटिक संगीत की शिक्षा लेनी शुरू कर दी थी।  महादेवन मात्र महज पांच वर्ष की उम्र से ही वीणा बजाने लगे थे। 

पढ़ाई 
महादेवन ने अपनी शुरूआती पढ़ाई चेम्बूर के ओएलपीएस स्कूल से की।  उसके बाद उन्होंने इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग में स्नातक किया। वह हिंदी फिल्मों के अलावा तमिल, तेलुगु, मलयालम, कन्नड़, मराठी में भी गाते हैं। 

करियर 
महादेवन के करियर की शुरुआत उनकी पहली एल्बम ब्रेथलेस 1998 में हुई।  उनकी यह एल्बम काई प्रसिद्ध हुई साथ ही इस एल्बम के जरिये उन्हें हिंदी सिनेमा में पहचाना जाने लगा। उसके बाद उन्होंने अपने दो दोस्तों एहसान और लॉय के साथ मिलकर एक ट्राईओ बना लिया। मादेवन को उनका पहला नेशनल पुरुस्कार ए.आर रहमान के साथ तमिल मूवी कांदोकंदनीं-कांदोकंदनीं के लिए मिला था। 

दूरदर्शन पर स्कूल चले हम का निर्देशन महादेवन ने किया था।  वह जीटीवी म्यूजिकल रियलिटी शो सारे-गा-मा-पा चैलेंज 2009 में बतौर जज भी नजर आ चुके हैं।  इसके अलावा वह स्टार प्लस के शो म्यूजिकल महा मुकाबला में बतौर मेंटर, जज आ चुके हैं।  इसके साथ ही इस शो में उनकी टीम भी विजयी हुई थी. 

साल 2011 में महादेवन ने शंकर महादेवन ऑनलाइन अकेडमी की शुरुआत की।  इस ऑनलाइन अकेडमी के जरिये शंकर दुनिया भर के छात्रों को संगीत की शिक्षा देते हैं। 

Buy Movie Tickets