प्रियंका चोपड़ा जीवनी

    प्रियंका चोपड़ा एक भारतीय फिल्म अभिनेत्री /गायिका /निर्माता हैं। प्रियंका वर्ष 2015 से अमेरिकन सिनेमा में भी सक्रीय हैं। वर्ष 2000 में मिस वर्ल्ड का खिताब जीत चुकीं प्रियंका चोपड़ा बॉलीवुड की सबसे महंगी एक्ट्रेसेस में से एक हैं, वह अपने करियर में हिंदी सिनेमा में कई महत्वपूर्ण अवार्ड्स को अपने नाम कर चुकी हैं, जिनमे नेशनल अवार्ड्स और पांच कैटेगरी में फिल्मफेयर अवार्ड्स शामिल हैं। वर्ष 2016 में भारत सरकार ने प्रियंका चोपड़ा को पद्मश्री से सम्मनित किया, साथ ही टाइम मैगजीन पत्रिका ने उन्हें दुनिया के 100 सबसे प्रभावशाली लोगों में से एक नाम दिया। फोर्ब्स ने उन्हें 2017 में दुनिया की 100 सबसे शक्तिशाली महिलाओं में सूचीबद्ध किया।

    निजी जीवन 
    प्रियंका चोपड़ा का जन्म 18 जुलाई 1982 को जमशेदपुर, बिहार(वर्तमान में झारखंड) में अशोक चोपड़ा और मधु चोपड़ा के घर में हुआ था। प्रियंका के माता पिता आर्मी में डॉक्टर के पद पर कार्य कर चुके हैं। प्रियंका चोपड़ा के एक छोटा भाई है- सिद्धार्थ चोपड़ा है। प्रियंका की कजिन बहनें परणीती चोपड़ा, मीरा चोपड़ा और मन्नारा चोपड़ा भी बॉलीवुड में सक्रिय हैं। माता-पिता की नौकरी के कारण प्रियंका अमूमन भारत के हर हिस्से में रहीं, जिसमे दिल्ली, चंडीगढ़, लद्दाख, लखनऊ,बरेली और पुणे शामिल है। 

    देखें प्रियंका की अनदेखी खूबसूरत तस्वीरें 

    शादी

    प्रियंका चौपड़ा ने हॉलीवुड में अपने सफर के दौरान अमेरिकी सिंगर और अभिनेता निक जोनस को डेट करना शुरु कर दिया। दोनों ने अगस्‍त 2018 में अपनी इंगेजमेंट करने के बाद दिसंबर 2018 में जोधपुर के उम्‍मैद भवन में हिंदू और क्रिश्‍चन समारोहों में शादी की।

    पढ़ाई 
    प्रियंका ने अपनी पढ़ाई लखनऊ के लामर्ट्स स्कूल और बरेली के सैंट मारिया गोरेटी कॉलेज, से पूरी की। प्रियंका ने अपने एक इंटरव्यू में बताया उन्हें स्कूल बदलने में कभी कोई दिक्कत नहीं हुई, वह इसे एक चैलेंज और एक्सपेरिमेंट के तौर पर लेती थीं। प्रियंका चोपड़ा ने अपना बचपन लेह लद्दाख की खूबसूरत वादियों में भी बिताया है।

    13 वर्ष  की उम्र में प्रियंका अपनी आंटी के साथ आगे की पढ़ाई के लिए यूनाइटेड स्टेट गयीं। यूएस में पढ़ाई के दौरान वह कई बार कथित तौर पर रंगभेद का शिकार हुईं। प्रियंका के स्कूल में एक ऐसी लड़की थी जो उन्हें अकसर धमकाती रहती थी। इतना ही नहीं, पढ़ाई के दौरान सांवले रंग के कारण प्रियंका के ऊपर मजाक करके कई क्लामेट हंसते भी थे।

    तीन साल के बाद प्रियंका वापस भारत लौट आयीं,और फिर उन्होंने अपने पढ़ाई  बरेली के आर्मी स्कूल से पूरी की। इस दौरान उन्होंने स्थानीय "में क्वीन" सौंदर्य पृष्ठक जीता, इस दौरान प्रियंका को उनके चाहने वालों ने उन्हें काफी घेरने और परेशान करने की कोशिश की, जिसके बाद उन्होंने खुद को घर में बंद करना ही उचित समझा। इसके बाद प्रियंका की मां ने, प्रियंका की कुछ तस्वीरें फेमिना मिस इंडिया वर्ल्ड के लिए भेज दी, और वह कुछ इस तरह मिस वर्ल्ड का हिस्सा बनीं और विश्व सुन्दरी 2000 का खिताब भी अपने नाम करने में कामयाब रहीं। प्रियंका को 30 नवंबर 2000 को लंदन के मिलेनियम डोम में मिस वर्ल्ड 2000 और मिस वर्ल्ड कॉन्टिनेंटल क्वीन ऑफ़ ब्यूटी-एशिया एंड ओशिनिया का ताज पहनाया गया। प्रियंका मिस वर्ल्ड जीतने वाली पांचवी भारतीय प्रतियोगी थीं, और चौथे साल ऐसा करने के लिए चौथे स्थान पर रहीं। प्रतियोगिता जीतने से पहले उन्होंने कॉलेज में दाखिला लिया, लेकिन बाद में प्रतियोगिता जीतने के बाद उन्होंने फिल्मी दुनिया से ऑफर आने लगे तो, उन्होंने सिनेमा में अपना करियर बनाने का प्लान किया। 

    हिंदी सिनेमा में अच्छा नाम कमाने के बाद प्रियंका का रिश्ता अपने परिवार से कमजोर नहीं हुआ, प्रियंका अपने पिता के बेहद करीब थी, प्रियंका के पिता की मृत्यु वर्ष 2013 जून में कैंसर से हो गयी थी। वर्ष 2012 में ही प्रियंका ने अपने पिता की हैण्ड राइटिंग में "डैडी लिल गर्ल' का टैटू कराया था। फिल्मी दुनिया में अपना मुकाम बनाने के बाद प्रियंका खुद को सेल्फ मेड स्टार कहती हैं। प्रियंका की मां मधु चोपड़ा बरेली में प्रतिष्ठित स्त्री रोग विशेषज्ञ थीं, लेकिन बेटी को उसके करियर में सपोर्ट करने के लिए उन्होंने अपना करियर छोड़ दिया।

    एक्टिंग करियर
    मिस इंडिया वर्ल्ड जीतने के बाद प्रियंका चोपड़ा को पहली बार अब्बास मस्तान की रोमांटिक थ्रिलर फिल्म हमराज के लिए अप्रोच किया गया था, लेकिन किसी वजह से वह इस फिल्म का हिस्सा ना बन सकी।  उसके बाद एक्टिंग की दुनिया में कदम प्रियंका ने तमिल फिल्म थमिजहन से रखा , इस फिल्म में प्रियंका के अपोजिट विजय नजर आये थे। फिल्म में प्रियंका का किरदार काफी लिमिटेड था। 

    हिंदी सिनेमा में प्रियंका ने डेब्यू वर्ष 2003 में फिल्म द हीरो: लव स्टोरी ऑफ़ अ स्पाई से की थी, इस फिल्म में प्रियंका ने सेकंड लीड एक्ट्रेस की भूमिका अदा की थी, फिल्म में सन्नी देओल, प्रीति जिंटा ,अमरीश पुरी और प्रियंका चोपड़ा मुख्य किरदार में थे। उस साल यह फिल्म बॉक्स-ऑफिस पर ब्लाक-बस्टर हिट साबित हुई थी और फिल्म में प्रियंका के किरदार को भी मिला-जुला क्रिटिक्स ने सराहा था।  इसी साल प्रियंका राज कंवर की फिल्म अंदाज में अक्षय कुमार के अपोजिट दिखाई दी थी, एकबार फिर वह इस फिल्म में सेकंड लीड एक्ट्रेस की भूमिका में थी। फिल्म में अक्षय प्रियंका चोपड़ा के अलावा लारा दत्ता भी नजर आयीं थी। फिल्म में उनके अभिनय को काफी सरहाया गया था, जिसके लिए उन्हें फिल्मफेयर अवार्ड में बेस्ट स्पोर्टिंग एक्ट्रेस के लिए नामांकन भी मिला था। 

    वर्ष 2004 में प्रियंका की बैक टू बैक तीन फ़िल्में रिलीज हुई- प्लान,किस्मत और असम्भव और तीनों ही फिल्म बॉक्स-ऑफिस पर बुरी तरह फ्लॉप साबित हुई।  शुरुआत फिल्मी करियर में प्रियंका को फिल्मों में ग्लैमर रोल ऑफर किये जाते थे। कुछ समय बाद डेविड धवन ने प्रियंका को एक कॉमेडी फिल्म 'मुझसे शादी करोगी' के लिए अप्रोच किया, इस फिल्म में प्रियंका सलमान खान के अपोजिट नजर आयीं थी। यह फिल्म कमर्शियल काफी हिट रही और साल की तीसरी सुपरहिट फिल्म भी साबित हुई। 

    इसके बाद प्रियंका को अब्बास-मस्तान की ऐतराज में एक नकरात्मक भूमिका करने का ऑफ़र मिला। इस फिल्म में प्रियंका ने सोनिया कपूर की भूमिका निभाई थी, जो अपने इम्प्लोयी पर  सेक्सुअल हैरेसमेंट का आरोप लगाती है। फिल्म हिट रही और प्रियंका को उन्हें किरदार के लिए काफी तारीफ़ मिली, इस फिल्म में अक्षय कुमार ,करीना कपूर और प्रियंका चोपड़ा मुख्य भूमिका में थे। इस फिल्म में प्रियंका को फिल्मफेयर अवार्ड्स में नेगेटिव रोल के लिए अवार्ड्स से भी नवाजा गया था, चोपड़ा को सर्वश्रेष्ठ सहायक अभिनेत्री के लिए फिल्मफेयर अवॉर्ड के लिए नामांकन और एक सहायक भूमिका में सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री के लिए निर्माता गिल्ड फिल्म पुरस्कार से भी नवाजा गया।

    जब ऊंचाई पर पहुंचा करियर 
    वर्ष 2005 में प्रियंका ने करीबन 6 फ़िल्में की, जिनमे उनकी पहली दो फ़िल्में 'ब्लैकमेल और करम' बॉक्स-ऑफिस पर औंधे मुंह गिरी। हालांकि फिल्म वक्त: द रेस अगेंस्ट द टाइम प्रियंका के लिए इस साल भाग्यशाली साबित रही, यह फिल्म एक फैमली ड्रामा थी, फिल्म में प्रियंका ने अक्षय कुमार की पत्नी की भूमिका निभाई थी, फिल्म में अमिताभ बच्चन भी नजर आये थे। इसके बाद प्रियंका फिल्म यकीन और बरसात ब्लफमास्टर में दिखाई दी, यह सभी फ़िल्में हिट साबित हुई। 

    2007 
    वर्ष 2007 में प्रियंका निखिल अडवाणी निर्देशित फिल्म सलाम-ए-इश्क में नजर आई, इस फिल्म में प्रियंका एक बार फिर सलमान खान के अपोजिट नजर आयीं। फिल्म में उन्होंने कामिनी की भूमिका अदा की थी। इसके बाद प्रियंका वर्ष 2008 में फिल्म लव स्टोरी 2050 में हर्मन बावेजा के अपोजिट दिखाई दी, यह फिल्म बुरी तरह फ्लॉप साबित हुई। इसके बाद एक बार फिर सिल्वरस्क्रीन पर प्रियंका चोपड़ा सलमान खान के साथ फिल्म गॉड तुस्सी ग्रेट में नजर आयीं। फिल्म में सलमान खान के अलावा सोहेल खान और अमिताभ बच्चन भी मुख्य भूमिका में थे। लेकिन यह फिल्म भी कुछ खास बॉक्स-ऑफिस पर अपना दम ना दिखा सकी। इसके बाद प्रियंका फिल्म चमकू और द्रोणा में नजर आयीं और दोनों ही फ़िल्में ही बुरी तरह बॉक्स-ऑफिस पर पिट गयी। लगातार फ़िल्में फ्लॉप के चलते क्रिटिक्स ने प्रियंका के एक्टिंग करियर को ओवर तक कह डाला था। 

    प्रियंका के एक्टिंग करियर में फैशन एक टर्निंग पॉइंट साबित हुई। मधुर भंडारकर निर्देशित फिल्म फैशन में प्रियंका ने मेघना की भूमिका अदा की थी, जो एक छोटे शहर से मुंबई में अपने सपनों को पंख लगाने आती है। फिल्म में प्रियंका की एक्टिंग हर जगह खूब वाहवाही हुई। इस फिल्म के प्रियंका ने सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री के लिए राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार, सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री के लिए फिल्मफेयर अवॉर्ड, सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री के लिए आईआईएफए अवॉर्ड, सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री के लिए स्क्रीन अवॉर्ड और सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री के लिए निर्माता गिल्ड फिल्म अवॉर्ड सहित कई पुरस्कार जीते।  

    इसके बाद प्रियंका तरुण मनसुखानी की रोमांटिक कॉमेडी फिल्म दोस्ताना में अक्षय कुमार और जॉन अब्राहम के अपोजिट नजर आयीं।   फिल्म में प्रियंका ने एक स्टाइलिश फैशन मैगजीन एडिटर की भूमिका निभाई थी।  फिल्म में प्रियंका की एक्टिंग की काफी तारीफ हुई थी।  

     

    2009
    वर्ष 2009 में प्रियंका ने अपने रोल्स के साथ खेलना शुरू किया, या यूं कहे कुछ नया करना शुरू किया।   विशाल भारद्वाज निर्देशित थ्रिलर फिल्म कमीने में प्रियंका शाहिद कपूर के अपोजिट नजर आयीं, फिल्म दो भाइयों की कहानी की है जिनके तार अंडरवर्ल्ड से जुड़े होते हैं।   फिल्म में प्रियंका की एक्टिंग ने सबको हैरान कर दिया फिल्म में प्रियंका मराठी भी बोलती हुई नजर आती है।  फैशन के बाद प्रियंका को इस फिल्म के लिए भी कई अवार्ड्स में नामांकन मिला.जन्मे आइफा अवार्ड्स, गिल्ड आदि शामिल हैं।  

    इसके बाद प्रियंका आशुतोष गोविरकर की फिल्म व्हाट्स योर राशि में नजर आयीं, इस फिल्म में प्रियंका ने राशियों के हिसाब से बारह अलग अलग किरदार निभाए।   फिल्म में बेहतरीन एक्टिंग के लिए प्रियंका को स्क्रीन बेस्ट एक्ट्रेस के लिए नॉमिनेशन मिला। 

    वर्ष 2010 में प्रियंका जुगल हंसराज निर्देशित फिल्म प्यार इम्पॉसिबल में नजर आयीं।  इस फिल्म में प्रियंका के अपोजिट उदय चोपड़ा दिखाई दिए थे, लेकिन फिल्म कुछ ख़ास नहीं चली और फ्लॉप साबित हो गयी।  उसके बाद प्रियंका फिल्म अअंजाना-अनजानी में रणबीर कपूर के अपोजिट नजर आयीं, फिल्म की कहानी दो अजनबी लोगो की है, जिसमे दोनों की सुसाइड करने की कोशिश करते, लेकिन धीरे-धीरे दोनों को एक दूसरे से प्यार हो जाता है।   फिल्म बॉक्स-ऑफिस पर ठीक-ठाक कमाई करने में सफल रही थी।  

    वर्ष 2010 में प्रियंका जुगल हंसराज निर्देशित फिल्म प्यार इम्पॉसिबल में नजर आयीं।  इस फिल्म में प्रियंका के अपोजिट उदय चोपड़ा दिखाई दिए थे, लेकिन फिल्म कुछ ख़ास नहीं चली और फ्लॉप साबित हो गयी।  उसके बाद प्रियंका फिल्म अअंजाना-अनजानी में रणबीर कपूर के अपोजिट नजर आयीं, फिल्म की कहानी दो अजनबी लोगो की है, जिसमे दोनों की सुसाइड करने की कोशिश करते, लेकिन धीरे-धीरे दोनों को एक दूसरे से प्यार हो जाता है।   फिल्म बॉक्स-ऑफिस पर ठीक-ठाक कमाई करने में सफल रही थी।  

    वर्ष 2011 में प्रियंका ने फिल्म सात खून माफ़ की, रस्किन बांड की किताब पर आधारित होती हैं। फिल्म में प्रियंका चोपड़ा, नील नितिन मुकेश, जॉन अब्राहम, इरफान, नसीरुद्दीन शाह, अन्नू कपूर मुख्य भूमिका में थे। इस फिल्म में बेहतरीन एक्टिंग के लिए प्रियंका को बेहद सराहा गया, चोपड़ा के प्रदर्शन ने उन्हें सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री के लिए फिल्मफेयर आलोचकों का पुरस्कार और फिल्मफेयर अवॉर्ड, आईआईएफए अवॉर्ड, प्रोड्यूसर गिल्ड फिल्म अवॉर्ड और सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री के लिए स्क्रीन अवॉर्ड के लिए नामांकन दिया। इसके बाद प्रियंका फिल्म डॉन में नजर आयीं, फिल्म में उनकी दमदार एक्टिंग ने एकबार फिर क्रिटिक्स को उनकी तारीफ करने पर मजबूर कर दिया। 

    फिल्म फैशन के बाद प्रियंका ने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा,  उन्होंने अपनी सभी फिल्मों में 100 प्रतिशत दिया, जिसके लिए उन्हें कई बेहतरीन पुरुस्कारों से नवाजा गया। प्रियंका ने अपने करियर में कई बेहतरीन फिल्मों में काम किया जिनमे कमीने (2009), 7 खून माफ (2011), बर्फी (2011), मैरी कॉम (2014), और बाजीराव मस्तानी (2015), डॉन 2 (2011) आदि फ़िल्में बॉक्स ऑफिस पर सफल साबित हुई। 

     

    अमेरिकन फिल्म-टेलीविजन 
    वर्ष 2015 में प्रियंका ने जोया अख्तर की फिल्म दिल धड़कने दो की, यह फिल्म एक फैमिली ड्रामा थी, फिल्म में रणवीर सिंह, अनिल कपूर ,शेफाली शाह,अनुष्का शर्मा और फरहान अख्तर नजर आये थे। फिल्म एक पंजाबी परिवार की है, जो अपनी 30 वीं शादी की सालगिरह क्रूज पर मानाने पहुंचते हैं। इस फिल्म में प्रियंका की एक्टिंग ने उन्हें एक एकबार फिर कई अवार्ड्स में नॉमिनेशन दिलाया।

    इस साल प्रियंका ने एबीसी स्टूडियो में अमेरिकन थ्रिलर शो क्वांटिको को साइन किया, इस शो में प्रियंका ने एलेक्स पैरिश की भूमिका निभाई। इस शो के लिए  प्रियंका को टीवी श्रृंखला में पसंदीदा अभिनेत्री के लिए पीपुल्स चॉइस अवार्ड मिला, जो पीपुल्स चॉइस अवॉर्ड जीतने वाली पहली दक्षिण एशियाई अभिनेत्री बनीं।  अगले वर्ष, चोपड़ा ने पसंदीदा नाटकीय टीवी अभिनेत्री के लिए दूसरा पीपल्स चॉइस अवॉर्ड जीता।  2018 में तीन सत्रों के बाद क्वांटिको रद्द कर दिया गया था।

     

    म्यूजिक करियर 
    प्रियंका चोपड़ा एक्टिंग के अलावा म्यूजिक में भी बेहद दिलचस्पी रखती हैं। प्रियंका की पहली रिकॉर्डिंग उनकी पहली थामिजहन के लिए थी। प्रियंका को सिंगिंग की दुनिया में पहचान इन माय सिटी से मिली, इसके बाद एक्सोइटिक और आई कांट मेक यू लव मी शामिल हैं।

     

    अवार्ड्स
    प्रियंका को उनका पहला सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री नेशनल अवार्ड फिल्म फैशन के लिए वर्ष 2008 में मिला, इसके बाद प्रियंका की झोली में पांच फिल्मफेयर आवर्ड भी शामिल हैं। प्रियंका को पहला फिल्मफेयर अवार्ड फिल्म अंदाज के लिए सर्वश्रेष्ठ महिला डेब्यू के लिया मिला, दूसरा अवार्ड उन्हें फिल्म ऐतराज में नकारात्मक भूमिका में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन के लिए मिला, फैशन-सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री, क्रिटिक बेस्ट एक्ट्रेस-सात खून माफ़ , सहायक सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री बाजीराव मस्तानी के लिए।

    इसके अलावा प्रियंका  क्वांटिको के लिए, दो पीपल्स चॉइस अवॉर्ड्स भी जीत चुकी हैं, प्रियंका पीपुल्स चॉइस अवॉर्ड जीतने वाली वह पहली दक्षिण एशियाई अभिनेत्री हैं। 2016 में, उन्हें कला में उनके योगदान के लिए भारत सरकार द्वारा चौथे सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार पद्मश्री से सम्मानित किया गया था। 


     
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X