जीवनी
जॉन प्रकाश राव उर्फ़ जॉनी लीवर एक भारतीय कॉमेडियन अभिनेता हैं। वह हिंदी सिनेमा में अपनी कॉमिक टाइमिंग के लिए प्रसिद्ध हैं। जॉनी लीवर भारत के पहले स्टैंड कॉमेडियन हैं।  उन्हें अब तक 13 बार फिल्मफेयर अवार्ड से सम्मानित किया जा चुका है। जॉनी बॉलीवुड में अब तक साढ़े तीन सौं से अधिक फिल्मों में काम कर चुके हैं। 

पृष्ठभूमि 
जॉन लीवर का जन्म आंध्र प्रदेश के प्रकाशम जिले मे सन 14 अगस्त 1956 में हुआ था। जॉनी लीवर हिन्दी फिल्म के एक प्रसिद्ध हास्य अभिनेता है।लीवर के पिता प्रकाश राव जनमूला हिंदुस्तान लीवर फैक्ट्री में काम करते थे। जॉनी लीवर का बचपन मुंबई के धारवी इलाके बिता। वह अपने घर में तीन बहनों और दो भाईयोँ में सबसे बड़े हैं।   जॉनी लीवर का जन्म एक बेहद ही गरीब परिवार में हुआ था। घर में बड़े होने के कारण घर की स्थिति को समझते हुए जॉनी भी अपने पिता के साथ हिन्दुस्तान लीवर फैक्ट्री में काम करने लगे।  इसी दौरान उन्हें अपनी कॉमेडी प्रतिभा को निखारने का मौका मिला।  वह खाली समय में अपने को-वर्करस को अपनी कॉमेडी से हँसाते थे।  जिस कारण से उनका नाम जॉनी लीवर पड़ गया। जिसके बाद उन्होंने अपना यह नाम जारी रखा। 

पढ़ाई 
जॉनी ने अपनी शुरूआती पढ़ाई आंध्र एजुकेशन सोसाइटी हाईस्कूल से की। उनके घर की आर्थिक स्थिति अच्छी ना होने कारण जॉनी सिर्फ सातवीं तक शिक्षा ग्रहण कर सके। उसके बाद घर के जीवन-यापन के लिए उन्होंने काम करना शुरू कर दिया। 

शादी
जॉनी लीवर की शादी सुजाता से हुई है।  उनके एक बेटा और एक बेटी है।  बेटी जैमी जोकि एक स्टैंड-अप कमेडियन है। बेटे का नाम जेस है। 

करियर 
जॉनी लीवर को फिल्म स्टारों की मिमिक्री करने में महारत हासिल थी। उनकी इसी खासियत ने उन्हें स्टेज शो करने का मौका दिया। ऐसे ही एक स्टेज शो में सुनील दत्त की उनपर नज़र पड़ी। उन्होने जॉनी लीवर को फिल्म ‘दर्द का रिश्ता’ में पहला ब्रेक मिला और आज यह सिलसिला 350 से अधिक फिल्मों तक पहुंच गया है। ‘दर्द का रिश्ता’के बाद वह ‘जलवा’ में नसीरुद्दीन शाह के साथ देखे गए, लेकिन उनकी पहली बडी सफलता ‘बाजीगर’ के साथ शुरू हुई। उसके बाद वह लगभग एक सहायक अभिनेता के रूप में हर फिल्म में हास्य अभिनेता के रोल में देखे गए। उनकी पहली फीचर फिल्म कभी तमिल ‘अनब्रिक्कु अल्लाविल्लाई’ है। 

टीवी करियर 
जॉनी लिवर सिर्फ बड़े पर्दे पर ही नहीं छोटे पर्दे भी अपने कॉमेडी के जलवे दिखा चुके हैं। जॉनी सीने एंड टीवी आर्टिस्ट एसोसिएशन के प्रेसिडेंट हैं।  इसके अलावा वह मिमक्री आर्टिस्ट एसोसिएशन मुंबई के भी अध्यक्ष हैं।   

प्रसिद्ध फ़िल्में 
बाज़ीगर,बादशाह, तेजाब , सूर्य ,इलाका, काला बाजार ,बंद दरवाजा, किशन कन्हैया, हमला, चमत्कार, इंसानियत का देवता, रूप की रानी रानी-चोरों का राजा, मस्ती ,कानून, अंजाम ,मै खिलाडी तू अनाड़ी , डर ,इंडियन, सपूत ,बारूद, कुछ कुछ होता है, सिर्फ तुम ,बादशाह , हेलो ब्रदर ,क्रोध, करन अर्जुन, 36 चाइना टाउन, अजनबी, यस बॉस, नायक : द रियल हीरो, फिर हेरा फेरी,फिर भी दिल है हिंदुस्तानी, फर्ज, आशिक ,चुपके-चुपके, राजा हिन्दुस्तानी, कोई ... मिल गया। 
Buy Movie Tickets
स्पॉटलाइट में फिल्में