काजोल जीवनी

    काजोल देवगन मुखर्जी एक बॉलीवुड अभिनेत्री हैं। काजोल नब्बे की दशक की बेहतरीन अभिनेत्रियों में से एक हैं। फिल्म जगत में वह काजोल नाम से जानी जाती हैं। उन्होंने बॉलीवुड की कई बेहतरीन फिल्मों में अभिनय किया है। काजोल अब तक के अपने फिल्मी सफर में 6 फिल्मफेयर अवार्ड अपने नाम कर चुकीं हैं। काजोल ने कई सारी लघु फिल्मों में भी अभिनय कर चुकी हैं।  
       
    पृष्ठभूमि 
    काजोल का जन्म 5 अगस्त 1974 को महारष्ट्र के मुंबई में हुआ। वह एक फ़िल्मी परिवार से ताल्लुकात रखतीं हैं। काजोल दिवंगत निर्माता-निर्देशक सोमू मुखर्जी और पूर्व अभिनेत्री तनुजा की बेटी हैं। काजोल की एक बहन हैं जिसका ना तनीषा मुखर्जी वह भी अभिनय की दुनिया में सक्रिय हैं। काजोल दिवंगत एक्ट्रेस नूतन की भांजी भी हैं। इतना ही नहीं काजोल के नाना-नानी भी भारतीय सिनेमा का हिस्सा रहे हैं। काजोल का पूरा पैतृक परिवार परिवार भी बॉलीवुड का एक अभिन्न हिस्सा रहा है। उनके पिता के भाई जॉय और देब मुखर्जी भारतीय फिल्म निर्माता थे, तो वंही उनके दादाजी एक फ़िल्मकार थे। उनके चचेरे भाई-बहनों में रानी मुखर्जी, शर्बानी मुखर्जी और मोहनीश बहल शामिल हैं, जो कि फिल्म जगत में सक्रिय हैं। उनके चचेरे भाई अयान मुखर्जी बॉलीवुड के प्रसिद्ध निर्देशक हैं। 

    शादी
    काजोल की शादी अभिनेता अजय देवगन से 24 फ़रवरी 1999 को  हुई थी। जिस समय काजोल की शादी हुई थी उस समय वह बॉलीवुड की लीडिंग एक्ट्रेसेस में शुमार थीं। आलोचकों ने काजोल के शादी के फैसले को गलत ठहराया था, आलोचकों का कहना था कि शादी के बाद काजोल का करियर पूरी तरह खत्म हो जायेगा पर ऐसा नहीं हुआ। काजोल ने फिल्मों में काम करना जारी रखा। शादी के बाद उनकी फिल्म कभी ख़ुशी कभी गम ब्लॉकबस्टर हिट हुई। काजोल के दो बच्चे हैं- न्यासा देवगन, युग देवगन। 


     
    करियर
    काजोल ने अपने फ़िल्मी करियर की शुरुआत महज़ 16 साल की उम्र में ही कर दी थी। उनकी पहली बॉलीवुड डेब्यू फिल्म बेखुदी थी। हालंकि फिल्म तो कुछ खास नहीं चली थी। लेकिन आलोचकों को उनका अभिनय बेहद पसंद आया। इसी के चलते उनके पास फिल्मों की लाइन लग गयी। उसके बाद 1993 में काजोल अब्बास मस्तान की फिल्म बाजीगर में नज़र आई। इस फिल्म में उनके साथ शाहरुख़ खान और शिल्पा शेट्टी भी थे। काजोल की यह फिल्‍म बॉक्‍स ऑफिस पर हिट साबित हुई।  और फिल्म में लोगों को शाहरुख़-काजोल की जोड़ी बेहद पसंद भी अयी थी। 

    साल 1995 में काजोल की दो फ़िल्में करण-अर्जुन और दिलवाले दुल्हनिया ले जायेंगे बैक टू बैक हिट हुईं। फिल्म दिलवाले दुल्हनिया ले जायेंगे के लिए काजोल को फिल्म फेयर के बेस्ट एक्ट्रेस अवार्ड से सम्मानित किया गया था। 
    काजोल ने अपने बॉलीवुड करियर में कई बेहतरीन फ़िल्में की उसी में शामिल है गुप्त।  फिल्म गुप्त में काजोल एक नकारत्मक किरदार में नज़र आयीं थीं। और उनके किरदार को लोगों ने बेहद पसंद किया। इतना ही नही उन्हें इस फिल्म के लिये फिल्म फेयर के बेस्ट इन नेगेटिव रोल अवार्ड से भी सम्मनित किया गया।  

    साल 2001 में फिल्म कभी ख़ुशी कभी गम के बाद काजोल ने फ़िल्मी दुनिया से एक लंबा ब्रेक लिया। इस दौरान उन्होंने एक बेटी को जन्म दिया। साल 2006 में एक बार फिर काजोल ने फिल्म फना से अपनी धमाकेदार वापसी की। फिल्म फना में काजोल एक अंधी लड़की की भूमिका में नज़र आयी थीं जिसे कश्मीरी आतंकवादी से प्यार हो गया था। इस फिल्म में उनके अपोजिट आमिर खान नज़र आये थे। फिल्म सुपरहिट हुई और साथ ही एक और फिल्म फेयर आवर्ड फॉर बेस्ट एक्ट्रेस काजोल की झोली में आ गिरा।  

     
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X