जीवनी
कैलाश खेर एक भारतीय पॉप-रॉक गायक है जिनकी शैली भारतीय लोक संगीत से प्रभावित है। कैलाश खेर ने अबतक 18 भाषाओं में गाने गाया है और 300 से अधिक गीत बॉलीवुड में गाये है।

प्रष्ठभूमि 
कैलाश खेर का जन्म कश्मीरी पंडित परिवार में मेरठ उत्तर-प्रदेश में हुआ था। 

पढाई 
कैलाश खेर ने अपनी शुरुआती पढाई दिल्ली से पूरी की है।कैलाश को बचपन से ही गाने का शौक था, जब वह महज बारह वर्ष के थे, तभी से उन्होंने शास्त्रीय संगीत की शिक्षा लेनी आरम्भ कर दी थी, उन्होंने संगीत में अपना करियर बनाने के 
लिए पाकिस्तानी सूफी गायक नुसरत फ़तेह अली खान से प्रेरणा मिली।

शादी 
कैलाश खेर की शादी शीतल खेर से सम्पन्न हुई है।

करियर 
कैलाश खेर को अपनी शुरुआती बॉलीवुड करियर में बेहद संघर्ष करना पड़ना। उन्हें हिंदी सिनेमा में पहचान अक्षय कुमार और प्रियंका चोपड़ा स्टारर फिल्म अंदाज से मिली। इस फिल्म में उन्होंने गाने 'रब्बा इश्क ना होवे' में आवाज दी,
जो उस दौर का सबसे सुपरहिट और चार्टबस्टर गाना साबित हुआ था। इसके बाद उन्होंने फिल्म वैसा भी होता है में 'अल्ला के बंदे हम ' गाने में आवाज दी , जो उनका अबतक का सबसे प्रसिद्ध और हिट सोंग है।  इन दोनों हिट गानों के कैलाश 
बॉलीवुड के मशहूर गायकों की फेहरिस्त में शामिल हो गये। 

कैलाश खेर हिंदी सिनेमा में सूफी गानों के लिए जाने जाते हैं। मल्टीस्टारर फिल्म सलामे इश्क में उन्होंने या रब्बा गाने में अपनी आवाज दी। यह गाना उस दौर का सबसे हित गाना साबित हुआ था। उनकी गायकी का परचम सिर्फ हिंदी सिनेमा में 
ही नहीं बल्कि कन्नड़ और तेलुगु सिनेमा में भी लहरा रहा है।

Buy Movie Tickets
 

रहें फिल्म इंडस्ट्री की हर खबर से अपडेट और पाएं मूवी रिव्यूज - Filmibeat Hindi