For Quick Alerts
    ALLOW NOTIFICATIONS  
    For Daily Alerts

    अभय 3 REVIEW: विलेन बन हीरो की तरह छा गए विजय राज, कुणाल खेमू दमदार

    |
    Rating:
    2.5/5

    सीरीज- अभय 3( जी5)

    कलाकार- विजय राज, कुणाल खेमु,तनुज विरवानी, दिव्या अग्रवाल, आशा नेगी और निधि सिंह, राहुल देव

    निर्देशक- केन घोष
    ओटीटी- जी5

    स्पेशल टास्क फोर्स के अफसर अभय प्रताप सिंह इस बार ऐसी गुत्थी को सुलझा रहे हैं जहां पर मोक्ष के नाम लगातार खून हो रहे हैं। इसके पीछे की वजह क्या है यह पूरी फोर्स की सोच से परे है। अभय प्रताप सिंह एक बार फिर से अपनी बुद्धिमानी का परिचय देते हैं। केन घोष द्वारा निर्देशित 8 एपिसोड की यह सीरीज कई बार डार्क क्राइम फिल्म की तरह दिखाई पड़ती है। इस बार की कहानी पिछले दो सीजन की तरह ही हत्या के साथ अभय प्रताप सिंह के अतीत की घुटन को भी दिखाती हुई नजर आएगी।

    सीजन 3 में अभय प्रताप एक लोकप्रिय शक्तिशाली नेता के खिलाफ सामूहिक हत्या के मामले के साथ एक ऐसे हत्यारे का पता लगाने की कोशिश में है जो कि मोक्ष और आत्मा के नाम पर कई लोगों का खून करता है या फिर उनकी खुद के हाथों ही हत्या करवाता है। इस पूरे केस के दौरान कई सारे सस्पेंस आपको शो के दौरान बांधे रखेंगे तो वहीं अत्यधिक हिंसा वाले सीन आपको आंख भी बंद करने पर मजबूर करेंगे।

    Abhay 3,

    खूनी को पकड़ने के दौरान खुद अभय प्रताप सिंह बड़े जाल में फंस कर कैसे निकलता है यह कहानी को रोचक बनाता है लेकिन प्रभावी नहीं। हालांकि एपिसोड के दौरान विजय राज और अभय प्रताप सिंह के कई ऐसे सीन हैं जो खींचे हुए से दिखाई देते हैं। अभिनय की बात की जाए तो इस दफा अभय प्रताप सिंह यानी कि कुणाल खेमू से अधिक विजय राज अभय 3 की हाईलाइट बने हुए हैं। एक मानसिक रोगी खूंखार विलेन की भूमिका में विजय राज को स्क्रीन पर देखना कहानी में दहशत लेकर आते हैं। कुणाल खेमू फिर प्रभावी दिखते हैं।

    तनुज विरवानी, दिव्या अग्रवाल, आशा नेगी और निधि सिंह अपने किरदारों के साथ इंसाफ करते हैं। खास तौर पर आशा नेगी, राहुल देव और दिव्या अग्रवाल प्रभावी दिखाई दिए हैं जिनके आने से कहानी में उठाव आता है। दिव्या अग्रवाल और तनुज विरवानी वाले भाग को कम जगह में खत्म कर दिया गया है जो कि अफसोस देता है। केन घोष के निर्देशन में बीते दो सीजन की झलक दिखती है। ऐसा लगता है कि नए पन की तलाश अभय 3 में केन घोष नहीं कर पाए। हथौड़ी का इस्तेमाल, खून पीना जैसे प्रयोग अभय 1 और अभय 2 में भी किया गया है। डायलॅाग और एक्टरों की लंबी फौज ने अभय 3 की कहानी को संभाला है। खासकर विजय राज ने। बाकी पुर्नजन्म और हत्यारे के दिमागी हालत से जु़ड़ी चीजों पर पिछले सीजन के कंटेंट में बात किया गया है।

    क्यों देखें- विजय राज लंबे समय बाद स्क्रीन पर अपनी एक्टिंग का लोहा मनवा रहे हैं। साथ ही अगर आप थ्रिलर, मर्डर मिस्ट्री जैसी फिल्में देखना पसंद करते हैं तो अभय 3 देख सकते हैं। फिल्मीबीट की तरफ से 2.5 की रेटिंग। बाकी आप खुद देखिए और तय कीजिए ।

    English summary
    Zee 5 Abhay season 3 Review Vijay Raj Best performance Kunal Kemmu impressive, Here read in details
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X