»   » ये है मोहब्बतें...जब खिचड़ी में स्वाद ना आए...तो थोड़ा मसाला डालिए!

ये है मोहब्बतें...जब खिचड़ी में स्वाद ना आए...तो थोड़ा मसाला डालिए!

Written By: Shweta
Subscribe to Filmibeat Hindi

ये जवानी है दीवानी में रणबीर कपूर एक डायलॉग बोलते हैं - शादी इज़ दाल चावल फॉर पचाल साल टिल यू डाई। यानि कि शादी का मतलब है कि जब तक मर नहीं जाते रोज़ दाल चावल खाओ।

ऐसा ही कुछ आजकल स्टार प्लस के सीरियल ये है मोहब्बतें में हो रहा है। वैसे भी ये सीरियल लीप पर लीप लेकर खिचड़ी बन चुका था और अब इस खिचड़ी पर लगाया गया है थोड़ा मसाला!

ऐसा लग रहा है सीरियल वही स्टोरी पर चल रहा है जब शगुन बदला लेना चाहती थी और आदि बिगड़ैल था। अंतर बस इतना है कि अब आदि की जगह रूही ने ले ली है।

पीहू को मीहिका हार वाली आंटी का सच बताना चाहती है कि वो और रमन शादी कर चुके हैं और वो इशिता की बेटी है लेकिन इतनी छोटी सी पीहू के इतना कुछ एक फोटो देखकर कैसे पता चल जाएगा ये तो समझ से परे है।

[जानिए पिछले एपिसोड में हुआ था क्या धमाका!]

इधर रमन भी मणी को अच्छा खासा सुना देता है और मणी तो कुछ नहीं बोलता लेकिन इशिता रमन को सुना देती है। इशिता आदि को भी समझाने की कोशिश करती है कि क्या सही है और क्या गलत है।

फिलहाल क्या कुछ हो रहा है ये है मोहब्बतें में आगे की स्लाइड्स पर जानिए आप भी।

मार के बाद पीहू का सहारा

मार के बाद पीहू का सहारा

आदि को रमन से तो अच्छी खासी पिटाई हो जाती है लेकिन उसके बाद पीहू सेट पर अपने फेवरिट रूहान से मिलने आ जाती है।आदि उसे समझा बुझाकर वापस भेज देता है।

सूरज का प्लान

सूरज का प्लान

सूरज इधर चाहता है किसी तरह मीहिका घर में इशिता की जगह ले ले और इसके बाद वो शगुन के साथ समय बिताना चाहता है।

इशिता की होशियारी

इशिता की होशियारी

इशिता आदि को समझाती है कि उसने जो भी किया वो गलत है क्योंकि इससे हेल्थ पर भी बुरा असर पड़ सकता था और आदि का बस यही कहना है कि वो इशी मां को वापस लाना चाहता है।

फिर से रमन की डांट

फिर से रमन की डांट

आदि की बात रमन सुन लेता है और उसे फिर से डांट पड़ती है और रमन बोलता है कि इशिता वापस घर नहीं आ सकती क्योंकि मरे हुए लोग वापस नहीं आते।

रमन ने फिर सुनाया

रमन ने फिर सुनाया

रमन ने एक बार फिर इशिता की आंड़ में मणी को खूब सुनाता है और इशिता रमन को डांटती है।

क्या करेगी इशिता

क्या करेगी इशिता

इशिता आगे प्लान करती है है कि शायद उसे अकेले रहना चाहिए।इधर आलिया को इशिता को बर्ताव अच्छा नहीं लगता और वो इशिता को घर चलने कहती है।इशिता जाकर एक घर के लिए एक जगह बात भी कर लेती है और घर रमन की सोसाइटी में होता है।

पीहू ने देखी तस्वीर

पीहू ने देखी तस्वीर

मीहिका के प्लान के अनुसार नीलू रमन-इशिता की तस्वीर बाहर रख देती है और पीहू उसे देख भी लेती है।उसे शक हो जाता है कि पापा ने हार वाली आंटी से शादी तो नहीं की थी।हालांकि बाद में दादाजी उसे समझा बुझाकर भेज देते है।

आलिया का गुस्सा

आलिया का गुस्सा

अब ये तो आपको भी पता है कि आलिया रमन और इशिता को एक साथ नहीं बल्कि मणी और इशिता को एक साथ देखना चाहती है।आलिया इशिता पर काफी गुस्सा भी होती है लेकिन मणी उसे अंदर भेज देता है।

प्यार और दोस्ती

प्यार और दोस्ती

मणी से इशिता हमेशा की तरह दोस्ती की दुहाई देती है और कहती है कि वो एक दोस्त के तौर पर मदद करें ना कि वो मणी जो इशिता से प्यार करता है।

आगे..

आगे..

आगे इशिता उसी सोसाइटी में शिफ्ट करना चाहेगी जहां पहले से भल्ला और अय्यर परिवार रहता है।इशिता और रमन के झगड़े अभी और भी चलने वाले हैं तो इसके लिए तो आप तैयार हो ही जाइए।

Please Wait while comments are loading...