Tap to Read ➤

जर्सी फिल्म रिव्यू- दमदार अभिनय से दिलों में शतक लगाते हैं शाहिद कपूर

गौतम तिन्ननुरी के निर्देशन में बनी फिल्म जर्सी में शाहिद कपूर और मृणाल ठाकुर मुख्य किरदारों में हैं। फिल्म 22 अप्रैल को सिनेमाघरों में आएगी। यहां पढ़ें जर्सी की पूरी समीक्षा।
ये फिल्म नानी-स्टारर जर्सी (तेलुगु) की यह आधिकारिक हिंदी रीमेक है।
मैदान से दूर अपने जीवन से निराश, पूर्व रणजी क्रिकेट खिलाड़ी अर्जुन तलवार (शाहिद कपूर) 36 साल की उम्र में खेल में वापस लौटने का फैसला करता है।
वह अपनी पत्नी विद्या (मृणाल ठाकुर) की नजरों में अपनी योग्यता साबित करना चाहता है और बेटे (रोनित कामरा) की नजरों में हीरो बने रहना चाहता है।
क्या 10 साल के अंतराल के बाद वह क्रिकेट की दुनिया में वापसी करने में सफल हो पाएगा? इसी के इर्द गिर्द घूमती है कहानी।
शाहिद कपूर जर्सी में प्रभावशाली लगे हैं। अपने किरदार के द्वारा शाहिद निराशा, हताशा, गुस्सा, दुख, शर्म, जीत.. सभी भाव बेहतरीन दिखाते हैं।
वहीं, विद्या के किरदार में मृणाल ठाकुर सटीक लगी हैं। पंकज कपूर (कोच) के साथ शाहिद के कुछ बेहतरीन सीन्स हैं।
जर्सी एक स्पोर्ट्स ड्रामा है, लेकिन यहां खेल से जुड़े थ्रिल आपको नहीं मिलेंगे। यदि आप क्रिकेट के रोमांचक पलों की उम्मीद कर रहे हैं, तो आप शायद थोड़ा निराश हो सकते हैं।
जर्सी क्रिकेट से ज्यादा रिश्तों के भावनात्मक पक्ष पर जोर देती है। ये पिता और बेटे की कहानी है.. एक पति और पत्नी की कहानी है.. एक वृद्ध कोच और एक खिलाड़ी की कहानी है।