Tap to Read ➤

प्रभास - पूजा हेगड़े की राधे श्याम का Quick Review

पढ़िए प्रभास और पूजा हेगड़े स्टारर राधे श्याम का एक फटाफट सी समीक्षा और तय करिए क्यों देखें और क्यों ना देखें ये बेहद खूबसूरत फिल्म।
फिल्म एक ज्योतिष विक्रमादित्य की कहानी है जो हाथ की लकीरें पढ़कर भविष्य बता देता है। विक्रम को डॉ. प्रेरणा से प्यार हो जाता है।
फिल्म अपने गीत और रोमांस से एक परीकथा बनाने की कोशिश करती है और फिल्म के गाने इसमें पूरा साथ देते हैं।
पूजा हेगड़े और प्रभास इस फिल्म की जान है लेकिन फिल्म की आत्मा यानि कि कहानी बेहद ढीली है। और इस वजह से फिल्म लंबी और बोझिल लगने लगती है।
फिल्म के लिए प्रभास की फीस
फिल्म का हर फ्रेम बेहद खूबसूरती से बनाया गया है और एकदम परफेक्ट है। जैसे किसी पेंटिंग से निकलकर सामने रख दिया गया हो।
फिल्म के पहले हाफ में बेहद सुंदर लोकेशन, प्रभास और पूजा का रोमांस और शानदार म्यूज़िक इसे एक भव्य और काल्पनिक सी खूबसूरत दुनिया बनाती है।
फिल्म का दूसरा हाफ प्यार और किस्मत के बीच एक द्वंद्व शुरू कर देती है और यहीं से कहानी दर्शकों से छूटने लग जाती है। सबसे बड़ी दिक्कत ये है कि फिल्म आपको कभी खींचती नहीं है।
फिल्म साइंस और विश्वास के बीच एक धुरी की तरह बनाई गई है। इस चक्कर में फिल्म में कई सीन हैं जो आम दर्शकों की समझ से ऊपर हैं और इन्हें ढंग से समझाया भी नहीं गया है।
प्रभास और पूजा एक अच्छी रोमांटिक केमिस्ट्री के लिए मेहनत करते दिखते हैं लेकिन उनका संघर्ष एक कमज़ोर कहानी के चलते साफ दिखाई देता है। दोनों की लव स्टोरी दर्शकों को बांध नहीं पाती है।
फिल्म का VFX शानदार है और फिल्म को देखने योग्य और भव्य कोशिश बनाता है। 350 करोड़ के बजट पर बनी ये फिल्म परदे पर आपको किसी मायावी दुनिया की तरह लगती है।
कुल मिलाकर, प्रभास - पूजा हेगड़े की इस फिल्म में कहानी नहीं है लेकिन अगर कुछ है तो वो है सुंदर दृश्य, हर एक फ्रेम में। तो उसके लिए आप ये फिल्म ज़रूर देख सकते हैं।